होम /न्यूज /व्यवसाय /

केंद्र ने BPO सेक्टर को दी बड़ी राहत! घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय सर्विस प्रोवाइडर्स का अंतर किया खत्म

केंद्र ने BPO सेक्टर को दी बड़ी राहत! घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय सर्विस प्रोवाइडर्स का अंतर किया खत्म

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बीपीओ इंडस्‍ट्री के लिए नई गाइडलाइंस से बिजनेस में बेहतर तालमेल बनेगा.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बीपीओ इंडस्‍ट्री के लिए नई गाइडलाइंस से बिजनेस में बेहतर तालमेल बनेगा.

टेलीकॉम मंत्रालय (Telecom Ministry) ने बीपीओ इंडस्ट्री (BPO Industry) को बड़ी राहत देते हुए अन्य सेवा प्रदाता (OSPs) के लिए बने नियमों में बड़ी छूट दी है.

    नई दिल्‍ली. टेलीकॉम मंत्रालय ने बीपीओ इंडस्ट्री (BPO Industry) को बड़ी राहत देते हुए अन्य सेवा प्रदाता (OSPs) के लिए बने नियमों में बड़ी छूट दी है. साथ ही इसके गाइडलाइंस को पहले से ज्यादा आसान और सुविधाजनक बनाया है. आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने बुधवार को ओएसपी के लिए नई गाइडलाइंस जारी की. केंद्रीय मंत्री प्रसाद ने कहा कि आज जो गाइडलाइन जारी की गई है, वह देश में टेलीकॉम सेक्टर के विकास में बड़ी क्रांति साबित होगा. उन्होंने कहा कि भारत की बीपीओ इंडस्ट्री अभी करीब 2.8 लाख करोड़ रुपये की है. उम्‍मीद है कि ये 2025 तक 3.9 लाख करोड़ रुपये की हो जाएगी.

    'नई गाइडलाइंस से बीपीओ इंडस्‍ट्री में बेहतर होगा तालमेल'
    केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बीपीओ इंडस्‍ट्री में संभावनाओं को देखते हुए बिजनेस में बेहतर तालमेल के लिए घरेलू और अंतरराष्‍ट्रीय अन्‍य सेवा प्रदाताओं के अंतर को हटा दिया गया है. उन्‍होंने कहा कि नई गाइडलाइंस भारत को एक प्रमुख ओएसपी केंद्र बनाने जा रही है. दुनिया में बीपीओ इंडस्ट्री बढ़ रही है और बड़ी कंपनियां आउटसोर्सिंग पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं. भारत मानव संसाधन, प्रतिभा और इंफ्रास्ट्रक्चर का बड़ा पूल है. इसे देखते हुए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय ओएसप के बीच का अंतर खत्‍म कर दिया गया है. इससे एक शेयर्ड टेलीकॉम रिसोर्स वाला बीपीओ सेंटर अब भारत समेत दुनियाभर के ग्राहकों की सेवा करने में सक्षम होगा.



    ये भी पढ़ें- अगर आपके पास है 2 रुपये का ये खास नोट तो घर बैठे कमा सकते हैं लाखों, चेक करें डिटेल्‍स

    अब दुनिया में कहीं भी स्थित हो सकता है ईपीएबीएक्‍स
    रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इसके साथ ही अब ओएसपी का इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट ऑटोमेटिक ब्रांच एक्सचेंज (EPABX) दुनिया में कहीं भी स्थित हो सकता है. ओएसपी के रिमोट एजेंट अब ब्रॉडबैंड, वायरलाइन, वायरलेस समेत किसी भी तकनीक का उपयोग करके ग्राहक इलेक्ट्रॉनिक प्राइवेट ऑटोमेटिक ब्रांच एक्सचेंज (EPABX) से सीधे जुड़ सकते हैं. वहीं, पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी बीपीओ इंडस्ट्री को प्रोत्साहित करने के लिए नवंबर 2020 में उदार किए गए ओएसपी गाइडलाइन को ज्‍यादा सरल बनाया गया है.

    ये भी पढ़ें- Warren Buffet नहीं, जमशेदजी टाटा हैं दुनिया के सबसे बड़े दानवीर, Tata Group के संस्‍थापक ने दान किए 102 अरब डॉलर

    नई गाइडलाइंस में किए गए बदलाव
    >> डोमेस्टिक और इंटरनेशनल OSPs के बीच की अंतर खत्म हुआ
    >> OSPs का EPABX दुनियाभर में कहीं भी स्थापित किया जा सकता है
    >> सभी तरह के OSPs के बीच इंटर-कनेक्टिविटी को मंजूरी दी गई
    >> किसी भी कंपनी के बीच डेटा इंटर-कनेक्टिविटी पर किसी तरह की पाबंदी नहीं
    >> OSPs के रिमोट एजेंट्स सेंट्रलाइज्ड EPABX से सीधे जुड़ सकेंगे
    >> OSPs के लिए रजिस्ट्रेशन की अनिवार्यता को खत्म किया गया और किसी तरह के बैंक गारंटी की जरुरत नहीं
    >> वर्क फ्रॉम होम से साथ वर्क फ्रॉम एनीब्हेयर की मंजूरी
    >> नियमों के उल्लंघन पर लगने वाली पेनाल्टी को खत्म किया गयाundefined

    Tags: Central government, Pm narendra modi, Ravi shankar prasad, Union Minister Ravishankar Prasad

    अगली ख़बर