Fastag पर मिलने जा रही बड़ी सुविधा, पेट्रोल-डीजल भरवाने से लेकर पार्किंग में भी होगा इस्तेमाल

फास्टैग को पार्किंग पेमेंट के रूप में इस्तेमाल करने के लिए हैदराबाद, बेंगलुरु एयरपोर्ट में पॉयलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया

फास्टैग को पार्किंग पेमेंट के रूप में इस्तेमाल करने के लिए हैदराबाद, बेंगलुरु एयरपोर्ट में पॉयलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया

फास्टैग (Fastag) का सिर्फ टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर डिजिटल पेमेंट के साथ ही दूसरी कई सर्विस में इस्तेमाल किया जा सकेगा. इसके जरिए आप पेट्रोल-डीजल-सीएनजी भी भरवा सकेंगे.

  • Share this:
नई दिल्ली. टोल प्लाजा (Toll Plaza) पर टोल टैक्स के लिए फास्टैग (Fastag) अनिवार्य किया गया है. अब केंद्र सरकार फास्टैग को और ज्यादा लोकप्रिय करने के लिए इसमें नई सुविधाएं जोड़ने जा रही है. इसके जरिए आप आप पेट्रोल-डीजल-CNG भी भरवा सकेंगे. साथ ही पार्किंग में भी फास्टैग का इस्तेमाल किया जाएगा.
केंद्र सरकार फास्टैग को मल्टीपर्पज सर्विस में इस्तेमाल करने की दिशा में काम रही है. सभी तकनीकि अड़चनों को सुलझाने के बाद ही ये कदम उठाया जाएगा. हिंदुस्तान अखबार की एक रिपोर्ट के मुताबिक, सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले साल कोरोना काल में टोल टैक्स पर दो गज की दूरी बनाए रखने और कॉन्टैक्टलेस पेमेंट में Fastag कारगर साबित हुआ है. 15 फरवरी से सभी टोल प्लाजा की सभी लेन को फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है.
यह भी पढ़ें : आप भी इस कंपनी के हैं यूजर्स तो सतर्क रहें, चीन कर सकता है साइबर अटैक

हैदराबाद, बेंगलुरु एयरपोर्ट में शुरू किया गया था पॉयलट प्रोजेक्ट
फास्टैग को पार्किंग पेमेंट के रूप में इस्तेमाल करने के लिए हैदराबाद, बेंगलुरु एयरपोर्ट में पॉयलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया था. इसकी सफलता के बाद अगले चरण में दिल्ली एयरपोर्ट और कनॉट प्लेस पर फास्टैग से पार्किंग फीस भुगतान करने की सर्विस शुरू की जाएगी. सूत्रों के मुताबिक इसी तरह इसके अगले चरण में इसे मुंबई, कोलकाता, चेन्नई सहित देश के कई दूसरे शहरों में आगे बढ़ाया जाएगा.
यह भी पढ़ें : इस स्टार्टअप्स से बाहर निकल रहे हैं रतन टाटा, यह मिलेगा फायदा



फास्टैग में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक की मदद लेगी सरकार
सूत्र ने यह भी बताया कि आगे चलकर Fastag से गाड़ियों में पेट्रोल, डीजिल और CNG भरवाने की सुविधा भी शुरू की जाएगी. इसमें भी सरकार के फास्टैग में रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन (RFID) तकनीक की मदद ली जाएगी. इसी के जरिए अभी टोल प्लाजा पर भुगतान किया जाता है.
यह भी पढ़ें : इंश्योरेंस के नियमों में हुआ बदलाव, आप भी इन बड़ी सुविधाओं को ले सकेंगे फायदा

टोल प्लाजा पर गाड़ियों का वेटिंग टाइम जीरो
अखबार के मुताबिक, इस अधिकारी ने ये भी बताया कि देशभर में 770 टोल प्लाजा हैं और 80 फीसदी टोल पर वाहन बिना रुके फास्टैग की मदद से टैक्स देकर निकल जा जा रहे हैं. इसका मतलब ये हुआ कि टोल प्लाजा पर गाड़ियों का वेटिंग टाइम जीरो है. उन्होंने आगे बताया कि बाकी बचे टोल प्लाजा पर 150 सेकेंड के अंदर वाहन टैक्स का भुगतान कर रहे हैं. इसके अलावा जिन हाइवे पर ट्रैफिक ज्यादा है, वहां फास्टैग लेन बढ़ाई जाएंगी, ताकी वहां भी टोल भुगतान करने में एक मिनट से ज्यादा का समय न लगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज