क्या आपके फेवरेट Restaurant पर भी लग गया ताला? बुरी हालत में पहुंचे रेस्टोरेंट कारोबारी

कोरोना महामारी की वजह से रेस्टोरेंट में कस्टमर नहीं आ रहे.
कोरोना महामारी की वजह से रेस्टोरेंट में कस्टमर नहीं आ रहे.

नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन इंडिया के अनुसार रेस्टोरेंट और होटल का रेंट, सालाना जमा होने वाली लाइसेंस की फीस और स्टॉफ की सैलरी समेत अन्य खर्चे निकालाना मुश्किल हो गया है. ऐसे में पूरे देश के साथ दिल्ली-एनसीआर के रेस्टोरेंट शटर डाउन की स्थिति में आ गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 1:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना महामारी से पूरे देश के साथ दिल्ली-एनसीआर का रेस्टोरेंट व्यवसाय बुरी तरह से प्रभावित हुआ है. पूरा देश अनलॉक होने के बाद भी बड़े रेस्टोरेंट अभी तक खुले नहीं है और जो रेस्टोरेंट खुल भी गए है. तो उनमें कस्टमर नहीं आ रहे. ऐसे में दिल्ली-एनसीआर के रेस्टोरेंट मालिकों के लिए स्टॉफ की सैलरी और रेस्टोरेंट का रेंट निकालना मुश्किल हो रहा हैं. यदि आप वीकेंड या फेस्टिवल की छुट्टी पर डिनर करने बाहर जा रहे हैं तो एक बार जरूर चेक कर ले कि रेस्टोरेंट खुला है या नहीं.

अनलॉक के बाद बार कंपनी रेस्टोरेंट का हाल
केंद्र सरकार ने 8 जून से देश में रेस्टोरेंट खोलने की मंजूरी दे दी थी फिर भी दिल्ली-एनसीआर में कई बड़े रेस्टोरेंट अभी तक नहीं खुले नहीं हैं. नोएडा के फेमस बार कंपनी रेस्टोरेंट के मालिक से जब इसकी वजह पूछी तो उन्होंने हमारे सहयोगी चैनल सीएनबीसी आवाज को बताया कि, सरकार ने बार और रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति रात 9 बजे तक की दी है. जबकि ज्यादातर कस्टर रात 8 बजे के बाद ही आना शुरू होते है. ऐसे में बार और रेस्टोरेंट के खोलने का कोई औचित्य नहीं बनता. वहीं उन्होंने कहा कि, सरकार से बार और रेस्टोरेंट खोलने की समय सीमा रात 11 बजे तक बढ़ाने की मांग की गई है. देखते हैं सरकार क्या फैसला करती है. इसके बाद ही बार और रेस्टोरेंट को खोलने पर विचार किया जाएगा.







नोएडा के सेक्टर 18 में रेस्टोरेंट का हाल
नोएडा के सेक्टर 18 में कई सारे रेस्टोरेंट है जिनमें से ज्यादातर खुले नहीं हैं. जो खुल भी गए है तो उनमें कस्टमर आ नहीं रहे. सेक्टर 18 में स्थित बेबी ड्रैगन के मालिक ने बताया कि कोविड-19 की वजह से कस्टमर आ नहीं रहे. ऐसे में रेस्टोरेंट का रेंट और स्टॉफ की सैलरी दोबारा निर्धारित करनी पड़ी है. क्योंकि जितनी कमाई नहीं हो रही उससे ज्यादा खर्च हो रहा है.



यह भी पढ़ें: Rocket Learning से गरीब बच्चों तक पहुंची शिक्षा, जानिए इसके बारे में सबकुछ
रेस्टोरेंट और होटल का खर्च निकालना हुआ मुश्किल

नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन इंडिया के अनुसार रेस्टोरेंट और होटल का रेंट, सालाना जमा होने वाली लाइसेंस की फीस और स्टॉफ की सैलरी समेत अन्य खर्चे निकालना मुश्किल हो गया है. ऐसे में पूरे देश के साथ दिल्ली-एनसीआर के रेस्टोरेंट शटर डाउन की स्थिति में आ गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज