होम /न्यूज /व्यवसाय /घरेलू महिलाएं भी बन सकती हैं अच्छी निवेशक, इन्वेस्टमेंट की आदत से बनेगी बात

घरेलू महिलाएं भी बन सकती हैं अच्छी निवेशक, इन्वेस्टमेंट की आदत से बनेगी बात

महिलाओं की बचत की आदत अगर निवेश की आदत बन जाए तो घर-परिवार चालने में आने वाली छोटी-मोटी दिक्कतों को दूर किया जा सकता है.

महिलाओं की बचत की आदत अगर निवेश की आदत बन जाए तो घर-परिवार चालने में आने वाली छोटी-मोटी दिक्कतों को दूर किया जा सकता है.

घरेलू महिलाओं की सबसे बड़ी बात यह होती है कि घर के खर्चों और पति की पॉकेट से एक-एक पाई जोड़कर इकट्ठा किया पैसा वे किसी ...अधिक पढ़ें

    Financial Planning for Homemakers: हमने हमेशा देखा है कि महिलाएं पैसे बचाती हैं, लेकिन बचत की इस आदत के बाद भी उन्हें फाइनेंशियल प्लानिंग की जानकारी पुरुषों की तुलना में होती है. पैसे बचाना अच्छा है पर यह और बेहतर हो सकता है यदि आप जानते हैं कि अपने इस पैसे को कैसे निवेश करें, ताकि जोड़े गए पैसे को और बढ़ाया जा सके.

    पर्सनल फाइनेंस एडवाइजर ममता गोदियाल (Mamta Godiyal) कहती हैं कि महिलाओं की बचत की यही आदत अगर निवेश की आदत बन जाए तो घर-परिवार चालने में आने वाली छोटी-मोटी दिक्कतों को दूर किया जा सकता है.

    घरेलू महिलाओं की सबसे बड़ी बात यह होती है कि घर के खर्चों और पति की पॉकेट से एक-एक पाई जोड़कर इकट्ठा किया पैसा वे किसी काम के लिए वे फौरन निकालकर दे देती हैं. इससे थोड़े समय के लिए आई दिक्कत तो दूर हो जाती है, लेकिन महिला का हाथ खाली हो जाता है. और वह फिर से पैसों के लिए दूसरों पर मोहताज हो जाती है.

    इस समस्या से निकलने का एक ही उपाय है और वह है इन्वेस्टमेंट की आदत डालना.

    ममता गोदियाल यहां घरेलू महिलाओं के लिए इन्वेस्टमेंट की टिप्स बता रही हैं, जिन्हें अपनाकर अपनी छोटी बचत को भी बड़ी रकम में बदला जा सकता है-

    बैंक और डाकघर में निवेश (Bank and Post Office Saving Schemes)
    निवेश की शुरूआत अपने नजदीक के बैंक या डाकघर में की जा सकती है. इसके लिए सावधि जमा यानी एफडी (Fixed Deposit- FD) और आवर्ती जमा यानी आरडी (Recurring Deposit- RD) शानदार ऑप्शन हैं.

    बेटी के लिए चुनें बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान, जानें निवेश की बेहतरीन योजनाएं

    इनमें रिटर्न तो कम मिलता है, मगर पैसा सुरक्षित रहता है. इसलिए निवेश की शुरूआत करने वाले लोगों के लिए किसी बैंक में आरडी या एफडी खुलवाना अच्छा रहता है.

    आरडी में सबसे अच्छी बात ये है कि आप यह 500 रुपये से भी शुरू कर सकते हैं. और अगर आप एकमुश्त राशि जमा करना चाहते हैं उसके लिए एफडी बेहतर विकल्प है.

    राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (national savings certificate)
    पोस्ट ऑफिस या बैंक में आप पीपीएफ या फिर राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र- एनएससी जैसी स्कीम में भी पैसा लगा सकते हैं. राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र सुविधा डाकघर में होती है.

    अगर आप आने वाले 5 साल तक बचत करने का प्लान बना रहे हैं तो आप राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र- NSC में पैसा लगा सकते हैं. नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर ब्याज दर 6.8 फीसदी है. नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट स्कीम में मैच्योरिटी की सीमा 5 साल है. मैच्योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद इसे पांच-पांच साल के लिए आगे बढ़ाया जा सकता है.

    पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)
    यह निवेश की सबसे पॉपुलर योजना है. आप लंबे समय के लिए पैसा निवेश करने का प्लान बना रहे हैं तो यह योजना बहुत अच्छी है. पीपीएफ में 15 साल के लिए पैसा निवेश किया जाता है. आप एक साल में कम से कम 500 रुपये अपने पीपीएफ खाते में जमा करा सकते हैं.

    अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana)
    अटल पेंशन योजना में 18 से 40 वर्ष के आयु वर्ग वाले लोग पैसा निवेश कर सकते हैं. इसमें आपके निवेश के आधार पर 60 साल की उम्र में 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये या फिर 5,000 रुपये हर महीने पेंशन मिलेगी.

    इस तरह कुछ ऐसी योजनाएं हैं जिनमें निवेश करके आप अपने भविष्य के लिए कुछ फंड इकट्ठा कर सकते हैं. कम पैसे वाली योजनाओं में निवेश की शुरूआत करते, जब आपको निवेश की आदत पड़ जाएगी तो यह आदत आपको खुद-ब-खुद म्यूचुअल फंड और शेयर मार्केट की तरफ ले जाएगी.

    Tags: Investment tips, Personal finance, Small Saving Schemes

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें