• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • ...तो इन किसानों को देना देना पड़ेगा 4 की जगह 7 फीसदी ब्याज, सिर्फ 47 दिन हैं बाकी

...तो इन किसानों को देना देना पड़ेगा 4 की जगह 7 फीसदी ब्याज, सिर्फ 47 दिन हैं बाकी

किसान क्रेडिट कार्ड पर सिर्फ 4 फीसदी लगता है ब्याज

किसान क्रेडिट कार्ड पर सिर्फ 4 फीसदी लगता है ब्याज

किसान क्रेडिट कार्ड (KCC-Kisan Credit Card) पर लिया गया पैसा आप समय पर वापस करेंगे तो सिर्फ 4 फीसदी ब्याज लगेगा. जानिए, इसमें देरी करना कितना महंगा पड़ेगा.

  • Share this:
    नई दिल्ली. देश के 7 करोड़ से अधिक किसान क्रेडिट कार्ड (KCC-Kisan Credit Card)  धारकोंं के लिए यह जरूरी खबर है. अगर 47 दिन के अंदर किसानों ने केसीसी पर लिया पैसा वापस नहीं किया तो उन्हें 4 की जगह 7 फीसदी ब्याज देना पड़ेगा. खेती-किसानी के लोन पर सरकार ने 31 अगस्त तक पैसा जमा करने की मोहलत दी है. इसके अंदर पैसा जमा करने पर किसानोंं को 4 परसेंट ब्याज लगेगा जबकि बाद में 7 फीसदी की दर पर वापस होगा.

    लॉकडाउन में दी गई मोहलत 

    आमतौर पर केसीसी पर लिए गए लोन को 31 मार्च तक वापस करना होता है. उसके बाद किसान फिर अगले साल के लिए पैसा ले सकता है. जो किसान समझदार हैं वो समय पर पैसा जमा करके ब्याज में छूट का लाभ उठा लेते हैं. दो-चार दिन बाद फिर से पैसा निकाल लेते हैं. इस तरह बैंक में उनका रिकॉर्ड भी ठीक रहता है और खेती के लिए पैसे की कमी भी नहीं पड़ती.

    ये भी पढ़ें:  पढ़िएबासमती चावल के जीआई टैग विवाद की पूरी कहानी

    मोदी सरकार ने लॉकडाउन को देखते हुए इसे 31 मार्च से बढ़ाकर पहले 31 मई किया था. बाद में इसे और बढ़ाकर 31 अगस्त तक कर दिया गया. इसका मतलब यह है कि किसान केसीसी कार्ड के ब्याज को सिर्फ 4 प्रतिशत प्रति वर्ष के पुराने रेट पर 31 अगस्त तक भुगतान कर सकते हैं. बाद  में यह तीन फीसदी महंगा पड़ेगा.

    big Alert If farmers do not deposit money in 48 days then interest will have to be given 7 percent on kisan credit card-dlop
    पीएम किसान के सभी लाभार्थियों को केसीसी देने की योजना


    केसीसी पर कैसे कम लगता है ब्याज? 

    खेती-किसानी के लिए केसीसी पर लिए गए तीन लाख रुपये तक के लोन की ब्याजदर वैसे तो 9 फीसदी है. लेकिन सरकार इसमें 2 परसेंट की सब्सिडी देती है. इस तरह यह 7 फीसदी पड़ता है. लेकिन समय पर लौटा देने पर 3 फीसदी और छूट मिल जाती है. इस तरह इसकी दर जागरूक किसानों के लिए मात्र 4 फीसदी रह जाती है.

    आमतौर पर बैंक किसानों को सूचित कर 31 मार्च तक कर्ज चुकाने के लिए कहते हैं. अगर उस समय तक कर्ज का बैंक को भुगतान नहीं करते हैं तो उन्हें 7 फीसदी ब्याज देना होता है.

    ये भी पढ़ें: काला नमक: तीन गुना अधिक मिलती है इस धान की कीमत 

    किस आधार पर मिलता है लोन 

     उत्तर प्रदेश के जिले अमरोहा में स्थित प्रथमा बैंक के ब्रांच मैनेजर अंकुर त्यागी ने बताया कि 1 हेक्टकेयर जमीन पर 2 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है. लोन की लिमिट हर बैंक की अलग-अलग होती है. बैंक आपको इसके लिए किसान क्रेडिट कार्ड जारी करेगा. जिसके जरिए आप कभी भी पैसा निकाल सकते है.

    -KCC किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक(RRB) से हासिल किया जा सकता है.  नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया(NPCI) रुपे KCC जारी करता है. - SBI, BOI और IDBI बैंक से भी यह कार्ड लिया जा सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज