Home /News /business /

big blow to pakistan china supports indias stand to keep it out of brics pmgkp

पाकिस्‍तान को तगड़ा झटका, चीन ने BRICS से बाहर रखने के भारत के स्‍टैंड का किया समर्थन

ब्रिक्स सम्मेलन इस बार वर्चुअली बीजिंग में आयोजित हुआ.  (फाइल फोटो)

ब्रिक्स सम्मेलन इस बार वर्चुअली बीजिंग में आयोजित हुआ. (फाइल फोटो)

इस बार ब्रिक्स की ऑलनाइन मेजबानी चीन कर रहा था. ब्रिक्स प्लस देशों के कार्यक्रम में पाकिस्तान की इंट्री रोकने के भारत के स्टैंड को चीन का साथ मिला. पाकिस्तान इस बार ब्रिक्स में घुसने की कोशिश कर रहा था.

नई दिल्ली . पाकिस्‍तान को एक बार फिर इंटरनेशनल बिरादरी से झटका लगा है. इस बार उसके खास दोस्त चीन ने भी उसका साथ नहीं दिया. इस बार ब्रिक्स प्लस देशों के कार्यक्रम में पाकिस्तान की इंट्री रोकने के भारत के स्टैंड को चीन का साथ मिला. इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक सूत्रों ने कहा कि रूस ने भी भारत के इस कदम का साथ दिया है.

इस बार ब्रिक्स की ऑलनाइन मेजबानी चीन कर रहा था. चीन ने कथित तौर पर भारत के लिए सहमती व्यक्त की और ब्रिक्स आउटरिच कार्यक्रम में पाकिस्तान की इंट्री रोक दी. इस बार पाक का रूख चौंकाने वाला रहा और वह ब्रिक्स में घुसने की कोशिश कर रहा था.

यह भी पढ़ें- रूस बन सकता है भारत का सबसे बड़ा क्रूड सप्‍लायर, इराक-सऊदी रह जाएंगे पीछे, क्‍या है सस्‍ता तेल खरीदने की रणनीति?

ब्रिक्स में घुसने की पाकिस्तान की कोशिश
पाकिस्तान ने उभरती अर्थव्यवस्थाओं के लिए ब्रिक्स आउटरीच कार्यक्रम में प्रवेश करने का प्रयास किया जिसमें अल्जीरिया, अर्जेंटीना, कंबोडिया, मिस्र, इथियोपिया, फिजी, इंडोनेशिया, ईरान, कजाकिस्तान, सेनेगल, उज्बेकिस्तान, मलेशिया और थाईलैंड शामिल थे. भारत ने पाकिस्तान के इस प्रयास को रोकने का प्रयास किया और चीन के साथ मिलकर रोक भी दिया.

इस बार चीन मेजबान था
भारत के इस प्रस्ताव को रूस और ब्रिक्स 2022 के अध्यक्ष और पाकिस्तान के ‘हर मौसम में सहयोगी’ चीन का समर्थन प्राप्त था. ऐसा लगता है कि यह निर्णय इस आधार पर किया गया है कि पाकिस्तान एक उभरती हुई अर्थव्यवस्था के रूप में योग्य नहीं है. इस बार चीन वर्चुअल रूप से ब्रिक्स की मेजबानी की थी.

यह भी पढ़ें- कमोडिटी डेरिवेटिव में विदेशी निवेशकों को मौका, सेबी के फैसले का MCX स्टॉक पर बड़ा असर, 65% तेजी की उम्मीद

पाकिस्तान ने बिना नाम लिए भारत को दोषी ठहराया
पाकिस्तानी विदेश कार्यालय ने सोमवार को एक बयान में कहा, “हमने देखा है कि इस साल BRICS की तरफ से  ‘वैश्विक विकास पर उच्च स्तरीय वार्ता’ आयोजित की गई थी. इस आयोजन में कई विकासशील और उभरती अर्थव्यवस्थाओं को आमंत्रित किया गया था … अफसोस, एक सदस्य ( ब्रिक्स के) ने पाकिस्तान की भागीदारी को अवरुद्ध कर दिया. ”  पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने सीधे सीधे भारत का नाम नहीं लिया लेकिन माना जा कहा है उसका साफ साफ इशारा भारत की तरफ था.

Tags: Brics, China, China india, Pakistan, Russia

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर