बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना तो बेटे के​ भविष्य को बेहतर बनाने के लिए यहां लगाएं पैसा

बेटी के लिए सुकन्या समृद्धि योजना तो बेटे के​ भविष्य को बेहतर बनाने के लिए यहां लगाएं पैसा
बच्चों का भविष्य सु​रक्षित करने के लिए टर्म इंश्योरेंस, लाइफ इंश्योरेंस, पब्लि​क प्रोविडेंट फंड (PPF) और म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में निवेश (Invest) करना बेहतर​ विकल्प साबित हो सकता है. निवेश करने वक्त भविष्य में बच्चों की जरूरतों को भी ध्यान में रखना चाहिए.

बच्चों का भविष्य सु​रक्षित करने के लिए टर्म इंश्योरेंस, लाइफ इंश्योरेंस, पब्लि​क प्रोविडेंट फंड (PPF) और म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में निवेश (Invest) करना बेहतर​ विकल्प साबित हो सकता है. निवेश करने वक्त भविष्य में बच्चों की जरूरतों को भी ध्यान में रखना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 10:38 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. आज के महंगाई के दौर में बच्चों का भविष्य वित्तीय रूप से सुरक्षित करना मां-बाप की सबसे बड़ी जिम्मेदारियों में से एक है. इसके साथ ही अपने रिटायरमेंट प्लानिंग (Retirement Planning) करनी भी जरूरी होती है. आमतौर पर बेटियों के लिए सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya samriddhi Yojana) सबसे बेहतर विकल्प होता है. लेकिन, बेटे का भविष्य भी सुरक्षित करना उतना ही जरूरी है. आइए जानते हैं कि अपने बेटे का भविष्य वित्तीय रूप से मजबूत करने के लिए आपको क्या करना चाहिए.

लाइफ इंश्योरेंस
अपने बच्चे का सपना पूरा करने के लिए मां-बाप के साथ-साथ बच्चे के लिए लाइफ इंश्योरेंस (Life Insurance) भी लेना चाहिए. मार्केट में कई इंश्योरेंस कंपनियां ऐसे इंश्योरेंस उपलब्ध कराती हैं जो खासतौर से किसी गोल के आधार पर तैयार किया जाता है. हालांकि, इन पॉलिसी पर मिलने वाला रिटर्न पर्याप्त नहीं होता. ऐसे में लाइफ इंश्योरेंस और टर्म इंश्योरेंस के साथ—साथ अन्य विकल्पों के बारे में भी सोचना चाहिए.

ये भी पढ़ें: सऊदी अरामको पर ड्रोन हमले के बाद भारत की चिंता बढ़ी, दोगुना हो सकता है तेल का दाम!







पब्लिक प्रोविडेंट फंड
पब्लि​क प्रोविडेंट फंड (PPF) में भी निवेश किया जा सकता है. PPF सरकारी स्कीम है जो पूरी तरह से सुरक्षित और टैक्स फ्री होती है. हालां​कि, इसमें सुकन्या समृद्धि योजना की तुलना में इंटरेस्ट रेट कम होता है. ऐसे में आप अपने फंड का कुछ हिस्सा  पीपीएफ में निवेश कर सकते हैं, इससे आपको टैक्स की छूट के साथ-साथ सिक्योरिटी भी मिलेगी. हालांकि, आपको इस बात का भी ख्याल रखना है कि पीपीएफ में आप एक वित्तीय वर्ष में 1.5 लाख रुपये से अधिक का निवेश नहीं कर सकते हैं.

यूलिप
यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (ULIP) मार्केट लिंक्ड प्रोडक्ट्स होता है, ​जो अन्य एंडॉमेंट इंश्योरेंस (Endowment Insurance) प्लान्स की तुलना में बेहतर रिटर्न देते हैं. यूलिप में इन्वेस्टमेंट भी पूरी तरह से टैक्स फ्री होता है.

ये भी पढ़ें: ICICI बैंक के खाताधारकों को झटका! नहीं किया ये काम तो देना होगा अतिरिक्त चार्ज



म्यूचुअल फंड
छोटी अवधि में बाजार में उतार—चढ़ाव की वजह से म्यूचुअल फंड में निवेश करना बहुत ​जोखिम भरा होता है. अगर आप एक लंबे समय के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश करते हैं तो इसपर कम जोखिम होता है. म्यूचुअल फंड पर लंबी अवधि में मिलने वाले निवेश महंगाई से लड़ने में मददगार हो सकता है. चूंकि, बच्चों के ​भविष्य के लिए वित्तीय प्लानिंग लंबी अवधि के लिए होता है, ऐसे में कम उम्र में ही सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लानिंग यानी एसआईपी का विकल्प बेहतर साबि​त हो सकता है.
First published: September 16, 2019, 8:30 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading