• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • बिजली का बिल भरने के नाम पर फ्रॉड, अलर्ट नहीं हुए तो लुट जाएंगे आप!

बिजली का बिल भरने के नाम पर फ्रॉड, अलर्ट नहीं हुए तो लुट जाएंगे आप!

हैदराबाद के साइदाबाद (Saidabad) में एक रिटायर्ड बैंक मैनेजर को लगभग 6 लाख रुपये की चपत लगाई गई है.

हैदराबाद के साइदाबाद (Saidabad) में एक रिटायर्ड बैंक मैनेजर को लगभग 6 लाख रुपये की चपत लगाई गई है.

हैदराबाद के साइदाबाद (Saidabad) में एक रिटायर्ड बैंक मैनेजर को लगभग 6 लाख रुपये की चपत लगाई गई है. हालांकि वे जानते थे कि बिल भर चुके हैं, फिर भी उनके साथ साइबर फ्रॉड हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्ली. ठगों को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां रहते हैं, आपकी उम्र क्या है या कि आप अमीर हैं या गरीब. उन्हें तो सिर्फ आपके जेब साफ करने से मतलब होता है. इसलिए, आप कोई भी हैं, आपको सजग और जागरुक रहने की आवश्यकता है. यदि आप सजग हैं तो आप किसी भी तरह के ऑनलाइन फ्रॉड से बच सकते हैं, अन्यथा नहीं. लोगों को जागरुक करने के लिए News18Hindi ने एक सीरीज चलाई है, जिसके तहत बताया जाता है कि किस तरह के फ्रॉड हो रहे हैं और उनसे कैसे बचा जा सकता है. आपको ये सीरीज जरूर पढ़नी चाहिए – यहां क्लिक करें.

    बिजली बिल ‘नहीं भरा’

    ताज़ा मामला आया है हैदराबाद के साइदाबाद (Saidabad) से. यहां एक रिटायर्ड बैंक मैनेजर को लगभग ₹600000 की चपत लगाई गई है. उनकी उम्र 79 साल है. टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक शिवराम कृष्ण शास्त्री को 2 दिन पहले एक मैसेज आया था. इस मैसेज में कहा गया था कि आपने अपना बिजली का बिल नहीं भरा है. चूंकि शिव राम ने बिल भरा हुआ था तो उन्होंने इस मैसेज को तवज्जो नहीं दी.

    कुछ देर बाद ही उनके पास एक फोन आया. फोन करने वाले शख्स ने खुद को तेलंगाना स्टेट सदर्न पावर डिस्टीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (Telangana State Southern Power Distribution Company Ltd or TSSPDCL) का कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव बताया. उसने शिवराम से कहा कि आपने बिजली का बिल नहीं भरा है. लेकिन शिवराम ने उसे बताया कि वह बिजली का बिल भर चुका है और फिलहाल कोई बकाया शेष नहीं है. इसके बाद उसने शिवराम को बताया कि आपने बिल भर दिया होगा लेकिन अभी तक हमारे डेटाबेस में यह अपडेट नहीं हुआ है. जब तक यह अपडेट नहीं होगा तब तक इसी तरह आपके पास मैसेज आते रहेंगे और हो सकता है कि यह पेमेंट अगले बिल में जुड़कर भी आ जाए.

    ये भी पढ़ें – आर्मी वाले बनकर कर रहे काला काम, रहें सावधान

    इसके बाद एक्सक्यूटिव ने शिवराम की मदद करने का झांसा दिया. उसने कहा कि आपको पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की एक ऐप डाउनलोड करनी होगी और उस ऐप पर आप अपना स्टेटस अपडेट कर सकते हैं कि आपने बिल भर दिया है. आपका स्टेटस अपडेट हो जाएगा और आपके पास इस तरह के मैसेज नहीं आएंगे. इस पर शिवराम ने कहा कि ठीक है, ऐसा कर लेते हैं. उस व्यक्ति ने शिवराम को ऐप डाउनलोड करने के लिए एक लिंक भेजा और साथ ही कहा कि टीम विउअर क्विक सपोर्ट (TeamViewer QuickSupport) ऐप भी इंस्टॉल कर लें, ताकि वह फोन पर ही उनकी मदद कर पाए.

    10 रुपये की ट्रांजेक्शन

    शिवराम को आभास नहीं था कि उनके साथ लाखों रुपये का फ्रॉड हो जाएगा. उन्होंने दोनों ऐप्स इंस्टॉल कर लीं. तब उस ठग ने शिवराम से कहा कि आप अपने डेबिट कार्ड से TSSPDCL ऐप पर मात्र 10 रुपये की एक पेमेंट कर दें. शिवराम ने जैसे ही ट्रांजेक्शन के लिए डिटेल डाली तो टीम विउअर ऐप से जरिए ठग ने सब नोट कर लिया. इसके कुछ ही मिनटों के भीतर शिवराम के बैंक अकाउंट से 5.8 लाख रुपये निकाल लिए गए.

    ये भी पढ़ें – 12 हजार दें और 4 करोड़ लें! RBI से ऐसा मैसेज आया क्या?

    बिना OTP के नहीं निकलते पैसे

    जैसा कि आप जानते हैं कि बिना OTP के पैसा नहीं निकाला जा सकता, तो ठगी करने वाले पहले से ही इसका इंतजाम कर लेते हैं. दरअसल शिवराम के फोन में टीम विउअर ऐप इसलिए ही इंस्टॉल करवाया गया था. इस ऐप से फोन एक्सेस करके सब कुछ देखा जा सकता है. न सिर्फ देखा बल्कि फोन कंट्रोल भी किया जा सकता है. तो जो भी OTP शिवराम के फोन पर आए, ठग उसे देख-पढ़ पा रहे थे.

    कैसे बच सकते हैं आप?

    आपको जागरुक होना पड़ेगा. यदि आपके पास किसी भी अनजान शख्स का फोन आता है तो उस पर यकीन नहीं करना चाहिए, फिर चाहे वह खुद को किसी बैंक का अधिकारी बताए या किसी कंपनी का एग्जीक्यूटिव. आपको उसे क्रॉस वेरिफाई जरूर करना चाहिए. इसके अलावा यदि कोई भी शख्स आपको कोई ऐप इंस्टॉल करने को कहे तो बिलकुल न करें. साथ ही टीम विउअर क्विक सपोर्ट (TeamViewer QuickSupport) जैसी ऐप्स भी इंस्टॉल न करें.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज