नौकरी लगते ही जरूर खरीदें हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, बीमारी में नहीं खर्च करना पड़ेगा मोटा पैसा

News18Hindi
Updated: September 4, 2019, 11:34 AM IST
नौकरी लगते ही जरूर खरीदें हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी, बीमारी में नहीं खर्च करना पड़ेगा मोटा पैसा
बचता है इनकम टैक्स

बीमारी (Disease) कब किसको पकड़ लें इस बात अंदाज़ा किसी को नहीं होता. आजकल के दौर में जैसे बीमारियां भी बढ़ रही है. आइए आपको बताते हैं हेल्थ इंश्योरेंस (Health Insurance) लेने के फायदों के बारे में..

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2019, 11:34 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: बीमारी कब किसको पकड़ लें इस बात अंदाज़ा किसी को नहीं होता. आजकल के दौर में जैसे बीमारियां भी बढ़ रही हैं. इसीलिए जरूरी है कि हम पहले से अपने फ्यूचर को सिक्योर (Future Secure) करें. इलाज कराना आजकल काफी महंगा हो गया है. अच्छी बचत होने के बावजूद महंगे ट्रीटमेन्ट (Medical Treatment) लेना आसान खेल नहीं है. यही वजह है की ज्यादातर लोग अब हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी (Health Insurance Policy) लेने लगे हैं. आइए आपको बताते हैं हेल्थ इंश्योरेंस लेने के फायदों के बारे में..

सबसे पहले जानें क्या है हेल्थ इंश्योरेंस?
हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी आपके और बीमा कंपनी के बीच का एक करार है. इसमें आप एक प्रीमियम चुकाते हैं और उसके बदले बीमा कंपनी आपको किसी बीमारी की स्थिति में पहले से तय रकम के अनुसार इलाज का खर्च देती है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली मेट्रो की नई सर्विस, 10 रुपए में घूम सकेंगे आसपास

हेल्थ इंश्योरेंस के फायदे
1. कम उम्र में कम प्रीमियम
अगर आप युवा हैं और शारीरिक रूप से फिट हैं तो आपको बहुत मामूली प्रीमियम पर हेल्थ पॉलिसी मिल जाएगा. जब आपकी उम्र बढ़ती है तो स्वास्थ्य बिगड़ने का खतरा बना रहता है, उस हिसाब से हेल्थ पॉलिसी का प्रीमियम भी बढ़ता रहता है.
Loading...

2. कोई वेटिंग पीरियड नहीं
अधिकतर हेल्थ पॉलिसी में वेटिंग पीरियड होता है. मतलब आप हेल्थ पॉलिसी खरीदने के बाद कुछ दिनों तक होने वाली बीमारी के इलाज के लिए रकम पाने का दावा नहीं कर सकते. आम तौर पर वेटिंग पीरियड 30 दिनों का होता है. अगर आपने युवावस्था में ही हेल्थ पॉलिसी ले ली तो आपको वेटिंग पीरियड की औपचारिकता पूरी करने की जरूरत नहीं रह जाएगी. जब आपको हेल्थ पॉलिसी में इलाज के लिए रकम क्लेम करने की जरूरत पड़ेगी, तब तक आपकी यह अवधि पूरी हो चुकी होगी.

ये भी पढ़ें: SBI ग्राहकों को देगी ये नई सर्विस, फ्री मिलेगा 2 लाख का बीमा

3. बचता है इनकम टैक्स
हेल्थ पॉलिसी का प्रीमियम चुकाने पर आपको Income Tax कानून के सेक्शन 80D के तहत 25000 रुपये के प्रीमियम पर इनकम टैक्स बचाने में मदद मिलती है.

पॉलिसी चुनने से पहले इन चीजों का रखें ख्याल
वास्तव में आज के दौर में हेल्थ पॉलिसी बाकी चीजों की तरह ही जरूरी है. अगर आप वित्तीय योजना बनाने के लिए किसी एडवाइजर के पास जाते हैं तो वे आपको सबसे पहले जीवन और स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी खरीदने की सलाह देते हैं. यह वित्तीय लक्ष्य के हिसाब से की गयी आपकी बचत को छुए बिना आपकी बीमारी के इलाज में मदद पहुंचाता है. हेल्थ पॉलिसी आंखें बंद कर ना चुनें. सभी विकल्पों पर ध्यान दें, प्रीमियम की तुलना करें और अपने लिए बेहतर हेल्थ पॉलिसी चुनें.

ये भी पढ़ें: रेल टिकट बुक करने के बाद भी ऐसे बदल सकते हैं सफर की तारीख

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 10:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...