CAIT ने की Flipkart के लिए खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग, ये है पूरा मामला

व्‍यापारी संगठन कैट ने नगालैंड मामले में फ्लिपकार्ट के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है.

व्‍यापारी संगठन कैट ने नगालैंड मामले में फ्लिपकार्ट के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की मांग की है.

नगालैंड (Nagaland) की राजधानी कोहिमा के एक व्यक्ति ने फेसबुक पर ई-कॉमर्स कंपनियों (e-Commerce Companies) से शॉपिंग सर्विसेज देने की बात कही थी, जिसके जवाब में फ्लिपकार्ट (Flipkart) ने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल के जरिये कहा था कि वे देश के बाहर के स्थानों के लिए सेवाएं नहीं देते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 10, 2020, 10:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. व्यापारी संगठन कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट (Flipkart) के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा (Sedition Case) दर्ज करने की मांग की है. फ्लिपकार्ट पर आरोप है कि उसने भारतीय राज्य नगालैंड (Nagaland) को भारत से बाहर का हिस्सा कहा था. इस गंभीर मामले को लेकर कैट का एक प्रतिनिधिमंडल गृह मंत्री अमित शाह (HM Amit Shah) से मुलाकात करेगा. कैट के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि फ्लिपकार्ट ने ना सिर्फ नगालैंड और पूर्वोत्तर के लोगों का अपमान किया है, बल्कि हर भारतीय को भी आहत किया है.

'देशकी संप्रभुता-अखंडता को चुनौती है फ्लिपकार्ट का बयान'

खंडेलवाल ने कहा कि फ्लिपकार्ट के इस आपराधिक बयान को गंभीरता से लिया जाना जरूरी है. अगर ई-कॉमर्स कंपनी के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई नहीं की गई तो ये भी संभव है कि आने वाले समय में कंपनी लेह (Leh) और लद्दाख (Ladakh) को भी भारत से बाहर का हिस्सा बता दे. खंडेलवाल ने कहा कि फ्लिपकार्ट का यह बयान भारत की संप्रभुता (Sovereignty) को सीधी चुनौती देता है, जिसे बर्दास्त नहीं किया जा सकता.

ये भी पढ़ें- इंडियन स्‍टूडेंट्स के लिए खुशखबरी! चार्टर प्‍लेन से विदेश पहुंचा रही है ये प्राइवेट एयरलाइन
'भारत विरोधी ताकतों जैसा है बयान, नहीं दी जा सकती माफी'

कैट ने आरोप लगाया है कि फ्लिपकार्ट की ओर से दिया गया ये बयान भारत विरोधी ताकतों जैसा है. इतने बड़े गंभीर अपराध के लिए कंपनी को किसी भी हालत में माफी नहीं दी जा सकती है. किसी कर्मचारी के ऐसे बयान को उसके निजी विचार के रूप में भी नहीं लिया जा सकता है. दरअसल, नगालैंड की राजधानी कोहिमा के एक व्यक्ति ने फेसबुक पर ई-कॉमर्स कंपनियों से शॉपिंग सर्विसेज देने की बात कही थी, जिसके जवाब में फ्लिपकार्ट ने अपने सोशल मीडिया हैंडल के जरिये कहा था कि वे देश के बाहर के स्थानों के लिए सेवाएं नहीं देते हैं. हालांकि, बाद में फ्लिपकार्ट ने अपने इस कमेंट को हटा लिया था, लेकिन इस बीच कई लोगों ने इसका स्क्रीन शॉट ले लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज