होम /न्यूज /व्यवसाय /लॉकडाउन से परेशान कंपनियों को सरकार ने दी राहत! ESIC योगदान भरने की बढ़ाई डेडलाइन

लॉकडाउन से परेशान कंपनियों को सरकार ने दी राहत! ESIC योगदान भरने की बढ़ाई डेडलाइन

बेटे ने चुराए पिता के 12.41 लाख रुपये

बेटे ने चुराए पिता के 12.41 लाख रुपये

लॉकडाउन की वजह से आर्थिक दबाव झेल रही कंपनियों को सरकार राहत देने के लिए ये बड़ा फैसला. नियोजकों को हो रही कठिनाइयों पर ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. कंपनियों के लिए ESI योगदान (ESIC Contribution) की जरूरी सीमा बढ़ाई. लॉकडाउन की वजह से आर्थिक दबाव झेल रही कंपनियों को सरकार राहत देने के लिए ये बड़ा फैसला. नियोजकों को हो रही कठिनाइयों पर विचार करते हुए ईएसआईसी ने फरवरी और मार्च का ईएसआई अंशदान फाइल करने की समय-सीमा को 15 मई, 2020 तक बढ़ा दिया हैं. अब ये अपनी किस्त 15 मई तक जमा करा सकते हैं. पहले जमा करने की अवधि 15 अप्रैल तक थी.

    इस दौरान नियोक्ता पर किसी भी प्रकार का जुर्माना या दंड नहीं लगेगा. बता दें ESIC में कर्मचारी और नियोक्ता, दोनों का योगदान होता है. मौजूदा समय में कर्मचारी की सैलरी से 0.75 फीसदी योगदान ईएसआईसी में होता है और नियोक्ता की ओर से 3.25 फीसदी का योगदान होता है. ऐसे कर्मचारियों, जिनका प्रतिदिन औसत वेतन 137 रुपये है, उन्हें इसमें अपना योगदान देना नहीं होता.

    ये भी पढ़ें:- बदल गए हैं बैंक, रेलवे, PF, रसोई गैस से जुड़े कई नियम, जानिए आपकी जेब पर कितना होगा असर?

    21 हजार रुपये से कम कमाने वाले कर्मचारियों के लिए बीमा योजना
    केन्द्रीय श्रम मंत्रालय ने कम आय वाले कर्मचारियों के स्वास्थ्य लाभ के लिए बीमा योजना उपलब्ध करा रखी है. कर्मचारी राज्य बीमा (ESI) योजना का फायदा निजी कंपनियों, फैक्ट्रियों और कारखानों में काम करने वाले कर्मचारियों को मिलता है. ईएसआई का लाभ उन कर्मचारियों को उपलब्ध है, जिनकी मासिक आय 21 हजार रुपये या इससे कम है, हालांकि दिव्यांगजनों के मामले में आय सीमा 25000 रुपये है.

    देश भर में ईएसआईसी के हैं 151 अस्पताल
    इस योजना के तहत मुफ्त इलाज का लाभ देने के लिए देश भर में ईएसआईसी के 151 अस्पताल हैं. इन अस्पतालों में सामान्य से लेकर लेकर गंभीर बीमारियों के इलाज की सुविधा उपलब्ध है. पहले ईएसआईसी अस्पताल में ईएसआईसी के कवरेज में शामिल लोगों को ही इलाज की सुविधा मिलती थी, लेकिन अब सरकार ने इसे आम लोगों के लिए भी खोल दिया है. ईएसआई स्कीम का संचालन करने की जिम्मेदारी कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) की है. इसके के दायरे में 10 या इससे ज्यादा कर्मचारी वाले संस्थान आते हैं. हालांकि महाराष्ट्र व चंडीगढ़ में 20 या इससे ज्यादा कर्मचारी वाले प्रतिष्ठान इस योजना के दायरे में आते हैं.

    ये भी पढ़ें:- लॉकडाउन में अगर समय से पहले तुड़वाई एफडी तो होगा बड़ा नुकसान, जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

    Tags: ESIC, ESIC Hospital

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें