लाइव टीवी

बंद होने वाला है ये नए जमाने का Bank, अगर आपका भी है अकाउंट तो तुरंत निकाल लें पैसे

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 12:24 PM IST
बंद होने वाला है ये नए जमाने का Bank, अगर आपका भी है अकाउंट तो तुरंत निकाल लें पैसे
आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक अपना कारोबार समेटने जा रहा है

इस साल जुलाई की शुरुआत में आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक (Aditya Birla Payment Bank) ने अपना कारोबार समेटने की घोषणा की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 12:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आइडिया पेमेंट बैंक (Idea Payment Bank) के ग्राहकों के लिए बड़ी खबर है. आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक अपना कारोबार समेटने जा रहा है. ET में छपी खबर के मुताबिक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सोमवार को बताया कि कंपनी के अपनी मर्ज़ी से अपना कारोबार समेटने का आवेदन करने के बाद उसके लिक्विडेशन को मंजूरी दे दी गई है. रिजर्व बैंक ने कहा कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने डेलॉयट टूश तोमात्सु इंडिया एलएलपी के वरिष्ठ निदेशक विजयकुमार वी. अय्यर को इसके लिए लिक्विडेटर नियुक्त किया है.

इस साल जुलाई की शुरुआत में आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक ने अपना कारोबार समेटने की घोषणा की थी. कंपनी ने इसके पीछे अहम वजह ‘अप्रत्याशित घटनाक्रम’ के चलते कारोबार का ‘अव्यवहारिक’ होना बताई थी.

अप्रैल 2016 में आइडिया सेल्युलर ने सब्सिडियरी आइडिया मोबाइल कॉमर्स सर्विसेज को पेमेंट बैंक में मर्ज कर आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट बैंक नाम दिया था. अब इस पेमेंट बैंक के बंद होने के बाद केवल एयरटेल, पेटीएम, जियो, इंडिया पोस्ट जैसी प्रमुख कंपनियों की पेमेंट बैंक सेवा उपलब्ध होगी.

ये भी पढ़ें: LIC पॉ​लिसीधारकों के लिए बड़ी खबर, बढ़ गई है इस खास छूट की अंतिम तारीख

भुगतान बैंकिंग बाजार में अब तक चार कंपनियां बोरिया बिस्तर समेट चुकी हैं. टेक महिंद्रा, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी और दिलीप सांघवी, आईडीएफसी बैंक लिमिटेड और टेलीनॉर फाइनेशियल सर्विसेज के गठबंधन में बना भुगतान बैंक बाजार छोड़ने की घोषणा पहले ही कर चुके हैं.

20 जुलाई को जारी किया था ग्राहकों को संदेश
बैंक ने अपने ग्राहकों से 20 जुलाई 2019 को कहा था कि वो सभी लोग जो पेमेंट बैंक के ग्राहक हैं, अपने बैलेंस को जल्द से जल्द ट्रांसफर करा लें. आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट बैंक को 17 महीने पहले अप्रैल 2016 में शुरू किया गया था. यह पेमेंट बैंक आदित्य बिड़ला नुवो और आइडिया सेल्युलर का संयुक्त उपक्रम है. इसमें आदित्य बिड़ला नुवो की 51 फीसदी हिस्सेदारी है. बैंक को अगस्त 2015 में भारतीय रिजर्व बैंक से पेमेंट बैंक के लिए लाइसेंस मिला था.
Loading...

ये भी पढ़ें: अब मिडिल क्लास को भी हेल्थ कवर देने की तैयारी, नीति आयोग ने पेश किया खाका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 10:49 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...