• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • निवेशकों को क्लीयरेंस के लिए नहीं लगाना होगा चक्कर, सरकार ने लॉन्च किया नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम

निवेशकों को क्लीयरेंस के लिए नहीं लगाना होगा चक्कर, सरकार ने लॉन्च किया नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो)

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल (फाइल फोटो)

केद्रसरकार ने निवेशकों के लिए नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम यानी एनएसडब्ल्यूएस (National Single Window System) को लॉन्च किया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. निवेशकों के लिए केंद्र सरकार ने बड़ी सौगात दी है. केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने बुधवार को निवेशकों के लिए नेशनल सिंगल विंडो सिस्टम यानी एनएसडब्ल्यूएस (National Single Window System) को लॉन्च किया. इस अवसर पर गोयल ने कहा कि ये सिंगल विंडो पोर्टल निवेशकों के लिए अप्रूवल और क्लीयरेंस के लिए वन-स्टॉप-शॉप बन जाएगा.

    गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्णायक और साहसिक नेतृत्व ने भारत को बड़ा सपना देखने के लिए सक्षम और प्रोत्साहित किया है. ये सिस्टम, इकोसिस्टम में पारदर्शिता, जिम्मेदारी और जवाबदेही लाएगी और सभी जानकारी एक ही डैशबोर्ड पर उपलब्ध होगी. माउस के एक क्लिक पर सभी समाधान उपलब्ध होंगे.


    ये पोर्टल आज की स्थिति में 18 सेंट्रल डिपार्टमेंट और 9 राज्यों में अप्रूवल्स को होस्ट करता है. दूसरे 14 सेंट्रल डिपार्टमेंट और पांच राज्यों को दिसंबर 2021 तक पोर्टल से जोड़ा जाएगा.

    ये भी पढ़ें- सरकारी मदद से कम पैसों में शुरू करें यह कारोबार, हर महीने होगा तगड़ा मुनाफा, जानें कैसे करें स्टार्ट?

    NSWS में मिलने वाली सुविधाएं-
    Know Your Approval (KYA): ये निवेशकों से उनकी प्लांड बिजनेस एक्टिविटी के बारे में गतिशील सवालों की एक सीरीज पूछकर ऐसा करता है और दी गई प्रतिक्रियाओं के आधार पर लागू अप्रूवल की पहचान करता है. ये सर्विस 21 जुलाई, 2021 को 32 सेंट्रल डिपार्टमेंट में 500 से ज्यादा अप्रूवल और 14 राज्यों में 2000 से ज्यादा अप्रूवल के साथ शुरू की गई थी.

    कॉमन रजिस्ट्रेशन फॉर्म: मंत्रालयों और राज्यों में सूचना और दस्तावेजों को जमा करने का सिंगल प्वाइंट सुनिश्चित करने के लिए, एक कॉमन रजिस्ट्रेशन फॉर्म के साथ एक यूनिफाइड इंफॉर्मेशन कैप्चरिंग सिस्टम शुरू किया गया है. फॉर्म पर डिटेल्स ऑटोमेटिक भर जाती है, जिससे उसी जानकारी को दोबारा भरने की जरूरत नहीं होती.

    स्टेट रजिस्ट्रेशन फॉर्म: निवेशक को संबंधित स्टेट सिंगल विंडो सिस्टम के लिए सिंगल क्लिक एक्सेस देता है.

    एप्लीकेंट डैशबोर्ड: मंत्रालयों और राज्यों में अप्रूवल और रजिस्ट्रेशन से जुड़े सवालों को लागू करने, ट्रैक करने और उनका जवाब देने के लिए सिंगल ऑनलाइन इंटरफेस देता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज