अब बिना किसी Document के बनवा सकेंगे Aadhaar Card, UIDAI ने शुरू की नई सर्विस

अब बिना किसी Document के बनवा सकेंगे Aadhaar Card, UIDAI ने शुरू की नई सर्विस
अब बिना किसी Document के बनवा सकेंगे Aadhaar Card, UIDAI ने शुरू की नई सर्विस

आधार कार्ड बनवाने के लिए पहचान पत्र (ID) और एड्रेस फ्रूफ (Address Proof) जैसे डॉक्यूटमेंट्स की जरूरत होती है. लेकिन अब किसी डॉक्यूमेंट के भी आधार कार्ड बन सकता है. आइए जानते हैं कैसे बिना डॉक्यूमेंट्स बनवाया जा सकता है आधार कार्ड..

  • Share this:
नई दिल्ली. आधार कार्ड (Aadhaar Card) भारत में रहने वाले हर व्प्रयक्त्येति के लिए एक महत्वपूर्ण डॉक्यूमेंट है. अब आधार कार्ड की अहमियत पहले से ज्यादा बढ़ गई है. कई बार आधार के बिना काम रूक जाता है. आधार कार्ड बनवाने के लिए पहचान पत्र (ID) और एड्रेस फ्रूफ (Address Proof) जैसे डॉक्यूटमेंट्स की जरूरत होती है. लेकिन अब किसी डॉक्यूमेंट के भी आधार कार्ड बन सकता है. आप आधार केंद्र पर मौजूद इंट्रोड्यूसर (Introducers) की मदद ले सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे बिना डॉक्यूमेंट्स बनवाया जा सकता है आधार कार्ड..

इंट्रोड्यूसर की ले सकते हैं मदद- भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने बिना डॉक्यूमेंट्स आधार बनवाने की सुविधा दी है. इंट्रोड्यूसर (Intorducer) वह व्यक्ति होता है जिसे रजिस्ट्रार के द्वारा वहां के ऐसे निवासियों को सत्यापित करने के लिए अधिकृत किया जाता है, जिनके पास PoI या PoA नहीं है. इंट्रोड्यूसर के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है और किसी आवेदक के साथ उसका पंजीकरण सेंटर पर मौजूद रहना आवश्यक है.

ये भी पढ़ें: UIDAI ने किराएदारों के लिए Aadhaar Card में एड्रेस बदलने का प्रोसेस किया आसान



3 महीने होती है वैलिडिटी- इंट्रोड्यूसर के लिए आवेदक की पहचान और अड्रेस कन्फर्म करना जरूरी है. उन्हें एनरोलमेंट फॉर्म पर इसके लिए हस्ताक्षर करना होता है. UIDAI की ओर से जारी सर्कुलर के मुताबिक, इंट्रोड्यूसर के लिए आवदेक के नाम सर्टिफिकेट जारी करना होता है. इसकी वैलिडिटी 3 महीने होती है.
ये भी पढ़ें: Post Office की स्कीम में लगाएं पैसा, रोजाना 50 रुपये के निवेश से बनाएं 4 लाख

HoF के जरिए भी बन सकता है आधार- अगर आपके पास पहचान पत्र और एड्रेस प्रूफ नहीं है तो भी वह आधार कार्ड के लिए अप्लाई कर सकता है, इसके लिए उसका नाम परिवारिक किसी डॉक्यूमेंट्स जैसे राशन कार्ड में होना चाहिए. ऐसे मामलों में यह भी जरूरी है कि पहले परिवार के मुखिया का PoI और PoA डॉक्युमेंट्स के जरिए आधार बना हो. इसके बाद परिवार का मुखिया परिवार के दूसरे सदस्यों का इंट्रोड्यूसर बन सकता है.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading