कोरोना से जंग: Paytm दर्जनभर से ज्‍यादा शहरों में लगाएगा ऑक्सीजन प्लांट, Samsung देगा 50 लाख डॉलर की मदद

Paytm Foundation और Samsung कोरोना संकट के बीच भारत की मदद को आगे आई हैं.

Paytm Foundation और Samsung कोरोना संकट के बीच भारत की मदद को आगे आई हैं.

डिजिटल पेमेंट सर्विस उपलब्‍ध कराने वाली कंपनी पेटीएम (Paytm) ने ऐलान किया है कि कोरोना वायरस के कारण बने मौजूदा हालात को देखते हुए कंपनी देश के 12-13 शहरों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plants) लगाएगी. वहीं, सैमसंग ने कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में आर्थिक सहयोग (Financial Support) की घोषणा की है.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना वायरस (Corona Crisis) के लाखों मामलों हर दिन सामने आने का सिलसिला जारी है. ऐसे में कारपोरेट हाउसेस, समाजसेवी, बॉलीवुड और अलग-अलग देशों के लोग व संस्‍थाएं भारत की ओर मदद का हाथ बढ़ा रही हैं. इसी कड़ी में डिजिटल फाइनेंशियल सर्विसेस प्लेटफॉर्म पेटीएम के पेटीएम फाउंडेशन (Paytm Foundation) ने देश के 12-13 शहरों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plants) लगाने का ऐलान किया है. इससे कोविड-19 की दूसरी लहर से जूझते अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी. ये ऑक्सीजन प्लांट सीधे अस्पतालों में लगाए जाएंगे, जिससे पूरे अस्पताल के ऑक्सीजन की जरूरत पूरी होगी.

पेटीएम राज्‍य सरकारों और अस्‍पतालों को उपलब्‍ध कराएगी ऑक्‍सीजन

पेटीएम फाउंडेशन ने इसके अलावा 21,000 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर जुटाए हैं, जिनको सरकारी अस्पतालों, कोविड केयर फेसिलिटी, प्राइवेट अस्पतालों, नर्सिंग होम और रेसीडेंट वेलफेयर एसोसिएशन (Resident Welfare Associations) को दिया जाएगा. कंपनी ने हाल में 'ऑक्‍सीजन फॉर इंडिया' (Oxygen ForIndia) के तहत देश से 10 करोड़ रुपये जुटाए हैं. इसमें फाउंडेशन ने अपनी तरफ से भी 10 करोड़ रुपये का योगदान किया है. कंपनी राज्य सरकारों और अस्पतालों से ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए बातचीत के दौर में है. इसके लिए मंजूरी मिलते ही सरकारी अस्पतालों को ये ऑक्सीजन प्लांट मुफ्त में उपलब्ध कराए जाएंगे.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: गोल्‍ड में तेजी का सिलसिला जारी, चांदी फिर पहुंच गई 70 हजार के पार, फटाफट देखें नए भाव
सैमसंग उत्‍तर प्रदेश और तमिलनाडु को देगी 30 लाख डॉलर की मदद

सैमसंग ने भारत की कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में योगदान के लिए केंद्र सरकार और राज्‍य सरकारों को 50 लाख डॉलर यानी 37 करोड़ रुपये की सहायता देने व अस्‍पतालों के लिए आवश्‍यक चिकित्‍सा उपकरणों के साथ हेल्‍थकेयर सेक्टर को समर्थन देने की घोषणा की है. सैमसंग केंद्र सरकार के साथ ही उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु को 30 लाख डॉलर की मदद देगी. इसके अलावा हेल्‍थकेयर सिस्‍टम की मदद के लिए 20 लाख डॉलर की चिकित्‍सा सामग्री उपलब्‍ध कराएगी. इसमें 100 ऑक्‍सीजन कंसनट्रेटर्स, 3000 ऑक्‍सीजन सिलेंडर्स और 10 लाख एलडीसी सिरिंज शामिल हैं. ये सामग्री उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु राज्‍य को उपलब्‍ध कराई जाएगी.

ये भी पढ़ें- इंडियन इकोनॉमी को झटका! Goldman Sachs ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भारत के आर्थिक वृद्धि अनुमान को घटाया



अपने 50 हजार कर्मचारियों के वैक्‍सीनेशन का खर्च उठाएगी सैमसंग

एलडीएस या लो डेड स्‍पेस सिरिंज इंजेक्‍शन के बाद डिवाइस में बचने वाली दवा की मात्रा को न्‍यूनतम बनाती है, जिससे वैक्‍सीन का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित होता है. मौजूदा सिरिंज में उपयोग के बाद बहुत अधिक मात्रा में दवा रह जाती है और बर्बाद होती है. नई टेक्‍नोलॉजी ने 20 प्रतिशत तक अधिक दक्षता का प्रदर्शन किया है. यदि मौजूदा सिरिंज से 10 लाख खुराक दिए जाते हैं तो एलडीएस सिरिंज वैक्‍सीन की समान मात्रा के साथ 12 लाख खुराक दे सकती है. सैमसंग ने इन सिरिंज के मैन्‍युफैक्‍चरर्स को उत्‍पादन बढ़ाने के लिए मदद दी है. इसके अलावा, अपनी नागरिक पहल के हिस्‍से के रूप में सैमसंग भारत में अपने 50,000 से अधिक पात्र कर्मचारियों और लाभार्थियों के वैक्‍सीनेशन का खर्च उठाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज