• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • बिजली बनाने वाली कंपनियों को बड़ी राहत, थर्मल पावर प्लांट की फंडिंग के लिए बैंक तैयार

बिजली बनाने वाली कंपनियों को बड़ी राहत, थर्मल पावर प्लांट की फंडिंग के लिए बैंक तैयार

बैंकों ने स्पष्ट तौर पर कहा कि वो उन पावर प्रोजेक्ट्स को लोन नहीं देंगे जिनके पास पीपीए नहीं है, कोल सप्लाई नहीं है और जिसके प्रोजेक्ट NPA की तरफ जा रहे हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. पावर जेनरेशन कंपनियों (Power Generation Companies) को बड़ी राहत मिली है. सीएनबीसी-आवाज़ को सूत्रों से मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक थर्मल पॉवर प्लांट (Thermal Power Plant) के आधुनिकीकरण के लिए बैंक (Bank) फंडिंग करने को तैयार हो गए हैं.

    दरअसल, सोमवार को ऊर्जा मंत्रालय में एक अहम बैठक हुई थी. इस बैठक में 10 सरकारी बैंकों और पावर जेनरेशन कंपनियों के बीच इस बात पर सहमति बनी कि थर्मल पावर प्लांट के आधुनिकीकरण के लिए अतिरिक्त लोन मुहैया कराया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के मुताबिक, 2017 से पहले लगाए गए थर्मल पावर प्लांट को पॉल्यूशन नॉर्म्स के हिसाब से उनका आधुनिकीकरण होना है और आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करना है.

    50 लाख से 80 लाख रुपये प्रति मेगावाट के हिसाब से मिलेगा लोन
    बैंकों को लग रहा था कि पावर सेक्टर में स्ट्रेस है औऱ पहले के लोने की रिकवरी नहीं हो रही है. इस वजह से बैंक पावर प्लांट को अतिरिक्त लोन मुहैया नहीं करा रहे थे. लेकिन सरकार के हस्तक्षेप के बाद सोमवार को एक अहम बैठक हुई और उस बैठक में बैंकों के साथ इस बात पर सहमति बनी कि वो अतिरिक्त लोन मुहैया कराएंगे. ये रकम करीब 50 लाख से 80 लाख रुपये प्रति मेगावाट के हिसाब से होगी.

    ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सरकारी कर्मचारियों को दिया दिवाली गिफ्ट, लागू हुआ 7वां वेतन आयोग

    NPA हो चुके पावर प्लांट को लोन नहीं
    हालांकि बैंकों ने स्पष्ट तौर पर कहा कि वो उन पावर प्रोजेक्ट्स को लोन नहीं देंगे जिनके पास पीपीए नहीं है, कोल सप्लाई नहीं है और जिसके प्रोजेक्ट NPA की तरफ जा रहे हैं. बैंकों ने कहा कि वो रतन इंडिया और जेपी पावर के थर्मल पावर प्लांट्स को लोन मुहैया नहीं कराएंगे.

    आपको बता दें कि करीब 1 लाख 66 हजार मेगावाट के प्रोजेक्ट हैं जिनको इससे फायदा होगा. इसमें 60 हजार मेगावाट की क्षमता वाले पावर प्लांट्स निजी कंपनियों के पास हैं. इससे अडानी पावर JSPL, GMR, GVK, टाटा पावर जैसी निजी कंपनियों को लोन मिलना आसान हो जाएगा.

    (प्रकाश प्रियदर्शी, संवाददाता- CNBC आवाज़)

    ये भी पढ़ें: 

    अपने खाना बनाने के हुनर से घर बैठे ऐसे कर सकते हैं मोटी कमाई!

    सरकार की गारंटी वाली स्कीम! हर महीने देने होंगे 1000 रुपये, मिलेंगे 3 और फायदे

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन