• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • CBDT ने 26 लाख से ज्‍यादा Taxpayers को ₹70 हजार करोड़ से ज्‍यादा का किया टैक्‍स रिफंड, ऐसे चेक करें अपना स्‍टेटस

CBDT ने 26 लाख से ज्‍यादा Taxpayers को ₹70 हजार करोड़ से ज्‍यादा का किया टैक्‍स रिफंड, ऐसे चेक करें अपना स्‍टेटस

आयकर विभाग ने बताया, सीबीडीटी ने लाखों टैक्‍सपेयर्स को रिफंड जारी कर दिया है.

आयकर विभाग ने बताया, सीबीडीटी ने लाखों टैक्‍सपेयर्स को रिफंड जारी कर दिया है.

आयकर विभाग (Income Tax Department) ने बताया कि केंद्रीय प्रत्‍यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने 26 लाख से ज्‍यादा टैक्‍सपेयर्स को रिफंड जारी कर दिया है. इसमें व्‍यक्तिगत आयकर के 24 लाख से ज्‍यादा मामले और कॉरपोरेट टैक्‍स के 1.38 लाख मामलों में रिफंड (Tax Refund) किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. आयकर विभाग ने 6 सितंबर 2021 तक करदाताओं को 70,120 करोड़ रुपये से ज्यादा का इनकम टैक्‍स रिफंड जारी कर दिया है. आयकर विभाग (Income Tax Department) ने रविवार को ट्विटर पर जानकारी दी कि इसमें 24.70 लाख से ज्यादा मामलों में 16,753 करोड़ रुपये का व्यक्तिगत आयकर रिफंड (Personal Income Tax Refund) और 1.38 लाख मामलों में 53,367 करोड़ रुपये का कॉरपोरेट टैक्‍स रिफंड (Corporate Tax Refund) शामिल है.

    किस अवधि के दौरान किया गया टैक्‍स रिफंड
    आयकर विभाग ने कहा कि केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने 1 अप्रैल 2021 से 6 सितंबर 2021 के दौरान 26.09 लाख से ज्यादा करदाताओं को 70,120 करोड़ रुपये से ज्यादा का टैक्‍स रिफंड जारी कर दिया है. बता दें कि असेसमेंट ईयर 2021-22 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल (ITR Filing) करने की तारीख बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दी गई है. सीबीडीटी ने मई में करदाताओं को राहत देते हुए इसकी तारीख बढ़ाकर 30 सितंबर की थी. अगर 6 सिंतबर तक आपको टैक्‍स रिफंड नहीं आया है तो जानते हैं कि किन कारणों से रिफंड में देरी हो रही है और आप अपने टैक्स रिफंड का स्टेटस कैसे चेक कर सकते हैं.

    ये भी पढ़ें- देश से इन 75 उत्‍पादों का बढ़े एक्‍सपोर्ट तो 2027 तक हासिल हो जाएगा 750 अरब डॉलर का निर्यात लक्ष्‍य: PHDCCI

    अगर नहीं मिला रिफंड तो जानें क्‍यों हो रही देरी
    अगर आप बैंक डिटेल्स गलत भरेंगे या कुछ गड़बड़ कर देंगे तो आपको रिफंड मिलने में देरी हो सकती है. इसके अलावा बैंक अकाउंट प्रीवैलिडेट नहीं होने पर भी रिफंड मिलने में देरी हो सकती है. वहीं, अगर आपका आईटीआर वैरिफाइड नहीं होगा तो भी रिफंड मिलने में समय लगेगा. बता दें कि आयकर दाता का इनकम टैक्स किसी वित्त वर्ष में उसके अनुमानित निवेश दस्तावेज के आधार पर पहले ही काट लिया जाता है. जब वित्त वर्ष के अंत तक वह फाइनल डॉक्‍यूमेंट्स जमा करता है, तब उसका ज्यादा काटा गया टैक्स वापस लौटा दिया जाता है. इसके लिए उसे आईटीआर दाखिल कर रिफंड के लिए अप्लाई करना पड़ता है.

    ये भी पढ़ें- किसानों के लिए अच्‍छी खबर! केंद्र ने गेहूं का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 40 रुपये तो सरसों का 400 रुपये बढ़ाया

    कैसे पता करें इनकम टैक्स रिफंड का स्टेटस
    टैक्‍सपेयर्स अपने टैक्‍स रिफंड का स्‍टेटस एनएसडीएल की वेबसाइट पर चेक कर सकते हैं. आइए जानते हैं इसका पूरा प्रॉसेस…
    1. आप www.incometaxindia.gov.in या www.tin-nsdl.com पर ऑनलाइन अपने रिफंड का स्टेटस पता कर सकते हैं.
    2. इनमें से किसी भी वेबसाइट पर लॉनिग करें और Status of Tax Refunds टैब पर क्लिक करें.
    3. अपना पैन नंबर और एसेसमेंट ईयर डालें जिस साल के लिए रिफंड पेंडिंग है.
    4. अगर डिपार्टमेंट ने रिफंड प्रोसेस कर दिया है तो आपको एक मेसेज मिलेगा मोड ऑफ पेमेंट, रेफरेंस नंबर, स्टेटस और रिफंड की तारीख का जिक्र होगा.
    5. अगर रिफंड प्रोसेस नहीं हुआ है या नहीं दिया गया है तो वैसा मेसेज आएगा.

    ये भी पढ़ें- Cabinet Decisions: केंद्र सरकार के इस बड़े फैसले से लाखों लोगों को मिलेगा रोजगार, जानें सबकुछ

    ई-फाइलिंग पोर्टल पर कैसे चेक करें स्‍टेटस
    1. यहां क्लिक करके आयकर विभाग के ई-फाइलिंग पोर्टल में एंटर करें. रिटर्न / फॉर्म देखें.
    2. माय अकाउंट टैब पर जाएं और इनकम टैक्स रिटर्न सेलेक्ट करें. सबमिट पर क्लिक करें.
    3. पावती (acknowledgement) नंबर पर क्लिक करें.
    4. इनकम टैक्स रिफंड की स्थिति के साथ आपकी रिटर्न डिटेल दिखाने वाला पेज दिखाई देगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज