लाइव टीवी

इंश्योरेंस पॉलिसी के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब आपको मिलेंगे ये फायदे

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 1:58 PM IST
इंश्योरेंस पॉलिसी के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, अब आपको मिलेंगे ये फायदे
थर्ड पार्टी ऐडमिनिस्ट्रेटर खुद चुन सकते हैं

इरडा (IRDAI) ने बीमाधारकों को एक बहुत अच्छी सुविधा देने का ऐलान किया है. बीमाधारक अब इंश्योरेंस पॉलिसी (Insurance Policy) खरीदते समय या उसका रिन्यूअल कराते वक्त अपनी मर्जी का थर्ड पार्टी ऐडमिनिस्ट्रेटर (TPA) चुन सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 1:58 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इरडा (IRDAI) ने बीमाधारकों को एक बहुत अच्छी सुविधा देने का ऐलान किया है. बीमाधारक अब इंश्योरेंस पॉलिसी (Insurance Policy) खरीदते समय या उसका रिन्यूअल कराते वक्त अपनी मर्जी का थर्ड पार्टी ऐडमिनिस्ट्रेटर (TPA) चुन सकते हैं. भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI) ने मंगलवार को एक सर्कुलर जारी किया है. इसके मुताबिक इस उप-नियमन के तहत स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बीमाधारक अपनी पसंद के उस टीपीए को चुन सकता है, जिसके साथ बीमा कंपनी का सर्विस लेवल अग्रीमेंट है.

सर्कुलर के अनुसार, 'स्वास्थ्य बीमा उत्पाद तथा पॉलिसीधारक की भौगोलिक स्थिति के आधार पर बीमा कंपनी टीपीए की संख्या को सीमित कर सकती है और पॉलिसीधारक को इन्हीं में से अपनी पंसद का टीपीए चुनना होगा. बीमा पॉलिसी खरीदते समय या उनका रिन्यूअल कराते वक्त इंश्योरेंस कंपनी ग्राहक को टीपीए की सूची सौंपेगी, जिनमें से वह अपनी पसंद का टीपीए चुन सकता है.'

ये भी पढ़ें: PPF, NSC, सुकन्या समृद्धि समेत इन स्कीम में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर!

इससे पॉलिसीधारक को क्या फायदा मिलेगा

इस रेग्युलेशंस को इंश्योरेंस रेग्युलेटरी ऐंड डिवेलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (थर्ड पार्टी ऐडमिनिस्ट्रेटर्स- हेल्थ सर्विसेज) (अमेंडमेंट) रेग्युलेशंस, 2019 कहा जा सकता है.

इरडा के इस सर्कुलर की ये है जरूरी बातें
इरडा के सर्कुलर के मुताबिक, पॉलिसीधारक बीमा कंपनी द्वारा उपलब्ध कराए गए टीपीए में से अपनी पसंद का टीपीए चुन सकता है. सर्कुलर की प्रमुख बातें:अगर बीमा कंपनी बीच में किसी टीपीए की सेवा खत्म करती है तो वह अपने पास मौजूद सभी टीपीए की सूची बीमाधारक को उपलब्ध कराएगी, जिनमें से बीमाधारक अपनी पसंद का टीपीए चुनेगा. पॉलिसी बेचते वक्त बीमा कंपनी ग्राहक को अपने पास मौजूद तमाम टीपीए की सूची उपलब्ध कराएगी, जिनमें से वह अपनी पसंद का टीपीए चुनेगा. पॉलिसी के रिन्यूअल के वक्त भी बीमाधारक को अपनी पसंद का टीपीए चुनने का अधिकार होगा.

ये भी पढ़ें: नौकरी करने वालों के लिए बड़ी खबर! बदल जाएंगे आपकी सैलरी से जुड़े ये नियम

हालांकि, पॉलिसीधारक को किसी टीपीए की सेवा खत्म कराने या कंपनी को सीधे स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराने के लिए आग्रह करने का अधिकार नहीं होगा. अगर किसी पॉलिसीधारक ने किसी टीपीए का चयन नहीं किया है तो बीमा कंपनी बीमाधारक को अपनी पसंद का टीपीए चुनने की मंजूरी दे सकती है. अगर किसी बीमा कंपनी के साथ केवल एक ही टीपीए जुड़ा हुआ है तो पॉलिसीधारक को कोई विकल्प देने की जरूरत नहीं है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 1:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर