सोने की ज्वैलरी खरीदने पर आपको तीन साल बाद मिलता है फायदा! जानिए अपने गहनों से जुड़ी 10 राज़ की बातें

सोने की ज्वैलरी खरीदना तो सबको पसंद आता है, लेकिन इसके मुनाफे के बारे में शायद ही आप जानते हों. आइए जानें इससे जुड़ी एक्सपर्ट्स की राय

News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 6:48 AM IST
News18Hindi
Updated: August 11, 2019, 6:48 AM IST
सोने की ज्वैलरी खरीदना हम भारतीयों की कमजोरी है. भारत में सोन पहनना आम लोगों को बहुत पसंद आता है, लेकिन इसके मुनाफे (Profit) के बारे में शायद ही कोई जानता है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि आमतौर पर हमारी आदत होती है, फिजिकल गोल्ड (Gold) यानी कि गहने या सिक्के (Gold Coins) खरीदते हैं क्योंकि उससे उन्हें गोल्ड का एहसास होता है. इसे पहनने के लिए तो इस्तेमाल किया ही जाता है, इसे धन की तरह ही देखा जाता है इसलिए इस नजरिए से देखें तो पेपर गोल्ड (Paper Gold) आपको ये संतुष्टि नहीं दे सकता क्योंकि यह एक बेसिक डॉक्यूमेंट होगा जिसकी कीमत गोल्ड के बराबर होगी. लेकिन अगर खरीद की बात करें तो फिजिकल गोल्ड और बनवाने का चार्ज आपको कहीं महंगा पड़ सकता है.

आइए जानें कैसे मिलेगा सोने की ज्वैलरी खरीदने पर फायदा...

(1) गहने तीन साल बाद होते हैं आपके लिए फायदेमंद- आनंद राठी प्राइवेट वेल्थ के डिप्टी सीईओ फिरोज अजीज का कहना है कि सोने की ज्वैलरी खरीदने का फायदा तीन साल के बाद मिलना शुरू होता है, क्योंकि इसके मैकिंग चार्जेस के रूप में बड़ी रकम देनी पड़ती है.

(2) एक्सपर्ट्स बताते हैं कि आप इंपॉर्टेंट गोल्ड खरीदते हैं मेकिंग चार्ज के अलावा आपको इंपोर्ट प्राइस पर भी 10 फीसदी जीएसटी देना होगा. साथ में ज्वैलरी में लगने वाले गोल्ड पर तीन फीसदी जीएसटी देना होगा और मेकिंग चार्ज पर पांच फीसदी जीएसटी देना होगा.

ये भी पढ़ें- सोने पर दीवानी हुई दुनिया! आप भी बना सकते हैं पैसा

(3) सोने के गहने खरीदते वक्त रखें इन बातों का ख्याल- अगर आप गहने खरीदने की तैयारी में है तो आपको कुछ बातों का ख्याल रखना होगा ताकि आपको कोई ठग न सकें. मतलब साफ है कि अगर आपसे कोई कहता हैं कि वो आपको 24 कैरेट गोल्ड के गहने बेच रहा है. तो ये सरासर गलत है. क्योंकि 24 कैरेट गोल्ड से गहने नहीं बनते है. यह सोने का शुद्ध रूप है और ये बेहद मुलायम होता है इससे गहने बनाए ही नहीं जा सकते है.

40 साल में सोने ने दिया मोटा रिटर्न (फाइल फोटो)

Loading...

(4) हमेशा गहने बनाने में 22 कैरेट सोने का इस्तेमाल किया जाता है. गहना मजबूत और टिकाऊ बने इसके लिए इसमें चांदी, ज़िंक, तांबा या कैडमियम मिलाया जाता है.आपको कितने कैरेट का सोना लेना है, ये पहले से तय कर लें. क्योंकि कैरेट के साथ सोने के गहनों की गुणवत्ता और कीमत में अंतर आता है. यानी जितने अधिक कैरेट का सोना उतना महंगा. सोना खरीदते समय उसकी क्वालिटी पर ज़रूर गौर करें.

(6) अच्छा हो कि हॉलमार्क देखकर ही सोना ख़रीदें. हॉलमार्क एक तरह की सरकारी गारंटी है और इसे देश की एकमात्र एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड यानी बीआईएस करती है. इसका फायदा ये है कि जब आप इसे बेचने जाएंगे तो किसी तरह की डेप्रिसिएशन कॉस्ट नहीं काटी जाएगी यानी आपको मिलेगा सोने का खरा दाम.

गोल्ड बॉन्ड खरीदने के फायदे (फाइल फोटो)


गोल्ड बॉन्ड खरीदने पर आप रहते हैं टेंशन फ्री, जानिए कैसे

(6) अगर आप सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड खरीदते हैं तो आपको किसी भी तरह का कोई टैक्स नहीं देना होगा. सोना रखना रिस्की भी है. आपका फिजिकल गोल्ड चोरी हो सकता है, खो सकता है लेकिन गोल्ड बॉन्ड में ऐसा कोई खतरा नहीं है.

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान में हाहाकार! भारत से दोगुने दाम पर बिक रहा है Gold

(7) यहां तक कि गोल्ड बॉन्ड पर भारत सरकार की ओर से सॉवरेन गारंटी भी रहती है इसलिए अगर आपके बॉन्ड को किसी तरह का नुकसान पहुंचता है तो सरकार उस पर बाजार की मौजूदा कीमत के आधार पर ही रिडेंप्शन देगी.

(8) अपने पास रखें तो खोने या चोरी होने का डर, बैंक में रखें तो उसे सेफ रखने के लिए अलग से कीमत चुकाना. अगर आप सोना घर पर न रखकर बैंक लॉकर में रखते हैं तो उसके लिए आपको लॉकर का हर महीने चार्ज देना होगा.



(9) आपको सोना रखने के लिए एक तयशुदा अमाउंट का फिक्स डिपॉजिट भी कराना होगा क्योंकि फिक्स्ड डिपॉजिट कराए बगैर कोई भी बैंक आपको लॉकर उधार नहीं देगा. वहीं, आपको अपने गोल्ड आइटम पर इंश्योरेंस भी लेना पड़ेगा. लेकिन आपको सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के साथ इतना तामझाम करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. गोल्ड बॉन्ड पर तो सरकार खुद 2.5 फीसदी की दर से इंटरेस्ट देती है.

(10) गोल्ड बॉन्ड खरीदने में फायदा यह भी है कि अगर आप अपना गोल्ड आइटम यानी कि फिजिकल गोल्ड फ्यूचर में कभी बेचते हैं तो आपको उसका मैन्युफैक्चरिंग चार्ज नहीं मिलेगा लेकिन आपके सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर आपको मार्केट रेट के हिसाब से पूरी वैल्यू मिलेगी इसलिए अगर सोने के सुनहरेपन के एहसास को छोड़ दिया जाए तो सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड आपके लिए काफी सुविधाजनक और फायदेमंद हो सकता है.
First published: August 11, 2019, 6:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...