दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज जांच के घेरे में, अमेरिकी एजेंसी ने कई मामलों में जांच शुरू की

 क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency)लेनदेन पर प्रतिबंध लगाने से इंकार कर दिया है.

क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency)लेनदेन पर प्रतिबंध लगाने से इंकार कर दिया है.

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बिनेंस (Binance) जांच के घेरे में आ गई है. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी आंतरिक राजस्व सेवा और न्याय विभाग (the Internal Revenue Service and the Department of Justice) ने विभिन्न मामलों को लेकर बिनेंस की जांच शुरू कर दी है.

  • Share this:

क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बिनेंस (Binance) जांच के घेरे में आ गई है. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक, अमेरिकी आंतरिक राजस्व सेवा और न्याय विभाग (the Internal Revenue Service and the Department of Justice) ने विभिन्न मामलों को लेकर बिनेंस की जांच शुरू कर दी है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि मनी लॉन्ड्रिंग औऱ टैक्स अपराध की जांच करने वाले विशेषज्ञ अधिकारी बिनेंस के बिजनेस पर विशेष तौर पर नजर रख रहे हैं.

बिनेंस दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज

2017 में स्थापित, Binance दुनिया में सबसे बड़ा क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज है। यह केमैन द्वीप समूह में शामिल है और सिंगापुर में इसका कार्यालय है। ब्लूमबर्ग के अनुसार, यूएस कमोडिटी फ्यूचर्स ट्रेडिंग कमिशन (CFTC) इस बात की जांच कर रहा है कि क्या Binance ने अमेरिकियों को डिजिटल टोकन से जुड़े डेरिवेटिव खरीदने की अनुमति देकर अपने प्लेटफॉर्म पर अवैध व्यापार करने की अनुमति दी है।
यह भी पढ़ें- रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने रद्द कर दिया इस बैंक का लाइसेंस, जानें ग्राहकों की जमा रकम का क्‍या होगा?

यूएस निवासी केवल CFTC के साथ पंजीकृत फर्मों से इस प्रकार के उत्पाद खरीद सकते हैं। बिनेंस ने पहले कहा था कि वह अमेरिकियों को अपनी वेबसाइट पर अवैध लेनदेन करने से रोकता है और चेतावनी देता है कि उल्लंघनकर्ताओं के खाते फ्रीज कर दिए जाएंगे।

756 मिलियन डॉलर के अवैध लेन-देन का शक



क्रिप्टोकरेंसी एनालिटिक्स फर्म Chainalysis ने 2019 में बताया कि, 2.8 बिलियन डॉलर के आपराधिक लेन-देन में से 756 मिलियन डॉलर की रकम बिटक्वाइन क्रिप्टोकरेंसी है, जो बिनेंस के जरिए हुई है.

बिनेंस के एक प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी "विशिष्ट मामलों या पूछताछ पर टिप्पणी नहीं करती है". एक ईमेल जवाब में बिनेंस ने कुछ मीडिया प्लेटफॉर्म से कहा है कि कंपनी अपने "कानूनी दायित्वों को बहुत गंभीरता से लेती है. अमेरिका सहित दुनिया भर में कानून प्रवर्तन एजेंसियों की सहायता करने का हमारा एक मजबूत ट्रैक रिकॉर्ड है."

यह भी पढ़ें- सरकारी कर्मियों के लिए अच्‍छी खबर! LTC स्‍पेशल कैश पैकेज स्‍कीम की डेडलाइन बढ़ी, जानें कब तक जमा कर सकते हैं बिल

विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले कुछ महीनों में बिटक्वाइन सहित कई क्रिप्टोकरेंसी में आई बेतहाशा तेजी पर भी जिम्मेदार लोगों की नजर है. बिटक्वाइन ने पिछले एक साल में रिकॉर्ड बढ़त बनाई है. हालांकि भारत सहित विभिन्न देशों में क्रिप्टो करेंसी बैन है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज