होम /न्यूज /व्यवसाय /अशनीर ग्रोवर से अब छीने जाएंगे BharatPe के शेयर, फिनटेक कंपनी ने शुरू कर दी है तैयारी

अशनीर ग्रोवर से अब छीने जाएंगे BharatPe के शेयर, फिनटेक कंपनी ने शुरू कर दी है तैयारी

अशनीर ग्रोवर (फाइल फोटो)

अशनीर ग्रोवर (फाइल फोटो)

BharatPe ने इस साल जनवरी में अशनीर ग्रोवर और उनकी पत्नी माधुरी ग्रोवर के खिलाफ कॉरपोरेट गवर्नेंस रिव्यू शुरू किया था जि ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. भारतपे (BharatPe) के सह-संस्थापक और पूर्व मैनेजिंग डायरेक्टर (एमडी) अशनीर ग्रोवर को कंपनी से बाहर निकाले जाने के बाद अब उनके खिलाफ दूसरी कार्रवाई शुरू कर दी गई है. कंपनी ने अब उनसे शेयर वापस लेने की कार्रवाई शुरू की है. भारतपे ने इसी साल जनवरी में अशनीर ग्रोवर और उनकी पत्नी माधुरी ग्रोवर के खिलाफ कॉरपोरेट गवर्नेंस रिव्यू शुरू किया था. इसके बाद दोनों को कंपनी से बाहर कर दिया गया था.

दरअसल, अशनीर ग्रोवर से अनवेस्टेड (Unvested) शेयर वापस लेने की कार्रवाई भारतपे ने शुरू की है. इससे पहले इसी साल मार्च में वीसी सर्किल (VCCIRCLE) ने कहा था कि अगर उनके खिलाफ हो रही जांच में किसी गड़बड़ी का पता चलता है तो उनके अनवेस्टेड शेयर जब्त कर लिए जाएंगे. अशनीर ग्रोवर मामले की जांच पीडब्ल्यूसी (प्राइसवाटर कूपर्स) ने की है.

ये भी पढ़ें- पासपोर्ट बनवाने जा रहे हैं, तो ये काम जरूर करवा लें, नहीं तो लौट सकता है आवेदन 

क्या है अनवेस्टेड स्टॉक
शेयरहोल्डर एग्रीमेंट के तहत ईम्प्लॉयी स्टॉक ऑप्शंस (Esops) के जरिये ईम्प्लॉयी को कंपनी की हिस्सेदारी दी जाती है. इसे वो जब चाहे शेयर में तब्दील कर सकता है. अशनीर ग्रोवर ने जिन ईसॉप्स को शेयरों में तब्दील नहीं किया है वही अनवेस्टेड शेयर हैं. स्टॉक ऑप्शंस के लिहाज से भारतपे में ग्रोवर की अभी 1.4 फीसदी हिस्सेदारी है. हालांकि, अभी इस बात की जानकारी नहीं दी गई है कि ग्रोवर के पास कितने अनवेस्टेड शेयर हैं.

नया कोड ऑफ कंडक्ट होगा लागू
मनीकंट्रोल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, फिनटेक यूनिकॉर्न भारतपे ने कोड ऑफ कंडक्ट और वेंडर प्रॉक्योरमेंट पॉलिसी भी लागू करने की बात कही है. कंपनी ने ऐसे कई कर्मचारियों को बाहर कर दिया है जो वेंडर जोड़ने का काम करते थे. भारतपे का कहना है कि इन लोगों ने कंपनी के साथ धोखाधड़ी की है. अगर जरूरत पड़ी तो कुछ कर्मचारियों के खिलाफ क्रिमिनल केस भी दायर किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- Multibagger Stock : सुपर से भी ऊपर है ये मल्‍टीबैगर स्‍टॉक, 15 साल में निवेशकों को दिया 55 हजार फीसदी से भी ज्‍यादा रिटर्न

पीडब्ल्यूसी की जांच रिपोर्ट के बाद फिनटेक कंपनी ने कुछ कदम उठाए हैं. नए कदम के तहत कंपनी के सीनियर मैनेजमेंट सहित सभी कर्मचारियों पर नया कोड ऑफ कंडक्ट लागू होगा. नियमित तौर पर इनका इंटरनल ऑडिट होगा. इसके अलावा बड़े पैमाने पर वेंडर प्रॉक्योरमेंट पॉलिसी लागू होगी. भारतपे में सीकोइया कैपिटल का बड़ा निवेश है.

Tags: Business news in hindi, Shares, Stock option, Stock Options

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें