Home /News /business /

SBI चेयरमैन रजनीश कुमार ने MSME सेक्टर के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट लॉन्च करने का ऐलान किया

SBI चेयरमैन रजनीश कुमार ने MSME सेक्टर के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइट लॉन्च करने का ऐलान किया

भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार

भारतीय स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार

SBI चेयरमैन रजनीश कुमार ने शनिवार को एक वेबिनार में बताया कि देश का सबसे बड़ा बैंक MSEM Sector के लिए ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म लॉन्च करने वाला है. इस पोर्टल का नाम भारत क्राफ्ट होगा. पिछले साल ही नितिन गडकरी ने इसका ऐलान किया था.

    नई दिल्ली. देश का सबसे बड़ा बैंक यानी SBI अब सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमियों (MSEM) के लिए नई ई-कॉमर्स वेबसाइट (E-Commerce For MSME) बनाने की तैयारी कर रहा है. भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) के चेयरमैन रजनीश कुमार (Rajnish Kumar) ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी. 'भारत क्राफ्ट' नाम के इस वेब पोर्टल को स्टेट बैंक और केंद्र सरकार साझेदारी में चलाएंगे.

    शनिवार को CII के एक वेबिनार में रजनीश कुमार ने कहा, 'इस पर अभी काम चल रहा है. हमने इसके लिए खाका तैयार कर लिया है और बहुत जल्द ही इसके डेवलपमेंट का काम शुरू कर दिया जाएगा.'

    उन्होंने कहा, 'एमएसएमई मंत्री नितिन गडकरी द्वारा भारत क्राफ्ट के बारे बताई गई यह सबसे बेहतरीन चीज है और एसबीआई इसे प्लेटफॉर्म को डेवलप करेगा. हम इस पर काम कर रहे हैं. इसके लिए कई जरूरी चीजों को एक साथ मिलाना है. यह पूरी तरह से हमारे रडार पर है और हम इसे जरूर पूरा करेंगे.'

    यह भी पढ़ें: Microsoft ने किया बड़ा ऐलान! दुनियाभर में बंद करेगी स्टोर्स, देगी ऑनलाइन सर्विस

    10 लाख करोड़ रुपये के टर्नओवर की उम्मीद
    पिछले साल ही MSME मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा था, 'केंद्र सरकार भारत क्राफ्ट से एक ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म लॉन्च करने की योजना तैयार कर रही है. यह कुछ अलीबाबा (Alibaba Website) की तरह ही होगा. अगले कुछ साल में इस प्लेटफॉर्म का टर्नओवर 10 लाख करोड़ रुपये रहने की उम्मीद की जाती है. इससे सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों को बड़े स्तर पर लाभ मिल सकेगा.'

    GDP में MSME सेक्टर की भागदारी बढ़ाने की कोशिश
    मालूम हो कि देश की GDP में MSME Sector का कुल योगदान 29 फीसदी है और करीब 11 करोड़ लोग इस सेक्टर में काम करते हैं. अब केंद्र सरकार इसे बढ़ाकर क्रमश: 50 फीसदी और 15 करोड़ लोगों तक करना चाहती है. नितिन गडकरी ने इसे लेकर अगले 5 साल की योजना के बारे में जानकारी दी थी.

    भारतीय अर्थव्यवस्था (Indian Economy) में इस सेक्टर की भूमिका पर ज़ोर देते हुए रजनीश कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार ने इसके लिए कई उपायों का ऐलान किया है. इनमें एमएसएमई सेक्टर की परिभाषा में बदलाव भी शामिल है, ताकि कठिन परिस्थितियों में इस सेक्टर को सपोर्ट किया जा सके. उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा ऐलान किए गए इन उपायों से अगर इस सेक्टर की चुनौती खत्म नहीं होती तो कम से कम उन्हें कुछ सहारा तो जरूर मिलेगा.

    यह भी पढ़ें: महंगाई की मार पड़नी शुरू, डीज़ल के बढ़ते दाम ने फल और सब्जी के भाव में लगाई आग

    एसबीआई 4 लाख एमएसएमई अकाउंट्स को जारी किया लोन
    एसबीआई चेयरमैन ने इस दौरान यह भी बताया कि केंद्र सरकार के इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी ​स्कीम यानी ईसीएलजीएस के तहत एमएसएमई सेक्टर के 4 लाख अकाउंट्स को लोन जारी कर दिया है. सरकार ने इस स्कीम के तहत 3 लाख करोड़ रुपये के गारंटीड लोन देने का प्रावधान किया था. 1 जून तक इस स्कीम के तहत एसबीआई ने करीब 20 हजार करोड़ रुपये का लोन जारी कर दिया है.

    Tags: Business news in hindi

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर