होम /न्यूज /व्यवसाय /22 साल की उम्र से शुरू करें यहां पैसा लगाना, 42 साल तक बना लेंगे 5 करोड़ रुपए का फंड

22 साल की उम्र से शुरू करें यहां पैसा लगाना, 42 साल तक बना लेंगे 5 करोड़ रुपए का फंड

फोटो: गेट्टी इमेज

फोटो: गेट्टी इमेज

21-22 साल की उम्र में फ्यूचर प्‍लानिंग कर लें तो लगभग 42 साल की उम्र में वे 5 करोड़ जमा कर सकते हैं.

    भविष्य की चिंता को हर किसी को सताती है. बेहतर फ्यूचर बनाने के लिए लोग हर संभव कोशिश करते हैं. दिन-प्रतिदिन महंगाई बढ़े जा रही है शिक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य और घर से लेकर सभी जरूरत की चीजें महंगी होती जा रही हैं. लोगों की जरूरते भी समय के साथ बढ़ रही हैं, जिसको देखते हुए कम उम्र से फ्यूचर प्लानिंग करना अच्छा है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि अगर आप इस तरह बाद की जिंदगी के प्रति वे आश्‍वस्‍त हो सकते हैं.

    कम उम्र में निवेश शुरू करना जरूरी
    भविष्‍य में बड़ी रकम जुटाने के लिए सबसे जरूरी है कम उम्र में उपयुक्‍त इन्‍वेस्‍टमेंट इंस्‍ट्रूमेंट में निवेश शुरू करना. उदाहरण के लिए, अगर कोई 21-22 साल की उम्र में 20 साल की प्‍लानिंग कर लेता है और फिर अनुशासित तरीके से निवेश करता जाता है, तो कोई शक नहीं कि 42 की उम्र के करीब पहुंचने पर वह उतनी रकम जुटा लेगा, जिसकी उसने प्‍लानिंग की थी.

    ये भी पढ़ें: पोस्ट ऑफिस में खुलवाएं बेटी के लिए ये खाता, बना सकेंगे 40 लाख रुपए का फंड

    एसआईपी है अच्‍छा तरीका
    स्‍टॉक मार्केट में उतार-चढ़ाव बना रहता है. ऐसे में एसआईपी एक ऐसा तरीका है, जिससे आप तय समय में लक्षित रकम जुटाने की उम्‍मीद कर सकते हैं. म्‍यूचुअल फंड्स में लगने वाले पैसे से औसतन आप 12 से 15 फीसदी रिटर्न की उम्‍मीद आसानी से कर सकते हैं.

    रिटर्न पर निर्भर करता है निवेश
    15 फीसदी रिटर्न मिलने की स्थिति में 20 साल में 5 करोड़ रुपए जुटाने के लिए आपको हर महीने 33,000 रुपए जमा करने होंगे. वहीं अगर 12 फीसदी रिटर्न की उम्‍मीद की जाए, जो थोड़ा अधिक व्‍यावहारिक है तो आपको 20 साल में 5 करोड़ रुपए जुटाने के लिए लगभग 50,000 रुपए प्रति महीने जमा करने होंगे.

    ये भी पढ़ें: गांव में रहकर भी कर सकते हैं मोटी कमाई, इस तरह की खेती का है ट्रेंड

    दो-तीन म्‍यूचुअल फंड्स का ही करें चयन
    अक्‍सर दो से तीन म्‍यूचुअल फंड्स का चयन ही बेहतर रहता है. अपने पोर्टफोलियो को दो-तीन तक सीमित रखने से उसका मैनेजमेंट आप अच्‍छी तरह से कर सकते हैं. आप इस प्रक्रिया में फाइनेंशियल एक्‍सपर्ट की मदद से बेहतर ट्रैक रिकॉर्ड और अच्‍छा रिटर्न देने वाले स्‍मॉल कैप स्‍कीम, मिडकैप, इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर स्‍कीम्‍स आदि में निवेश कर सकते हैं.

    कम उम्र में इंश्‍योरेंस पॉलिसी
    21-22 की उम्र में इंश्‍योरेंस पॉलिसी लेना सबसे अच्‍छा रहता है, क्‍योंकि इस उम्र में आपको काफी कम प्रीमियम देना होता है. इसके अलावा, आप कम प्रीमियम पर अधिक रकम की पॉलिसी ले सकते हैं. उदाहरण के लिए 30 की उम्र में अगर 5 लाख रुपए की पॉलिसी के लिए आप 15 हजार रुपए सालाना देते हैं तो 21-22 की उम्र में 7-8 हजार रुपए या उससे भी कम में इतने की पॉलिसी आ सकती है. इन सबके अलावा, कंपनियों के लिए भी आपको अधिक रकम का इंश्‍योरेंस देना आसान और सुरक्षित होता है.

    ये भी पढ़ें: Alert! UIDAI ने जारी की चेतावनी, अब नहीं मान्य होगा प्लास्टिक आधार कार्ड

    घर लेने का फैसला
    भारत में अक्‍सर लोग अधिक उम्र में घर लेने का फैसला करते हैं. लेकिन अगर उम्र में रिस्‍क लेने की आपकी योग्‍यता अधिक होती है. इसके अलावा, आपको अधिक साल यानी 20 के बदले 30 साल का बैंक लोन भी आसानी से मिल जाएगा. इतना ही नहीं, चूंकि आपके पास अधिक समय रहता है, ऐसे में अगर आप 5 या 10 साल बाद घर बेचने का फैसला करते हैं तो आपको अच्‍छा रिटर्न भी मिल जाता है.

    Tags: Investment scheme, Investment tips, Systematic Investment Plan, Systematic Investment Plan (SIP)

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें