पहली तिमाही में बेस्ट एग्रोलाइफ के शानदार नतीजे, रेवेन्यू 77% बढ़ा

पहली तिमाही में बेस्ट एग्रोलाइफ के शानदार नतीजे, रेवेन्यू 77% बढ़ा
एग्रोलाइफ प्रोडक्ट (Best Agrolife Ltd)

भारत का एग्रो केमिकल मार्केट करीब 3 बिलियन डॉलर का है कि और कंपनी का लक्ष्य 2022 तकर 2 हजार करोड़ रेवेन्यू हासिल करने का है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2020, 11:06 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एग्रोकेमिकल सेक्टर की लीडिंग ग्लोबल कंपनी 'बेस्ट एग्रोलाइफ' ने वित्तीय वर्ष 2020 की पहली तिमाही में शानदारी नतीजे पेश किए हैं. कृषि सेक्टर में बढ़ती डिमांड के चलते कपंनी का रेवेन्यू 30 जून, 2020 को समाप्त पहली तिमाही में 77 प्रतिशत बढ़ा है. आपको बता दें कि बेस्ट एग्रोलाइफ लिमिटेड, वैश्विक स्तर पर एग्रो कैमिकल्स के सेक्टर की अग्रणी कम्पनी है और सबसे बड़ी एग्रो-इनपुट्स निर्माता है. नतीजों को लेकर कंपनी के प्रबंध निदेशक विमल कुमार ने कहा कि 'हमने अपने लक्ष्यों को एकदम स्पष्ट रखा और कम्पनी इन्हीं लक्ष्यों की प्राप्ति की दिशा में काम करेगी. इसके अंतर्गत प्रमुख फोकस दीर्घकालिक ईपीएस वृद्धि को पाने का होगा'

3 बिलियन डॉलर का मार्केट
फिलहाल कम्पनी कई ब्लूचिप कोर्पोरेटर्स को पी2पी के स्तर पर सेवाएं देती है. इनमें यूपीएल लिमिटेड, जुबिलेंट, इंडो गल्फ फर्टिलाइजर्स, महिंद्रा समिट एग्रीसाइंस तथा भारत रसायन आदि शामिल हैं. कंपनी के निदेशक का कहना है कि मोदी सरकार की नीतियों के कारण एग्री सेक्टर को बढ़ावा मिल रहा है इससे केमिकल और कीटनाशकों की मांग भी बढ़ी है. भारत का एग्रो केमिकल मार्केट करीब 3 बिलियन डॉलर का है कि और कंपनी का लक्ष्य 2022 तकर 2 हजार करोड़ रेवेन्यू हासिल करने का है. फिलहाल कंपनी के दो प्लांट उत्तर प्रदेश और दो जम्मू&कश्मीर में हैं. कंपनी को उम्मीद है कि जिस तरह मोदी सरकार आत्मनिर्भर भारत अभियान को बढ़ावा दे रही है, उससे एग्री सेक्टर में बूस्ट आएगा और एग्रो कैमिकल्स तथा कीटनाशकों की मांग में वृद्धि होगी.

कैसे रहे नतीजे
कंपनी का रेवेन्यू FY2021 की पहली तिमाही में पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 204.18 से बढ़कर 363.04 करोड़ रुपए हुआ है. कंपनी का मुनाफा भी लगभग तीन गुना बढ़कर 5.46 करोड़ रुपए से बढ़कर 16.21 करोड़ रुपए रहा है. वहां ईपीएस 6.03 करोड़ से बढ़कर 6.95 करोड़ रहा है.



किसानों के लिए खास कीटनाशक
कंपनी को पिछले महीने ही भारत में DIRON कीटनाशक बनाने के लिए पहली बार * (DINOTEFURAN 20% SG) कैटेगरी के लिए लाइसेंस मिला था. कंपनी ने बताया है कि उसका ये कीटनाशक सुपर सिस्टमेटक कीटनाशक है, जो कीटों पर तेजी से काम करता है और बेहतर नतीजे देता है. यह कीटनाशक दो तरीके से काम करता है, इसे छिड़काव के जरिए या पानी के साथ भी इस्तेमाल कर सकते हैं और इसके किसानों को अच्छे नतीजे मिलेंगे. कंपनी का दावा है कि यह प्रोडक्ट एक जापानी कंपनी के मिलते-जुलते कीटनाशक का शानदार विकल्प है. कंपनी के प्रबंध निदेशक विमल कुमार ने कहा कि कंपनी ने थोड़े ही समय में देश की शीर्ष 20 कंपनियों में जगह हासिल की है और अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में भी कंपनी की उपस्थिति दर्ज हुई है. कंपनी अपने ज्यादातर प्रोडक्ट ‘बेस्ट’ ब्रॉन्ड के तहत ही बेचती है.

(पार्टनर्ड पोस्ट)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज