बच्चों के लिए आज से ही ऐसे शुरू करें बचत, इन तीन विकल्प से नहीं होगी पैसों की कमी

बच्चों के लिए आज से ही ऐसे शुरू करें बचत, इन तीन विकल्प से नहीं होगी पैसों की कमी
वित्तीय रूप से बच्चों का ​भविष्य सुरक्षित करने के लिए कई तरीके हैं.

बच्चों का भविष्य को वित्तीय रूप से सुरक्षित करना भी जरूरी है ताकि आने वाले समय में उनकी जरूरतों को पूरा किया जा सके. इसीलिए, आज हम आपको कुछ ऐसे विकल्पों के बारे में बताने जा रहा हैं, जहां आप उनके लिए बचत कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 11:39 AM IST
  • Share this:
मौजूदा संकट ने हर किसी को वित्तीय तौर पर भी सुरक्षित (Financial Security) रहने के लिए सतर्क कर​ दिया है. अब अधिकतर लोग अपनी बचत के नये रास्ते तलाशने में जुटे हैं, ताकि भविष्य में वित्तीय जरूरतों से निपटा जा सके. ऐसे में यह भी जरूरी है कि अपने साथ-साथ बच्चों को भी वित्तीय रूप से सुरक्षित किया जाए. इसी को देखते हुए आज हम आपको कुछ ऐसे विकल्प बताने जा रहे हैं, ताकि ​भविष्य में बच्चों की जरूरतें पूरी की जा सकें. आइए जानते हैं इनके बारे में...

आज के समय में पोस्ट ऑफिस स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स (Small Saving Scheme), म्यूचुअल फंड्स (Mutual Funds) और फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे कई विकल्प हैं. बच्चों के लिए निवेश करने में बड़ी सावधानी बरतनी चाहिए. हड़बड़ी में निवेश करने की बजाय ठंडे दिमाग से प्लानिंग करनी चाहिए. ऐसा करते समय आपको ध्यान देना होगा कि बच्चे को उम्र के किस पड़ाव में किस चीज की जरूरत होगी. उसके लक्ष्यों के अनुसार ही प्लान बनाना चाहिए.

(1) सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)- सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) के तहत, 10 साल तक की उम्र तक किसी भी लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक यह खाता खोल सकते हैं. सुकन्या समृद्धि योजना खाता किसी भी सरकारी बैंक और पोस्ट ऑफिस ब्रांच में खोला जा सकते है. अभी इस पर ब्याज दर 7.6 फीसदी है. सुकन्या समृद्धि योजना में सालाना कम से कम 250 रुपए जमा किया जा सकता है. योजना के तहत सालाना अधिकतम 1.50 लाख रुपए जमा किया जाता है. सुकन्या समृद्धि योजना के तहत निवेश इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ भी लिया जा सकता है.



यह भी पढ़ें: कोरोना के चलते पहली छमाही में Gold ETF में आया 3,500 करोड़ का निवेश
सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलने के दिन से 15 साल पूरा होने तक निवेश करना होता है लेकिन यह खाता 21 साल पूरा होने पर मैच्योर होता है. खाते के 15 साल पूरा होने के बाद से 21 साल तक खाते में उस समय के तय ब्याज दर के हिसाब से पैसा जुड़ता रहेगा.

नए खाता खोलने के लिए सरकार ने दी बड़ी छूट
हाल ही में सरकार ने सरकार ने सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए पात्रता मानदंडों में कुछ छूट की घोषणा की है. पोस्ट ऑफिस (Post Office) के नए दिशानिर्देशों के मुताबिक, सुकन्या समृद्धि खाता 31 जुलाई, 2020 को या उससे पहले उन बेटियों के नाम से खोला जा सकता है, जिनकी उम्र 25 मार्च, 2020 से 30 जून, 2020 तक लॉकडाउन की अवधि के दौरान 10 वर्ष पूरी हो चुकी है. इस छूट से उन बेटियों के पेरेंट्स को मदद मिलेगी जो लॉकडाउन के कारण सुकन्या समृद्धि खाता नहीं खोल सकते थे. अन्यथा, सुकन्या समृद्धि खाते केवल जन्म की तारीख से 10 वर्ष की आयु तक ही खोले जा सकते हैं.

यह भी पढ़ें:  लॉकडाउन के बाद कितना बढ़ा आपके किचन का बजट? जानिए कैसे रहे भाव

(2) पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)- पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) के जरिए भी आप बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए निवेश कर सकते हैं. PPF भी पारंपरिक और लोकप्रिय निवेश के माध्यम हैं. बच्चों के नाम पर पीपीएफ खाता उनके माता, पिता ही खुलवा सकते हैं. 18 साल से कम उम्र के बच्चों के पीपीएफ अकाउंट खोली जा सकती है. पीपीएफ पर वर्तमान में ब्याज दर 7.1 फीसदी है.

पीपीएफ खाते का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है. साल भर में इसमें 1.50 लाख रुपए का निवेश किया जा सकता है. अगर आप 1.50 लाख रुपए से अधिक का निवेश करते हैं तो उस रकम पर आपको ब्याज नहीं मिलता है. अगर आपके दो बच्चे हैं तो अलग-अलग पीपीएफ खाता खोलकर 3 लाख रुपए तक का निवेश किया जा सकता है. 15 साल के बाद आप खाते से पूरी रकम एक साथ निकाल सकते हैं. इसके बाद 5-5 साल के लिए इसे बढ़ाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: FD पर चाहिए 9 फीसदी तक ब्याज तो इन बैंकों में करें निवेश, पैसा रहेगा सेफ

(3) इक्विटी म्यूचुअल फंड- इक्विटी म्यूचुअल फंड किसी भी अन्य निवेश विकल्प के मुकाबले लॉन्ट टर्म में ज्यादा रिटर्न दे सकता है. म्यूचुअल फंड में आप सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) के जरिए किस्तों में निवेश कर सकते हैं. अगर आप प्रोफेशनल वित्तीय सलाहकार की मदद लें तो म्यूचुअल फंड में लंबी अवधि में निवेश से बेहतर मुनाफा की संभावना बढ़ जाती है. बच्चे की जरूरत के लिए अगर 10 साल बाद पैसों की जरूरत है तो बेहतर है कि निवेश लार्जकैप फंडों में किया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading