महाराष्‍ट्र सरकार का बड़ा कदम! राज्‍य में पिछले साल के सरकारी रेट पर खरीद सकते हैं फ्लैट-जमीन, रियल एस्‍टेट को मिलेगा बूस्‍ट

महाराष्‍ट्र सरकार ने रेडी रेकनर रेट में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है.

महाराष्‍ट्र सरकार ने रेडी रेकनर रेट में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है.

कोरोना संकट के कारण इस साल महाराष्‍ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार (Maharashtra Government) ने रेडी रेकनर रेट में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है. इससे ग्राहकों को पुराने सरकारी भाव पर जमीन या फ्लैट खरीदने (Flat/Land Buyers) का मौका मिलेगा. साथ ही रियल एस्‍टेट इंडस्‍ट्री (Real Estate Sector) को भी सहारा मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 9:19 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना संकट के बीच रियल एस्‍टेट सेक्‍टर (Real Estate Sector) को काफी नुकसान उठाना पड़ा है. ऐसे में महाराष्‍ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार (Maharashtra Government) ने इस सेक्‍टर को बूस्‍ट देने के लिए बड़ा फैसला किया है. राज्‍य के राजस्व विभाग ने रियल स्टेट सेक्‍टर में तेजी लाने के लिए वित्‍त वर्ष 2021-22 के लिए रेडी रैकनर रेट (Ready Reckoner Rate) में कोई बदलाव नहीं किया है.

उद्धव सरकार के इस फैसले के बाद ग्राहक (Flat Buyers) इस साल पुराने ही सरकारी रेट पर जमीन या फ्लैट खरीद सकते हैं. ऐसे में अगर कोई व्यक्ति मुंबई (Mumbai) समेत महाराष्ट्र में कहीं पर भी जमीन या फ्लैट खरीदता है तो पिछले साल यानी वित्‍त वर्ष 2020-21 की सरकारी दरों के आधार पर ही उसे टैक्स देने होंगे.

ये भी पढ़ें- आम आदमी को राहत! रसोई गैस हुई सस्ती, कल से लागू होंगी नई कीमतें, जानें LPG सिलेंडर पर कितने रुपये घटे

रेडी रेकनर रेट में बदलाव नहीं होने से घर खरीदारों को मिलेगा फायदा
रेडी रेकनर रेट में बदलाव नहीं करने से घर खरीदारों पर इसका सीधा असर होगा. दरअसल, ग्राहक जब भी घर खरीदते हैं तो उन्‍हें स्‍टाम्‍प ड्यूटी भरनी पड़ती है. ये स्‍टाम्‍प ड्यूटी रेडी रेकनर रेट से तय की जाती है. साफ है कि आप जिस इलाके में घर खरीदेंगे, उसके हिसाब से आपको भुगतान करना होगा. रेडी रेकनर रेट में बदलाव नहीं करने के फैसले से महाराष्‍ट्र के रियल एस्‍टेट सेक्‍टर को काफी फायदा मिलेगा. बता दें कि महाराष्‍ट्र सरकार घर खरीदारों के लिए स्‍टाम्‍प ड्यूटी की दरों में पहले ही कमी कर चुकी है.

ये भी पढ़ें- Gold Price Today: सोने के दाम 13 हजार रुपये से ज्‍यादा गिरकर 44 हजार रुपये के नीचे आए, देखें 10 ग्राम के नए भाव

क्‍या होता है रेडी रेकनर रेट और कैसे कर सकते हैं इसे चेक



राज्य सरकार की ओर से तय किया गया किसी अचल संपत्ति का न्यूनतम मूल्य रेडी रेकनर रेट है. जिसके अनुसार सरकार को स्‍टाम्‍प ड्यूटी और पंजीकरण शुल्‍क देना होता है. सभी राज्य सरकारें सालाना आधार पर रेडी रेकनर रेट तय करती हैं. इसके अलावा सर्किल रेट अलग-अलग राज्यों, शहरों और इलाकों के मुताबिक अलग हो सकते हैं. महाराष्ट्र के राजस्व विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर रेडी रेकनर रेट चेक करने की सुविधा दी गई है. इसे चेक करने के लिए सबसे पहले igrmaharashtra.gov.in वेबसाइट को खोलें. इसके बाद स्क्रीन पर मैप दिखाई देगा, जिसमें महाराष्ट्र के जिस भी जिले का रेडी रेकनर रेट चेक करना हो उसे सेलेक्ट करें. फिर साल चुनने के बाद इलाका चुनें. इसके बाद आप उस इलाके का रेडी रेकनर रेट चेक कर सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज