• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • 1 अप्रैल से बोतलबंद पानी बेचना नहीं होगा आसान, देना होगा ये सर्टिफिकेट...!

1 अप्रैल से बोतलबंद पानी बेचना नहीं होगा आसान, देना होगा ये सर्टिफिकेट...!

बोतलबंद पानी बेचने वाली कंपनियों के लिए FSSAI ने जारी किए नए नियम

बोतलबंद पानी बेचने वाली कंपनियों के लिए FSSAI ने जारी किए नए नियम

1 अप्रैल से मार्केट में अब ऐसी पानी की बोतलें नहीं बेची जा सकेंगी जिन पर BIS मार्क नहीं लगा होगा. भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (एफएसएसएआई) ने इसके लिए नए नियम जारी कर दिए हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने पैकेटबंद पानी और मिनरल वॉटर विनिर्माताओं के लिए नए नियम लागू करने के निर्देश दिए हैं. पैकेटबंद पानी और मिनरल वॉटर विनिर्माताओं के लिए लाइसेंस हासिल करने या रजिस्ट्रेशन के लिए भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) का प्रमाणन अनिवार्य कर दिया है. जिसके तहत 1 अप्रैल से मिनरल वाटर (बोतलबंद पानी) बेचने वाली कंपनियों के लिए BIS सर्टिफिकेट अनिवार्य होगा.

    1 अप्रैल, 2021 से लागू होगा नियम- एफएसएसएआई (FSSAI) ने सभी राज्यों और संघ शासित प्रदेशों के खाद्य आयुक्तों को इस बारे में पत्र भेजा है. इसमें उन्हें बोतलबंद पानी बनाने वाली कंपनियों के बीआईएस का प्रमाणपत्र अनिवार्य बनाने के लिए कहा गया है. यह निर्देश एक अप्रैल, 2021 से लागू होगा.

    कारोबार को शुरू करने से पहले लाइसेंस जरूरी- एफएसएसएआई ने कहा कि खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम, 2008 के तहत सभी खाद्य कारोबार परिचालकों (एफबीओ) के लिए किसी खाद्य कारोबार को शुरू करने से पहले लाइसेंस/पंजीकरण हासिल करना अनिवार्य होगा. नियामक ने कहा कि खाद्य सुरक्षा और मानक (प्रतिबंध एवं बिक्री पर अंकुश) नियमन, 2011 के तहत कोई भी व्यक्ति बीआईएस प्रमाणन चिन्ह के बाद ही पैकेटबंद पेयजल या मिनरल वॉटर की बिक्री कर सकता है.

    ये भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने की कीमतों में गिरावट जारी, जानिए आज कितना हो गया सस्ता

    बोतलबंद पानी की गुणवत्ता सुनिश्चित- एफएसएसएआई के इस कदम से बोतलबंद पानी की गुणवत्ता सुनिश्चित होगी. अभी कई कंपनियां ऐसी हैं जो बोतलबंद पानी बेचती हैं. लेकिन उनकी गुणवत्ता की गारंटी नहीं होती है. इससे लोगों के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचने का भी खतरा होता है.

    लाइसेंस रीन्यूअल के लिए भी BIS जरूरी- इतना ही नहीं लाइसेंस की रीन्यूअल के लिए भी BIS लाइसेंस जरूरी होगा, बिना BIS लाइसेंस दिखाए कंपनियों का लाइसेंस भी रीन्यू नहीं किया जाएगा. साथ ही BIS लाइसेंस मिलने के बाद ही फूड बिजनेस ऑपरेटर्स ऑपरेटर्स ऑनलाइन सालाना रिटर्न भर पाएंगे. FSSAI के ये आदेश 1 अप्रैल 2021 से लागू हो जाएंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज