शादी करते वक्त रखें इन 9 बातों का ख्याल! नहीं तो पुलिस कर सकती है गिरफ्तार

मैरिज हॉल बुकिंग को लेकर NGT ने निर्देश जारी किया है.

मैरिज हॉल बुकिंग को लेकर NGT ने निर्देश जारी किया है.

शादियों का सीजन शुरू होने वाला है. अगर आप भी इस सीजन किसी बैंक्वेट, मैरिज हॉल या फार्महाउस में शादी की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना. दरअसल, हाल ही में नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (National Green Tribunal) ने एक फैसले की सुनवाई एक खास बात कही है, जिसे आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 24, 2019, 8:41 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शादियों का सीजन शुरू होने वाला है. अगर आप भी इस सीजन किसी बैंक्वेट, मैरिज हॉल या फार्महाउस में शादी की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपको कुछ बातों का ध्यान रखना. दरअसल, हाल ही में नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (National Green Tribunal) ने एक फैसले की सुनवाई एक खास बात कही है, जिसे आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए. किसी भी मैरिज हॉल, फार्महाउस या बैंक्वेट हॉल बुकिंग करने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान देना होगा. इसी संबंध में एनजीटी ने केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड को एक ड्राफ्ट तैयार करने को भी कहा है. अगर आप शादियों के मौके पर डीजे या लाउडस्पीकर्स की व्यवस्था करने की तैयारी में है तो एक बार जरूर सोच लें.

ये भी पढ़ें: बड़ी खबर! देशभर में एक ही दर पर मिलेगी बिजली, धर्मेंद्र प्रधान ने दिए संकेत

(1) रात 10 बजे के बाद डीजे और लाउडस्पीकर्स बजाने की अनुमति नहीं होगी. आउटडोर में अधिकतम आवाज की सीमा 75 डेसिबल तय की गई है.



(2)  NGT के निर्देशानुसार, ऐसे सभी जगहों पर नियमों के अनुपालन के बारे डेटा पब्लिश किए जाएंगे, जहां इस तरह का आयोजन या उत्सव किया जाता है.
(3) अगर किसी फार्महाउस में आवाज की अधिकतम सीमा को उल्लंघन किया जाता है तो दिल्ली पुलिस को कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

(4)  सूखे व गीले कूड़े अलग-अलग डस्टबिन में भी इकट्ठा करने का प्रावधान बनाया जाए.

(5)  किसी भी समारोह में आयोजित किए जाने वाले जगह के महत्वपूर्ण हिस्सों में CCTV इंस्टॉल होना अनिवार्य है. इसकी रिकॉर्डिंग बैंक्वेट हॉल, फॉमहाउस के मालिक के पास होनी चाहिए.

ये भी पढ़ें: प्याज की कीमतों में आने वाली हैं बड़ी गिरावट! इन राज्यों में पहुंचा 790 टन प्याज

(6)  मेन एंट्रेंस पर कुल गेस्ट की संख्या और पार्किंग स्पेस के बारे में जानकरी डिस्प्ले करना अनिवार्य है. फिक्स्ड पार्किंग फॉमुला तैयार कर उनका अनुपालन करना है.

(7)  पार्किंग स्पेस के अलावा या फिर रोड पर कहीं भी गाड़ियां खड़ी करने की अनुमति नहीं है.

(8)  अगर किसी भी बैंक्वेट हॉल या फॉमहाउस में इन नियमों का पालन नहीं होता है तो इनका संचालन फौरन बंद करना होगा.

(9) इसके अ​​​तिरिक्त, NGT ने सभी राज्य प्रदूषण बोर्ड को आदेश दिया है कि वो संबंधित राज्य प्राधिकारण से बात कर उपरोक्त गाइडलाइंस का पालन करें.

ये भी पढ़ें: इन चार स्टेशनों से ट्रेन पर चढ़ने-उतरने के लिए देने होंगे ज्यादा पैसे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज