Home /News /business /

BharatPe वाले अशनीर ग्रोवर की नजर में भारतीय हैं सबसे बिगड़ैल कस्‍टमर

BharatPe वाले अशनीर ग्रोवर की नजर में भारतीय हैं सबसे बिगड़ैल कस्‍टमर

भारतपे (BharatPe)  के फाउंडर और रियल्‍टी शो शॉर्क टैंक इंडिया (Shark Tank India) के जज अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover) ने भारतीयों को दुनिया में सबसे बिगड़ैल कस्‍टमर बताया है.

भारतपे (BharatPe) के फाउंडर और रियल्‍टी शो शॉर्क टैंक इंडिया (Shark Tank India) के जज अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover) ने भारतीयों को दुनिया में सबसे बिगड़ैल कस्‍टमर बताया है.

भारतपे (BharatPe) के फाउंडर अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover) की नजर में भारतीय ग्राहक (Indian Customer) दुनिया में सबसे बिगड़ैल हैं. अशनीर का कहना है कि भारतीयों को कम कीमत पर, कम सामान डिस्‍काउंट पर चाहिए होता है. भारत में ऑनलाइन ग्रॉसरी बिजनेस खड़ा करना बहुत चुनौतीपूर्ण है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. भारतपे (BharatPe) के फाउंडर और रियल्‍टी शो शॉर्क टैंक इंडिया (Shark Tank India) के जज अशनीर ग्रोवर (Ashneer Grover) ने भारतीयों को दुनिया में सबसे बिगड़ैल कस्‍टमर बताया है. उनका कहना है कि भारतीय को अपना ग्राहक बनाना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है और यहां ऑनलाइन ग्रॉसरी बिजनेस (Online Grocery Business In India) खड़ा करना बहुत मुश्किल है.

यूट्यूबर राज शामनी के साथ बातचीत में अशनीर ग्रोवर ने ये बातें कही. अशनीर ने कहा कि भारतीय एक तरह से दुनिया के सबसे बिगड़ैल कस्टमर्स हैं. भारतीय कस्‍टमर को हर चीज कम दाम पर चाहिए और साइज भी कम ही चाहिए. हां, डिलीवरी तुरंत चाहिए. अगर कोई इतना सब कर दे उसके बाद भारतीय कस्‍टमर को डिस्काउंट भी चाहिए.

ये भी पढ़ें : 99,999 रुपये किलो बिकी चाय, इस बार असम की गोल्डन पर्ल ने बनाया रिकॉर्ड, कैसे उगती है जानिए

सर्विस का पैसा नहीं देना चाहते
अशनीर से जब भारत में ग्रॉसरी डिलीवरी के बिजनेस और ग्रॉफर्स के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (CFO) के तौर पर उनके कार्यकाल के दौरान आई चुनौतियों के बारे में पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि भारतीय कस्‍टमर के साथ दिक्‍कत यह है कि वे सिर्फ उत्‍पाद का पैसा देना चाहता है, सर्विस के दाम नहीं चुकाना चाहते.

उन्होंने कहा, ‘भारत में सभी उत्पादों का अधिकतम खुदरा मूल्‍य (MRP) तय होना एक बड़ी चुनौती है. अमेरिका में ऐसा नहीं है. वहां जब आप किसी शहर से थोड़ा बाहर जाएंगे, तो आपको चीजें सस्ती मिल जाएंगी, जबकि वहीं चीजें शहर के बीच में सबसे महंगी होंगी. भारत में एमआरपी के कारण उत्पाद का दाम हर जगह समान रहता है और यह ग्रॉसरी डिलीवरी बिजनेस के लिए बड़ी चुनौती है.’

ये भी पढ़ें :  सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, कहा – बैंकों की बजाय घर खरीदने वालों को मिले प्राथमिकता

लगातार खरीद दूसरी चुनौती
अशनीर ग्रोवर का कहना है कि ग्रॉसरी बिजनेस की दूसरी बड़ी चुनौती भारतीयों का किराना सामान खरीदने का तरीका है. अमेरिका और अन्‍य देशों में जहां लोग महीने में एक बार ही किराना सामान घर के लिए खरीदकर रख लेते हैं. लेकिन, भारत में ऐसा नहीं हैं. यहां लोग थोड़ा-थोड़ा सामान खरीदते रहते हैं. भारतीय जब बाजार जाते हैं तो अन्‍य कामों के साथ एक दो किराना उत्‍पाद भी खरीद लेते हैं. इसलिए यहां ग्रॉसरी ऐप का औसत टिकट साइज काफी कम है. इस पर भी डिस्काउंट भी देना होता है और लॉजिस्टिक खर्च भी निकालना होता है. इसकी वजह से ग्रॉसरी बिजनेस को यहां खड़ा करना एक बड़ी चुनौती है.

Tags: Business, Online business

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर