Home /News /business /

बीपीसीएल को खरीदने की दौड़ में शामिल हो सकती हैं वैश्विक तेल कंपनियां, जानिए डिटेल

बीपीसीएल को खरीदने की दौड़ में शामिल हो सकती हैं वैश्विक तेल कंपनियां, जानिए डिटेल

 BPCL disinvestment

BPCL disinvestment

भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के अधिग्रहण की दौड़ में शामिल इंवेस्टमेंट फंड के साथ वैश्विक तेल कंपनियां हाथ मिला सकती हैं. एक दस्तावेज से यह बात सामने आई है.

    नई दिल्ली .भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) के अधिग्रहण की दौड़ में शामिल इंवेस्टमेंट फंड के साथ वैश्विक तेल कंपनियां हाथ मिला सकती हैं. एक दस्तावेज से यह बात सामने आई है.

    अरबपति कारोबारी अनिल अग्रवाल के वेदांत समूह के साथ ही दो अमेरिकी कोष ( Fund) – अपोलो ग्लोबल और आई स्क्वेयर्ड कैपिटल – ने पिछले साल BPCL में सरकार की पूरी 52.98 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के लिए प्रारंभिक बोली लगाई थी. बीपीसीएल भारत की तीसरी सबसे बड़ी तेल रिफाइनर और दूसरी सबसे बड़ी ईंधन खुदरा बिक्रेता कंपनी है.

    ‘‘बीपीसीएल विनिवेश पर संक्षिप्त टिप्पणी’’ 
    इस सौदे के अगले चरण के तहत ‘‘बीपीसीएल विनिवेश पर संक्षिप्त टिप्पणी’’ में कहा गया है कि लेनदेन सलाहकार और परिसंपत्ति मूल्यांकनकर्ता को एक स्थापना रिपोर्ट देनी होगी. बोलीदाता को कंपनी की जरूरी अनिवार्यताएं पूरी करनी होंगी. साथ ही बिक्री-खरीद समझौते को अंतिम रूप देना होगा.

    यह भी पढ़ें – सभी नई गाड़ियों के लिए bumper-to-bumper insurance को अनिवार्य किया जाए: हाइकोर्ट, जानिए क्या है मामला

    रिपोर्ट में अधिक विवरण दिए बिना कहा गया कि इसके अलावा ‘‘चूंकि संघ का गठन किया जा रहा है’’, इसलिए बोलीदाताओं के लिए ‘‘सुरक्षा मंजूरी’’ की जरूरत हो सकती है. बोली प्रक्रिया में अन्य इच्छुक पक्षों के शामिल होने और बोलीदाताओं में से किसी एक के साथ एक संघ बनाने की इजाजत है, जिसने अभिरुचि पत्र (ईओआई) प्रस्तुत किया हो.

    अंबानी और गौतम अडाणी रेस में नहीं 
    भारतीय अरबपति कारोबारी मुकेश अंबानी और गौतम अडाणी के साथ ही रॉयल डच शेल, बीपी और एक्सॉन जैसी वैश्विक तेल कंपनियों ने 16 नवंबर 2020 की समय सीमा तक बीपीसीएल के अधिग्रहण के लिए ईओआई जमा नहीं किया.

    हालांकि, मध्य पूर्व के कई शीर्ष तेल उत्पादकों और रूस के रोस्नेफ्ट के बारे में कहा गया था कि वे बीपीसीएल में रुचि रखते हैं, लेकिन उन्होंने कोई बोली जमा नहीं की थी.

    यह भी पढ़ें- Vijaya Diagnostic IPO अगले सप्ताह खुलेगा, निवेश करने से पहले जान लीजिए जरूरी बातें

    उद्योग के सूत्रों ने कहा कि यह संभव है कि वैश्विक तेल क्षेत्र की कोई बड़ी कंपनी या मध्य पूर्व के तेल उत्पादक पहले से ही दौड़ में शामिल निवेश फंड के साथ मिलकर काम कर रहे हों.

    एक सूत्र ने कहा कि अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और अदाणी समूह के इस दौड़ में शामिल होने की संभावना नहीं है.

    Tags: BPCL, Business news, Disinvestment, Foreign investment, Investment, Investment tips

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर