अपना शहर चुनें

States

Indigo के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी! कंपनी ने सैलरी काटने का फैसला लिया वापस, CEO ने बताई ये वजह?

देशभर में 25 मई से हवाई सेवा शुरू हो गई है.
देशभर में 25 मई से हवाई सेवा शुरू हो गई है.

एयरलाइन कंपनी इंडिगो के सीईओ ने कर्मचारियों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है. Indigo के CEO का कहना है कि वे अपने एम्प्लाइज की सैलरी में कोई कटौती नहीं करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2020, 4:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एयरलाइन कंपनी इंडिगो के सीईओ ने कर्मचारियों के हित में एक बड़ा फैसला लिया है. Indigo के CEO का कहना है कि वे अपने एम्प्लाइज की कोई सैलरी कट नहीं करेंगे. रोनोजॉय दत्ता ने अप्रैल में घोषित वेतन कटौती के फैसले को वापस ले लिया. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी ने कंपनियों को यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि कोविड -19 महामारी के दौरान कर्मचारियों पर आर्थिक रूप से बोझ नहीं डाला जाए. इंडिगो ने कर्मचारियों के अप्रैल के वेतन में कटौती की घोषणा की थी.

सरकार की इच्छा का सम्मान करते हुए उठाया कदम
दत्ता ने ई-मेल में कर्मचारियों से कहा है कि हालांकि हमारी कार्यकारी समिति के सदस्य और वरिष्ठ उपाध्यक्षों ने स्वेच्छा से इस महीने वेतन कम लेने का फैसला किया है. अन्य सभी कर्मचारी अप्रैल महीने का पूरा वेतन पाने की उम्मीद कर सकते हैं. पीटीआई भाषा के पास उपलब्ध ई-मेल की प्रति के अनुसार, दत्ता ने कहा है कि बंद के दौरान कर्मचारियों का वेतन नहीं काटे जाने की सरकार की इच्छा का सम्मान करते हुए हमने पूर्व में अप्रैल महीने के वेतन में कटौती की घोषणा को लागू नहीं करने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें: ..तो क्या 4 मई से चलने लगेगी ट्रेन! Rail मंत्रालय बना रहा है स्पेशल प्लान
इससे पहले की गयी थी पे कट की घोषणा


दत्ता ने 19 मार्च को घोषणा की थी कि कोरोना वायरस महामारी और बंद को देखते हुए एयरलाइन अपने वरिष्ठ कर्मचारियों के वेतन में कटौती करने जा रही है और वह स्वयं 25 प्रतिशत कम वेतन लेंगे. उन्होंने कहा था कि वह स्वयं 25 प्रतिशत कम वेतन लेंगे जबकि वरिष्ठ उपाध्यक्ष (एसपीवी) और उसके ऊपर के अधिकारी 20 प्रतिशत, उपाध्यक्ष (वीपी) और चालक दल (कॉकपिट) के सदस्य 15 प्रतिशत कम वेतन लेंगे.

दत्ता ने कर्मचारियों को मेल भेजकर कहा कि हालांकि, आपकी एक्सकॉम (कार्यकारी समिति) के सदस्यों और एसवीपी (वरिष्ठ उपाध्यक्ष) ने इस महीने स्वेच्छा से वेतन में कटौती करने की इच्छा जाहिर की थी. बाकी सभी के लिए उनका वेतन बिना किसी कटौती के मिलेगा. दत्ता ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान वेतन में कमी नहीं करने की सरकार की इच्छा के अनुसार हमने पहले घोषित वेतन कटौती को लागू नहीं करने का फैसला किया है.

ये भी पढ़ें:- करोड़ों पॉलिसीधारकों को राहत! अब आप किस्तों में कर सकते हैं प्रीमियम का भुगतान

एविएशन सेक्टर की हालत खराब
बता दें कोरोना वायरस महामारी पर अंकुश लगाने के लिए 25 मार्च से 3 मई तक भारत में लॉकडाउन है. सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों को इस अवधि के लिए निलंबित कर दिया गया है. इस कारण भारतीय विमानन उद्योग की हालत खराब है. दत्ता ने 19 मार्च को घोषणा की थी कि एयरलाइन वरिष्ठ कर्मचारियों के वेतन में कटौती कर रही है और वह खुद सबसे अधिक अपने वेतन में 25 प्रतिशत की कटौती करेंगे. दत्ता ने कहा था कि मैं व्यक्तिगत रूप से 25 प्रतिशत वेतन में कटौती कर रहा हूं, एसवीपी (वरिष्ठ उपाध्यक्ष) और ऊपर 20 प्रतिशत, वीपीएस (उपाध्यक्ष) और कॉकपिट चालक दल 15 प्रतिशत वेतन में कटौती कर रहे हैं. सहायक उपाध्यक्ष (एवीवी), डी बैंड के कर्मचारी और चालक दल के अन्य सदस्य (केबिन क्रू) 10 प्रतिशत तथा बैंड सी के अंतर्गत आने वाले कर्मचारी 5 प्रतिशत कम वेतन लेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज