लाइव टीवी

ऑनलाइन फ्रॉड होने पर तुरंत उठाएं ये कदम, नहीं तो मिनटों में साफ हो सकती है आपके मेहनत की कमाई

News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 5:56 AM IST
ऑनलाइन फ्रॉड होने पर तुरंत उठाएं ये कदम, नहीं तो मिनटों में साफ हो सकती है आपके मेहनत की कमाई
ऑनलाइन फ्रॉड

ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) सहूलियत के साथ फ्रॉड के मामले बढ़ते जा रहे हैं. ऐसे में एक ग्राहक के तौर पर इन नियमों की जानकारी होनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 5:56 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पिछले कुछ सालों में इंटरनेट बैंकिंग (Internet Banking) ने आम लोगों की जिंदगी को आसान बना दिया है. अब कोई भी घर बैठे ही अपने बैंकिंग (Banking Services) से जुड़े काम को निपटा ​लेता है. इसके लिए उन्हें बैंक जाकर लंबी लाइनों में घंटों समय बर्बाद नहीं करना पड़ता. हालांकि, इन सहूलियतों के साथ ही बैंक ग्राहक के तौर पर आपको सावधान रहना चाहिए. आज के समय में ऑनलाइन बैंकिंग (Online Banking) को लेकर कई समस्याएं भी तेजी से बढ़ रही हैं. ऐसे में एक ग्राहक के तौर पर आपके लिए जरूरी है कि आप सतर्क और सावधान रहें, नहीं तो मिनटों में आपकी मेहनत की कमाई पर कोई हाथ साफ कर सकता है.

ऑनलाइन फ्रॉड (Banking Fraud) के मामलों से बचने के लिए देश के सबसे बड़े बैंक ने अपने आधिकारिक साइट पर लिखा है कि ग्राहकों को किसी बैंक के नाम पर किसी भी ई-मेल और SMS को लेकर हमेशा सतर्क रहना चाहिए. SBI ने अपने वेबसाइट पर लिखा है, 'SBI, अन्य वित्तीय संस्थान और कोई भी क्रेडिट कार्ड कंपनी ई—मेल के जरिए ग्राहकों की जानकारी को कंफर्म नहीं करते.' ग्राहकों को उन्हीं नंबर के जरिए अपने बैंक से संपर्क करना चाहिए, जो उन्हें किसी क्रेडिबल सोर्स मिला हो.

ये भी पढ़ें: माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नडेला का है ₹305 करोड़ का सैलरी पैकेज, इतना मिला इंक्रीमेंट


ऑनलाइन फ्रॉड होने के तुरंत बाद आपको ये कदम उठाने चाहिए

>> जब आपको पता चले कि आपके बैंक अकाउंट (Bank Account ) संबंधी जानकारी का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है तो इसकी सूचना पुलिस को दर्ज करानी चाहिए.

>> अपने बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी (Credit Card Companies) को कॉल कर अकाउंट या कार्ड ब्लॉक करने को बोलें.
Loading...

>> बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी को आपके साथ हुए फ्रॉड के बारे में जानकारी दें. आप उनसे फ्रॉड अलर्ट सेटअप करने के बारे रिक्वेस्ट कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें: लगातार हो रहे घोटालों पर RBI Governer से सवाल, 2018 के पहले क्यों सामने नहीं आए फाइनेंशियल फ्रॉड

>> साथ ही, कोशिश करें कि किसी डिजिटल प्वाइंट से अपना पासवर्ड बदल दें, ताकि निकट भविष्य में गलत बैंक अकाउंट या क्रेडिट कार्ड का गलत इस्तेमाल न किया जा सके.

>> फ्रॉड को लेकर शिकायत के दौरान आपके पास पिछले छह माह का स्टेटमेंट, फ्रॉड से संबंधित एसएमएस या ई—मेल की कॉपी भी होना चाहिए.

>> रिजर्व बैंक ​के नियमों के मुताबिक, स्कैमिंग या फिशिंग के जरिए होने वाले फ्रॉड के मामले के बारे में बैंक को तीन दिन के अंदर खबर देना चाहिए. ऐसे करने पर आपका कोई नुकसान नहीं होगा. अगर फ्रॉड होने के 7 दिनों के अंदर आप ​सूचित करते हैं तो भी इस मामले में आपकी देनदारी ​सीमित रहेगी.

>> RBI के नियमों के मुताबिक, अगर आपने बैंक को इस तरह के किसी फ्रॉड की जानकारी समय से दे दी तो बैंक को 10 दिन के अंदर आपकी रकम आपको बैंक अकाउंट में डाल देनी चाहिए. इस मामले से जुड़े विवाद को निपटारा भी 90 दिनों में हो जाना चाहिए.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 5:56 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...