Good News: इरडा ने कहा, कोरोना वैक्‍सीन से हुआ रिएक्‍शन तो इलाज का भुगतान करेंगी हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कंपनियां

इरडा ने कोरोना वैक्‍सीनेशन के बाद किसी रिएक्‍शन के इलाज को हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी में कवर होने को लेकर स्‍पष्‍टीकरण दिया है.

इरडा ने कोरोना वैक्‍सीनेशन के बाद किसी रिएक्‍शन के इलाज को हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी में कवर होने को लेकर स्‍पष्‍टीकरण दिया है.

इंश्‍योरेंस रेग्‍युलेटर एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने बताया कि अगर कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लगवाने के बाद किसी तरह का रिएक्‍शन (Adverse Reaction) होने पर अस्‍पताल में भर्ती होना (Hospitalisation) पड़ता है तो इलाज का भुगतान हेल्‍थ इंश्‍योरेंस के तहत कवर (Health Insurance) होगा. इसके लिए पॉलिसीहोल्‍डर को सामान्‍य मामलों की ही तरह क्‍लेम करना होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 7:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. इंश्‍योरेंस रेग्‍युलेटरी एंड डवेलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने बीमाधारकों के हित में बड़ा ऐलान किया है. इरडा ने बताया कि अगर कोरोना वैक्‍सीन (Coronavirus Vaccine) लगवाने के बाद किसी तरह का रिएक्‍शन (Adverse Reaction) होने पर किसी पॉलिसीहोल्‍डर को अस्‍पताल में भर्ती होना (Hospitalisation) पड़ता है तो इलाज का भुगतान इंश्‍योरेंस कंपनियों (Health Insurance) को करना होगा. साथ ही कहा कि इंश्‍योरेंस कंपनियां खरीदी गई पॉलिसी की शर्तों के मुताबिक ट्रीटमेंट का भुगतान करेंगे.

स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों ने कंपनियेां से मांगा था स्‍पष्‍टीकरण

पॉलिसीहोल्‍डर्स के लिए स्‍वतंत्र उपभोक्‍ता जागरूकता प्‍लेटफॉर्म beshak.org के सीईओ महावीर चोपड़ा ने कहा, 'इरडा ने साफ कर दिया है कि वैक्‍सीन लगवाने के बाद होने वाली किसी भी तरह की तकलीफ के कारण डॉक्‍टर के परामर्श पर अस्‍ताल में भर्ती होने की स्थिति में पूरे ट्रीटमेंट का खर्च हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी के तहत कवर होगा.' दरअसल, कुछ महीने पहले कई स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों ने हेल्‍थ इंश्‍योरेंस कंपनियों से स्‍पष्‍टीकरण मांगा था कि उनकी मौजूदा पॉलिसी में कोविड-19 वैक्‍सीन के रिएक्‍शन का इलाज कवर किया जाएगा या नहीं. इरडा ने आज इसी पर स्‍पष्‍टीकरण दिया है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: हर दिन महंगा हो रहा सोना, चांदी में आज आई ताबड़तोड़ तेजी, फटाफट देखें नए भाव
ऐसे करना होगा इलाज के भुगतान का क्‍लेम

इरडा के बयान के मुताबिक, कोविड-19 वैक्‍सीन लगवाने के बाद होने वाले रिएक्‍शन का इलाज बाकी दूसरी बीमारियों के दौरान अस्‍पताल में भर्ती होने की तरह ही हेल्‍थ इंश्‍योरेंस पॉलिसी के तहत कवर होगा. बीमा नियामक ने साफ किया है कि कोरोना वैक्‍सीन रिएक्‍शन के इलाज के भुगतान का क्‍लेम करने के लिए भी सामान्‍य बीमारियों की ही तरह प्रक्रिया पूरी करनी होगी. बता दें कि इस समय देश में दो वैक्‍सीन का इस्‍तेमाल किया जा रहा है. इनमें ऑक्‍सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोविशील्‍ड और भारत बायोटेक लिमिटेड की कोवैक्‍सीन शमिल हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज