महाराष्ट्र सरकार ने ट्रांसपोर्टर्स को दी बड़ी राहत, माफ किया 700 करोड़ रुपये का रोड टैक्स

वाणिज्यिक वाहनों के लिए 700 करोड़ रुपये की कर छूट

वाणिज्यिक वाहनों के लिए 700 करोड़ रुपये की कर छूट

Road Tax Waiver in Maharashtra: महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले से राज्य में पंजीकृत 11.41 लाख से अधिक वाहनों को लाभ होने की संभावना है. इनमें टूरिस्ट टैक्सी, प्राइवेट सर्विस और पैसेंजर व्हीकल, स्कूल और लग्जरी बसें, गुड्स व्हीकल और उत्खनन करने वाले अन्य शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 1:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) से तबाह हुई ट्रांसपोर्ट सेक्टर को महाराष्ट्र सरकार ने बड़ी राहत दी है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने महामारी और लॉकडाउन के चलते 5 महीने के दौरान बुरी तरह प्रभावित ट्रांसपोर्ट सेक्टर को वित्तीय राहत देने का फैसाल किया है. राज्य सरकार 1 अप्रैल से महाराष्ट्र में सभी ट्रांसपोर्टरों और वाणिज्यिक वाहन मालिकों द्वारा दिए जाने वाले एनुअल रोड टैक्स को छह महीने के लिए माफ करेगी. महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले से राज्य में पंजीकृत 11.41 लाख से अधिक वाहनों को लाभ होने की संभावना है. इनमें टूरिस्ट टैक्सी, प्राइवेट सर्विस और पैसेंजर व्हीकल, स्कूल और लग्जरी बसें, गुड्स व्हीकल और उत्खनन करने वाले अन्य शामिल हैं.

बुधवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस कदम को मंजूरी मिलने की उम्मीद है. जबकि सरकारी खजाने 700 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा. सरकार इस आधार पर प्रस्ताव को सही ठहरा रही है कि परिवहन उद्योग कोविड-19 महामारी के कारण अभूतपूर्व चुनौतियों का सामना कर रहा है और इसे चलाने के लिए बूस्टर  डोज की जरूरत है.

यह भी पढ़ें- रोजाना 33 रुपये निवेश कर बन सकते हैं करोड़पति, जानें कहां मिलेगा मोटा मुनाफा



टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, यह अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के उपायों के हिस्से के रूप में सरकार द्वारा सौंपी गई दूसरी बड़ी आर्थिक डोज होगी. इसने पहले 12 लाख आदिवासी परिवारों के लिए 4,000 रुपये के विशेष अनुदान की घोषणा की थी.
रोड टैक्स माफ करने वाला महाराष्ट्र पांचवां राज्य
लॉकडाउन के पहले कुछ महीनों के दौरान और अभी भी प्रतिबंधित वाहनों की आवाजाही पर रोक के साथ, राज्य में ट्रांसपोर्टर संघों को रहने के लिए प्रोत्साहन के लिए पैरवी कर रहे हैं. महामारी के बीच रोड टैक्स माफ करने वाला महाराष्ट्र पांचवा राज्य होगा. गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड और हरियाणा पहले ही समान छूट की घोषणा कर चुके हैं.

प्राइवेट कार मालिकों को नहीं मिलेगी छूट
सरकार के इस फैसले से प्राइवेट कार मालिकों को छूट नहीं मिलेगी, जो कार खरीदते समय एक बार का टैक्स चुकाते हैं. जो पात्र हैं, लेकिन छह महीने की अवधि में लाभ नहीं उठाते हैं, उनके पास 2020-21 के लिए 50 प्रतिशत की छूट का विकल्प होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज