सरकार की इस स्कीम में 1 लाख इतने दिन में होंगे डबल, 14 जुलाई से पैसा लगाने का मौका

सरकार की इस स्कीम में 1 लाख इतने दिन में होंगे डबल, 14 जुलाई से पैसा लगाने का मौका
FD से अच्छा मिल सकता है रिटर्न

भारत बॉन्ड ईटीएफ (Bharat Bond ETF) में कम से कम 1,000 रुपए निवेश कर सकते हैं. इसके बाद 1,000 रुपए के मल्टीपल में निवेश किया जा सकता है. दोनों नई सीरीज अप्रैल 2025 और अप्रैल 2031 में मैच्‍योर होगी.

  • Share this:
नई दिल्ली. भविष्‍य सुरक्षित करने के लिए सबसे जरूरी है सही जगह पैसा लगाना. कुछ लोग अलग-अलग बैंकों में फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) के जरिए निवेश करते हैं तो वहीं कुछ लोग म्‍युचुअल फंड्स (Mutual Fund) में. अब इन स्कीम में कहीं रिस्‍क ज्‍यादा है तो कहीं मुनाफा कम है. आपकी इस टेंशन को दूर करने के लिए हम आपको बता रहे हैं सरकार की ओर से शुरू की गई नई स्कीम के बारे में. सरकार की नई स्कीम भारत बॉन्ड ईटीएफ (Bharat Bond ETF) की दूसरी किस्त 14 जुलाई को सब्सक्रिप्शन के लिए खुलेगी. इसके जरिये सरकार की 14,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की योजना है.

यह देश का पहला कॉरपोरेट बांड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ETF) है. इसमें न्यूनतम यूनिट 1,000 रुपए की है. इसके लिए सब्सक्रिप्शन 17 जुलाई को बंद होगा. इससे पहले दिसंबर 2019 में भारत बांड ईटीएफ की सीरिज पेश की गई थी. इसके जरिये 12,400 करोड़ रुपये जुटाए गए थे. ईटीएफ के लिए एक्सपेंस रेश्यो भी अन्य म्यूचुअल फंडों की तुलना में बहुत कम महज होता है. यह 0.005 फीसदी ही है. स्टेबिलिटी और रिटर्न का अनुमान इसकी खासियत है. इसमें सेफ्टी के साथ हाई ट्रांसपैरेंसी होती है. लोअर टैक्स इसे और और आकर्षक बनाता है.

यह भी पढ़ें- इस सरकारी स्कीम के तहत फ्री में होगा कोरोना का इलाज, आपक नाम है या नहीं, ऐसे चेक करें



भारत बॉन्ड ETF की खासियत-
>> यह किसी CPSE,CPSU, CPFI या किसी भी सरकारी बॉन्ड में निवेश करेगा.
>> एक्सचेंज पर बॉन्ड में ट्रेडिंग हो सकेगी.
>> न्यूनतम यूनिट साइज 1000 रुपए का है.
>> ट्रांसपेरेंट पोर्टफोलियो (वेबसाइट पर रोज ब्योरा)
>> हर ETF की एक तय मैच्योरिटी तारीख होगी.
>> दोनों नई सीरीज अप्रैल 2025 और अप्रैल 2031 में मैच्‍योर होगी.

जानते हैं Bharat ETF बॉन्ड के बारे में सबकुछ
>> भारत बॉन्ड ईटीएफ सिंपल फिक्स्ड इनकम प्रोडक्ट है. यहां एक औसत निवेशक पूरे भरोसे के साथ अपना पैसा रख सकता है. इसके रिटर्न का अनुमान लगाना आसान है. इससे होने वाली इनकम टैक्स-फ्री तो नहीं होगी, लेकिन इसमें इंडेक्सेशन का बेनिफिट मिलेगा.

>> भारत बॉन्ड ईटीएफ की दूसरी खेप 14 जुलाई को पेश होने वाली है. इसका पूरा आकार 14 हजार करोड़ रुपये का है. यह खेप 17 जुलाई को बंद होगी. इसका प्रबंधन एडलवाइस एसेट मैनेजमेंट करेगी.

>> दूसरे शब्दों में रिटर्न में महंगाई को एडजस्ट किया जाएगा. नए फंड में रिटेल इनवेस्टर 1,000 रुपये से निवेश शुरू कर सकते हैं. जिन निवेशकों के पास डीमैट नहीं है, वे फंड्स ऑफ फंड्स स्कीम के जरिये निवेश कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें- SBI ग्राहक हैं तो तुरंत जान लें ये बात, वरना देना पड़ेगा भारी-भरकम टैक्स

कितने साल में पैसा होगा दोगुना
मान लीजिए अगर आप 1 लाख रुपए का निवेश करते हैं तो उस पर 7.58 फीसदी की दर से रिटर्न मिलता है तो 10 साल में आपका पैसा बढ़कर 2,07,642 रुपये हो जाएगा. फिर इस पर आपको 7,836 रुपये टैक्स के तौर पर चुकाना होगा. ऐसे में आपको 1,99,806 रुपये मिलेंगे. इसीलिए एक्सपर्ट्स भारत बॉन्ड ईटीएफ टैक्स के लिहाज से लंबी अवधि में ज्यादा फायदेमंद है. कंजर्वेटिव डेट फंड निवेशकों के लिए यह अच्छा विकल्प है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading