Bitcoin ने तोड़े सारे रिकॉर्ड! 30 हजार डॉलर पर पहुंची 1 बिटकॉइन की कीमत, जानें कैसे खरीद सकते हैं आप

बिटकॉइन (Bitcoin) ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट (Digital wallet) के जरिए होती है. बिटकॉइन की कीमत दुनियाभर में एक समय पर समान रहती है. इसलिए इसकी ट्रेडिंग (Trading) मशहूर हो गई.

बिटकॉइन (Bitcoin) ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट (Digital wallet) के जरिए होती है. बिटकॉइन की कीमत दुनियाभर में एक समय पर समान रहती है. इसलिए इसकी ट्रेडिंग (Trading) मशहूर हो गई.

बिटकॉइन (Bitcoin) ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट (Digital wallet) के जरिए होती है. बिटकॉइन की कीमत दुनियाभर में एक समय पर समान रहती है. इसलिए इसकी ट्रेडिंग (Trading) मशहूर हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 10:03 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन ने नया रिकॉर्ड कायम किया है. इस समय एक बिटकॉइन की कीमत 30 हजार डॉलर से ऊपर हो गई है. आपको बता दें शनिवार को बिटकॉइन में 6 प्रतिशत की बढ़त हुई. जिससे यह 31 हजार डॉलर के आंकड़ें तक पहुंच गया. लेकिन बाजार में गिरावट के चलते बिटकॉइन को नुकसान हुआ और लंदन के समय अनुसार 1.15 मिनट पर फिसल कर 30,800 डॉलर पर पहुंच गया. आपको बता दें बिटकॉइन ने बीते दिसंबर में ही 50 प्रतिशत की ग्रोथ करके 20 हजार डॉलर का मुकाम पार किया था. इससे पहले कोरोना महामारी की वजह से मार्च में बिटकॉइन में सबसे बड़ी 25 प्रतिशत की गिरावट देखी गई थी.

बीते महीने ही किया था बढ़ोतरी का इशारा- ब्लूमबर्ग इंटेलिजेंस कमोडिटी के रणनीतिकार माइक मैकग्लोन से पिछले महीने एक नोट लिखा था. जिसमें उन्होंने कहा था आर्थिक मंदी के दौर में बिटकॉइन निवेश का बेहतर विकल्प है. जिसके बाद से ही लोगों ने बिटकॉइन में निवेश करना और तेज कर दिया. वहीं बिटकॉइन की तेजी पर rampant central-bank money printing ने चुप्पी साधे हुई है. दूसरी ओर Guggenheim Investments के चीफ इन्वेस्टिंग ऑफिसर Scott Minerd का मानना है कि, बिटकॉइन को 4 लाख डॉलर तक पहुंच सकता है.

Youtube Video

यह भी पढ़ें: UK के लिए 6 जनवरी से शुरू होंगी फ्लाइट्स, Britain से आने वाले यात्रियों के लिए गाइडलाइंस जारी
बढ़ सकता है और उछाल- अनुमान के मुताबिक, ये माना जा रहा है कि इंडिया में इस समय लगभग 50 से 60 लाख बिटकॉइन यूजर्स हैं और आने वाले समय में इसकी कीमतों में और उछाल देखने को मिल सकता है. मार्केंट एक्सपर्ट का मानना है कि 2030 तक बिटकॉइन की कीमत 1 करोड़ रुपए तक पहुंच सकती है. CoinDCX के सीईओ सुमित गुप्ता ने बताया कि मांग में तेजी रहने से 2021 में बिटकॉइन की कीमतों में और तेजी देखने को मिल सकती है. मांग में तेजी रहने से 2021 में बिटकॉइन की कीमतें और बढ़ेगी.

क्या होती है क्रिप्टोकरेंसी? बता दें कि क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल करेंसी होती है, जो ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित है. इस करेंसी में कूटलेखन तकनीक का प्रयोग होता है. इस तकनीक के जरिए करेंसी के ट्रांजेक्शन का पूरा लेखा-जोखा होता है, जिससे इसे हैक करना बहुत मुश्किल है. यही कारण है कि क्रिप्टोकरेंसी में धोखाधड़ी की संभावना बहुत कम होती है. क्रिप्टोकरेंसी का परिचालन केंद्रीय बैंक से स्वतंत्र होता है, जो कि इसकी सबसे बड़ी खामी है.

यह भी पढ़ें: रेलवे की ये अचूक रणनीति आई काम, दिसंबर में हुई जबरदस्त कमाई



जानिए कैसे होती है बिटकॉइन में ट्रेडिंग? बिटकॉइन ट्रेडिंग डिजिटल वॉलेट (Digital wallet) के जरिए होती है. बिटकॉइन की कीमत दुनियाभर में एक समय पर समान रहती है. इसलिए इसकी ट्रेडिंग मशहूर हो गई. दुनियाभर की गतिविधियों के हिसाब से बिटकॉइन की कीमत घटती बढ़ती रहती है. इसे कोई देश निर्धारित नहीं करता बल्कि डिजिटली कंट्रोल (Digitally controlled currency) होने वाली करंसी है. बिटकॉइन ट्रेडिंग का कोई निर्धारित समय नहीं होता है. इसकी कीमतों में उतार-चढ़ाव भी बहुत तेजी से होता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज