Home /News /business /

Saving plans: मुसीबत में काम आएगी सिर्फ आपकी बचत, जानें सेविंग्स के आसान तरीके

Saving plans: मुसीबत में काम आएगी सिर्फ आपकी बचत, जानें सेविंग्स के आसान तरीके

जब भी वेतन मिले सबसे पहले उसमें से बचत का हिस्सा निकालें. फिर बचे हुए पैसों से पूरे महीने का खर्च चलाएं. (Image-Pixabay)

जब भी वेतन मिले सबसे पहले उसमें से बचत का हिस्सा निकालें. फिर बचे हुए पैसों से पूरे महीने का खर्च चलाएं. (Image-Pixabay)

केंद्र सरकार ने जनऔषधि स्टोर खोलकर जेनरिक दवाओं की बिक्री शुरू की है. इससे लोगों को कोई भी दवा बहुत सस्ते दामों पर मिल जाती है, जबकि उसका असर भी वही होता है जो किसी ब्रांड की दवा का होता है.

Saving Tips and Tricks: पिछले दो सालों से पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है. हर बार कोरोना कोई नया रूप धारण करके पूरे सिस्टम को तहस-नहस कर देता है. देश की अर्थव्यवस्था पर इसका असर पड़ता है. लाखों लोगों के काम-धंधे चौपट हो गए. तमाम लोगों की नौकरियां चली गईं. बहुत से लोगों की सैलरी कम हो गई.

ऐसी मुसीबत के समय आदमी की सिर्फ और सिर्फ बचत ही उसके काम आती है. अभी हालात में सुधार होता नहीं दिख रहा है. इसलिए जरूरी है कि खर्चों को काबू में रखते हुए बचत को बढ़ाया जाए. यहां हम आपको कुछ तरीके बता रहे हैं जिनसे आप अपने खर्चों में कमी लाकर बचत को बढ़ा सकते हैं.

पहले दिन से बचत (Start Saving)
तमाम आदतों की तरह ही हमारे अंदर बचत की आदत होनी चाहिए. जब भी वेतन मिले सबसे पहले उसमें से बचत का हिस्सा निकालें. फिर बचे हुए पैसों से पूरे महीने का खर्च चलाएं. बहुत से लोग तमाम खर्चे काटने के बाद बचे पैसों को बचत में लगाते हैं. इस नियम को उल्टा कर दें. पहले बचत करें फिर खर्चे.

यह भी पढ़ें- बड़े काम का है FD अकाउंट, अच्छे रिटर्न के साथ पैसा भी महफूज, और भी हैं खासियत

खर्चों पर कंट्रोल रखें (Avoid impulse spending)
हर महीने घर का बजट तैयार करें और गैर जरूरी खर्चों पर क्रॉस का निशान लगाएं. केवल बहुत जरूरी खर्चों को ही घर के बजट में शामिल करें. खर्चों को कम करने का एक और तरीका है, वह है ब्रांडिंग से दूर रहना. ब्रांडेड कपड़े, जूते या अन्य सामान इसलिए खरीदते हैं क्‍योंकि इनमें क्‍वालिटी का भरोसा होता है. लेकिन इसके लिए हमें ज्‍यादा कीमत चुकानी पड़ती है.

दवाएं इसका सबसे बड़ा उदाहरण हमारे सामने है. केंद्र सरकार ने जनऔषधि स्टोर खोलकर जेनरिक दवाओं की बिक्री शुरू की है. इससे लोगों को कोई भी दवा बहुत सस्ते दामों पर मिल जाती है, जबकि उसका असर भी वही होता है जो किसी ब्रांड की दवा का होता है.

अन्य उत्पादों पर भी यही नियम लागू होता है. इसलिए कोई भी मशहूर ब्रांड का कोई भी उत्पाद खरीदने से पहले बाजार में अन्य ब्रांडों की भी तुलना कर लेनी चाहिए. निश्चित ही यह आदत खर्चे कम करने में मददगार साबित होगी.

यह भी पढ़ें- कर्ज के जाल से मुक्ति दिलाएंगे ये Financial Tips, जानें बचत के आसान तरीके

​क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल (Use of Credit Card)
कोशिश करें कि क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल ना करना पड़े. अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर भी रहे हैं तो उसका समझदारी से इस्तेमाल किया जाए. क्रेडिट कार्ड कई तरह के बेनिफिट ऑफर करते हैं. अक्‍सर क्रेडिट साइकिल के अंत होने के 15 दिन बाद पेमेंट की बारी आती है. इसलिए हर खरीद के लिए करीब 15-45 दिनों का क्रेडिट पीरियड मिलता है. सही मायनों में क्रेडिट कार्ड आपको बैंक की तरफ से दी जाने वाली एक सुविधा है, जो पहले पैसे खर्च करने और बाद में उसे चुकाने की सहूलियत देता है. इसलिए क्रेडिट कार्ड के बिल का सही समय पर भुगतान करें. क्योंकि देरी से भुगतान करने पर ज्यादा पेमेंट करना पड़ता है.

खरीदारी का नियम (Shopping Rules)
जब भी खरीदारी करने जाएं लिस्ट बनाकर ले जाएं. इस तरह आप बेवजह की खरीद से बच सकते हैं. मॉल से खरीदारी करने के बचें. क्योंकि वहां से हम कई चीजें बिना जरूरत के भी खरीद लाते हैं. कोई भी बड़ी खरीद करने से पहले कुछ दिन रुकें. कई बार ऐसा होता है कि कोई चीज आज तो जरूरी लग रही है, लेकिन कुछ दिन बाद उसकी जरूरत नहीं होती है. इसलिए बड़ी शॉपिंग को कुछ दिन के टाल दें.

बार-बार बाजार जानें से बचें. इससे आने-जाने का खर्च और समय भी बर्बाद होता है. कोशिश करें कि घर का एक महीने का राशन एक बार में ही खरीद लिया जाए. इकट्ठा राशन लेने से कई बार छूट भी मिल जाती है.

Tags: Personal finance, Small Savings Schemes

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर