महारत्न रही इस सरकारी कंपनी को हुआ तगड़ा नुकसान, 18 फीसदी गिर गए शेयर

भेल का मार्च तिमाही का रिजल्ट उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहा जिससे उसके शेयरों में गिरावट आई.

भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल, BHEL) का शेयर सोमवार को बीएसई पर कारोबार के दौरान 18 फीसदी लुढ़क गया.

  • Share this:
    नई दिल्ली. शेयर बाजार में सोमवार को अदाणी समूह के अलावा सरकारी कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (भेल, BHEL) को तगड़ा नुकसान हुआ है. भेल का शेयर सोमवार को बीएसई पर कारोबार के दौरान 18 फीसदी लुढ़क गया.
    हालांकि, अदाणी समूह के उलट भेल के शेयरों में गिरावट की वजह कंपनी का मार्च तिमाही का रिजल्ट उम्मीदों के मुताबिक नहीं रहना है. यह 18 फीसदी की गिरावट के साथ 62.55 रपए पर पहुंच गया था. हालांकि बाद में इसमें कुछ सुधार आया. सुबह साढ़े 11 बजे यह 10.50 फीसदी यानी 8 रुपए की गिरावट के साथ 68.20 रुपये पर ट्रेड कर रहा था. गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2021 की मार्च तिमाही में BHEL को 1,036 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ था. इस दौरान लो बेस के चलते कंपनी का रेवेन्यू 42 फीसदी की बढ़त के साथ 7,171 करोड़ रुपए रहा.
    यह भी पढ़ें :  वेंटीलेटर, एन-95 मास्क और सैनीटाइजर जैसी कई चीजें होंगी सस्ती, जीएसटी दर घटेगी 
    पॉवर सेक्टर में आर्डर की स्थिति कमजोर होने से हुआ नुकसान
    अाईसीआईसीआई सिक्यूरिटीज (ICICI Securities) ने एक नोट में कहा कि कुल मिलाकर चौथी तिमाही में बीएचईएल का प्रदर्शन फीका रहा क्योंकि लो बेस के बावजूद कंपनी के ऑपरेटिंग लॉस बढ़ गया.ब्रोकरेज फर्म का कहना है कि BHEL ने लागत को नियंत्रित करने, वर्किंग कैपिटल की स्थिति सुधारने और कई क्षेत्रों में फोकस करने के लिए कई कदम उठाए हैं. एक और ब्रोकरेज फर्म मोतीलाल ओसवाल (Motilal Oswal Financial Services) ने कहा कि पावर सेक्टर में ऑर्डर की स्थिति काफी कमजोर है जिससे BHEL को संघर्ष करना पड़ रहा है.
    यह भी पढ़ें :  मोदी सरकार ने पेट्रोलियम का स्टोरेज करने के लिए खेला बड़ा दांव, जानें सब कुछ
    कंपनी का एकीकृत शुद्ध घाटा बढ़कर 2,699.70 करोड़ रुपए
    सार्वजनिक क्षेत्र की इंजीनियरिंग कंपनी भेल का एकीकृत शुद्ध घाटा मार्च 2021 को समाप्त तिमाही में घटकर 1,036.32 करोड़ रुपए रह गया. इसका मुख्य कंपनी की आय में वृद्धि है. कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 की चौथी तिमाही में कंपनी को 1,532.18 करोड़ रुपए का एकीकृत शुद्ध घाटा हुआ था. कंपनी की कुल आय 2020-21 की चौथी तिमाही में बढ़कर 7,245.16 करोड़ रुपए हो गई, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 5,166.64 करोड़ रुपए थी. हालांकि पूरे वित्त वर्ष 2020-21 में, कंपनी का एकीकृत शुद्ध घाटा बढ़कर 2,699.70 करोड़ रुपए हो गया. इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 में यह 1,468.35 करोड़ रुपए था.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.