Bitcoin में आई इस साल के निचले स्‍तर से 84 फीसदी तेजी, फिर 50 हजार डॉलर के पहुंच गया पार

बिटकॉइन एक तरह की डिजिटल मनी है.

बिटकॉइन एक तरह की डिजिटल मनी है.

दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन (Bitcoin) ने रविवार को 4.2 फीसदी का उछाल दर्ज किया और फिर 50 हजार डॉलर के स्‍तर को पार कर लिया. साल 2020 के दौरान इस क्रिप्‍टोकरेंसी (Cryptocurrency) के दाम में 2019 के मुकाबले 5 गुना बढ़ोतरी दर्ज की गई थी.

  • Share this:
नई दिल्‍ली. दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन (Bitcoin) ने रविवार यानी 7 मार्च 2021 को फिर 50 हजार डॉलर का स्‍तर पार कर लिया. बिटक्‍वाइन रविवार को 50,947.94 डॉलर पर पहुंच गया. इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली अमेरिकी कंपनी टेस्‍ला (Tesla) समेत कई कंपनियों ने बिटक्‍वाइन को डिजिटल करेंसी (Digital Currency) के तौर पर मंजूरी दी तो इसके दाम हर दिन बढ़त का नया रिकॉर्ड बनाने लगे थे. इसके बाद जब इसके दाम बहुत ज्‍यादा बढ़ गए तो टेस्‍ला के संस्‍थापक एलन मस्‍क ने रोज तेजी से बढ़ती कीमतों पर सवाल उठाया. इसके बाद इसके भाव गिरने शुरू हो गए थे. अब आज इसने फिर 50 हजार डॉलर के आंकड़े को पार कर लिया है.

क्रिप्‍टोकरेंसी में रविवार को आया 2 हजार डॉलर से ज्‍यादा का उछाल
किप्‍टोकरेंसी बिटक्‍वाइन 4 जनवरी 2021 के 27,734 डॉलर के निचले स्‍तर से अब तक 83.7 फीसदी उछल चुकी है. पिछले बंद के मुकाबले रविवार को इसने 4.18 फीसदी की छलांग लगाई और इसके दाम में 2,043.31 डॉलर की बढ़त दर्ज की गई. बता दें कि 21 फरवरी 2021 को बिटक्‍वाइन ने अपना सर्वोच्‍च स्‍तर छुआ और इसका भाव 58,354.14 डॉलर पर पहुंच गया था. टेस्ला ने कुछ समय पहले कहा था कि कंपनी अपनी निवेश रणनीति के तौर पर बिटक्‍वाइन में 1.5 अरब डॉलर की खरीदारी कर रही है. साथ ही कहा था कि कंपनी जल्द ही अपने प्रोडक्‍ट्स की खरीदारी पर बिटक्‍वाइन के जरिये भुगतान को जल्‍द मंजूरी देने की योजना पर काम कर रही है. इससे बिटक्‍वाइन में तेज उछाल दर्ज किया गया.

ये भी पढ़ें- Gold Price: सोना और चांदी के दाम 13,000 रुपये से ज्‍यादा गिरे, जानें मौजूदा कीमतों पर कितना मिल सकता है मुनाफा
'अगले 5 साल के भीतर डिजिटल करेंसी बनेंगी ट्रांजैक्‍शन की करेंसी'


टेस्‍ला के बाद वर्जीनिया (Virginia) के ब्लू रिज बैंक ऑफ शर्लोविला (Charlottesville) ने कहा कि वह पहला कमर्शियल बैंक बनेगा, जो अपनी शाखाओं पर बिटक्‍वाइन का एक्सेस उपलब्ध कराएगा. अमेरिका के सबसे पुराने बैंक बीएनवाई मेलन (BNY Mellon) ने कहा था कि जल्‍द ही क्लाइंट्स को दी जाने वाली सेवाओं में डिजिटल करेंसी शामिल की जाएगी. यही नहीं, मास्टरकार्ड ने भी कहा कि वह अपने नेटवर्क पर कुछ क्रिप्‍टोकरेंसी का समर्थन करना शुरू करेगी. यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफॉर्निया के फाइनेंस प्रोफेसर रिचर्ड लॉयंस ने तब कहा था कि बिटक्‍वाइन समेत दूसरी डिजिटल करेंसी अगले पांच साल में ट्रांजैक्शन की करेंसी बन जाएंगी. बता दें कि बिटक्‍वाइन एक वर्चुअल करेंसी हैं. इसका इस्‍तेमाल डॉलर, रुपये या पाउंड की तरह किया जा सकता है. इसे डॉलर समेत दूसरी करेंसीज में भी एक्सचेंज किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज