• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Bitcoin में पैसा लगाने वालों की 70% रकम डूबी, 24 घंटे में हुआ लाखों रुपये का नुकसान

Bitcoin में पैसा लगाने वालों की 70% रकम डूबी, 24 घंटे में हुआ लाखों रुपये का नुकसान

Bitcoin में पैसा लगाने वालों की 70% रकम डूबी, 24 घंटे में हुआ लाखों रुपये का नुकसान

Bitcoin में पैसा लगाने वालों की 70% रकम डूबी, 24 घंटे में हुआ लाखों रुपये का नुकसान

20 नवंबर को एक बिटकॉइन की कीमत 5000 डॉलर (करीब 3.59 लाख रुपये) के नीचे आ गई है. पिछले 24 घंटे में बिटकॉइन की कीमत 1600 डॉलर (1.15 लाख रुपये) घट गई है. आइए जानें क्यों गिर रही है बिटकॉइन की कीमतें...

  • Share this:
    साल की शुरुआत में बिटकॉइन को लेकर खूब चर्चाएं हो रही है. दुनियाभर के लोग इस वर्चुअल करेंसी बिटकॉइन को पैसा बनाने का बेस्ट जरिया मान रहे थे, लेकिन अब सबकुछ बदल गया है. 20 नवंबर को एक बिटकॉइन की कीमत 5000 डॉलर (करीब 3.59 लाख रुपये)  के नीचे आ गई है. पिछले 24 घंटे में बिटकॉइन की कीमत 1600 डॉलर (1.15 लाख रुपये) घट गई है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अक्टूबर 2017 के बाद बिटकॉइन में आई ये सबसे बड़ी गिरावट है. आपको बता दें कि भारत में बैंकों के क्रिप्टो करेंसी के बिजनेस पर आरबीआई ने पूरी तरह से रोक लगा रखी है. साथ ही, हाल में RBI ने कई ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म भी बंद करा दिए है.

    ये भी पढ़ें-भारत में खुला पहला Bitcoin एटीएम, जानें पूरी डीटेल

    क्यों आई गिरावट- एक्सपर्ट्स के मुताबिक,बिटकॉइन एक्सचेंज कराकेन ने एक ब्लॉग पोस्ट में बिटकॉइन कैश के दो नए रूपों को लेकर निवेशकों को आगाह किया है. कराकेन ने क्रिप्टो करेंसी- बिटकॉइन SV को 'बेहद जोखिम भरा निवेश' बताया है.

    एक्सपर्ट्स का कहना है कि लगातार दुनियाभर की सरकारों ने बिटकॉइन को नकार दिया है और इस पर प्रतिबंध लगाया है. इसलिए भी इसकी कीमतें गिर रही है.

    ये भी पढ़ें-पांच सौ करोड़ के फर्जी क्रिप्टो करेंसी मामले के मुख्य आरोपी की कई गाड़ियां जब्त

    2013 के अप्रैल में हुई गिरावट को कौन भूल सकता है जिसमें बिटक्वाइन की क़ीमत एक ही रात में 70 फ़ीसदी गिरकर 233 डॉलर से 67 डॉलर पर आ गई थी.

    क्या है बिटकॉइन - साल 2009 में सतोशी नाकामोतो नामक समूह ने पहली बार बिटकॉइन को दुनिया के सामने पेश किया था. हालांकि अभी दुनियाभर में 700 से ज्यादा वर्चुअल करेंसी इंटरनेट के जरिए चलन में है. आए दिन नई-नई कंपनियां अपनी वर्चुअल मुद्रा लेकर आ रही हैं.

    ये भी पढ़ें-आरबीआई का बड़ा ऐलान, वर्चुअल करेंसी में कारोबार नहीं कर पाएंगे बैंक

    ये डिजिटल यानी इंटरनेट के ज़रिए इस्तेमाल होने वाली मुद्रा है. इसे पारंपरिक मु्द्रा के विकल्प के तौर पर देखा जाता है. जेब में रखे नोट और सिक्कों से जुदा, बिटकॉइन ऑनलाइन मिलता है. बिटकॉइन को कोई सरकार या सरकारी बैंक नहीं छापते. माइक्रोसॉफ़्ट जैसी कुछ बड़ी कंपनियां बिटकॉइन में लेन-देन करती हैं. इन सब प्लेटफ़ॉर्म पर यह एक वर्चुअल टोकन की तरह काम करता है.

    जब तेजी के नए रिकॉर्ड बना रहा था बिटकॉइन- एक साल पहले नवंबर 2017 में बिटकॉइन की क़ीमत क़रीब 20 हज़ार डॉलर (14.40 लाख रुपये)  पर थी. यानी बिटक्वाइन की क़ीमत में करीब 75 फीसदी की गिरावट हुई है.

     

     

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज