Home /News /business /

bpcl q4 results standalone pat declines over 82 percent arnod

भारत पेट्रोलियम के मुनाफे को तगड़ा झटका, फिर भी निवेशकों को मिलेगा 160 फीसदी डिविडेंड

भारत पेट्रोलियम के मुनाफे में भारी गिरावट दर्ज की गई है.

भारत पेट्रोलियम के मुनाफे में भारी गिरावट दर्ज की गई है.

जनवरी-मार्च 2022 में एकल आधार पर कंपनी का शुद्ध मुनाफा 82.15 फीसदी घट कर 2,130.53 करोड़ रुपये रह गया है. इससे पिछले वित्त वर्ष (2020-21) की इसी तिमाही में इस सरकारी कंपनी को 11,940.13 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था.

नई दिल्ली. सरकारी तेल मार्केटिंग कंपनी भारत पेट्रोलियम को तगड़ी चपत लगी है. वित्त वर्ष 2021-22 के अंतिम तिमाही (जनवरी-मार्च) में कंपनी के शुद्ध मुनाफे में 82.15 फीसदी की भारी गिरावट दर्ज की गई है. तीसरी तिमाही (अक्टूबर-दिसंबर 2021) में भी कंपनी के मुनाफे में कमी आई थी. इसके बावजूद कंपनी ने अपने शेयरधारकों को 160 फीसदी डिविडेंड देने की घोषणा की है.

जनवरी-मार्च 2022 में एकल आधार पर कंपनी का शुद्ध मुनाफा घट कर 2,130.53 करोड़ रुपये रह गया है. इससे पिछले वित्त वर्ष (2020-21) की इसी तिमाही में इस सरकारी कंपनी को 11,940.13 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था.

ये भी पढ़ें- Multibagger stocks बाजार में उथल-पुथल, फिर भी इन शेयरों ने दिया 100 फीसदी से अधिक रिटर्न

इतना मिलेगा डिविडेंड
भारत पेट्रोलियम के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने अपने शेयरधारकों को 10 रुपये फेस वैल्यू वाले शेयरों पर 6 रुपये प्रति शेयर अंतिम डिविडेंड देने को मंजूरी दे दी है. ये डिविडेंड 2021-22 के लिए दिया जाएगा. इससे पहले कंपनी ने 10 रुपये प्रति शेयर अंतरिम डिविडेंड देने की घोषणा की थी. यह डिविडेंड अतिरिक्त दिया जाएगा. इसका मतलब यह हुआ कि कंपनी के शेयरधारकों को 2021-22 के लिए प्रति शेयर 16 रुपये डिविडेंड मिलेगा. बोर्ड के इस फैसले पर शेयरधारकों की मंजूरी के बाद ही डिविडेंड का भुगतान किया जाएगा. इसकी तारीख का ऐलान बाद में किया जाएगा.

राजस्व में हुई बढ़ोतरी
वित्त वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में भी कंपनी के मुनाफे में गिरावट आई थी. यह घटकर 2,462.45 करोड़ रुपये रहा था. इस लिहाज से भी देखें तो दिसंबर तिमाही की तुलना में भी मार्च तिमाही में मुनाफा घटा है. मार्च तिमाही में कंपनी का एकल आधार पर राजस्व 25 फीसदी बढ़ा है. यह पिछले वर्ष की समान अवधि के 98,763.80 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,23,550.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. दिसंबर 2021 तिमाही में ऑपरेटिंग रेवेन्यू 1,18,536.76 करोड़ रुपये रहा था.

ये भी पढ़ें- बिजली संकट से मिलेगी राहत, ग्रीन एनर्जी में 22 सौ अरब निवेश का तीन राज्यों ने किया एमओयू

पूरे वित्त वर्ष (2021-22) के दौरान भी कंपनी का मुनाफा करीब आधा घट गया है. यह घटकर 8,788.73 करोड़ रुपये रह गया है. वित्त वर्ष 2020-21 में भारत पेट्रोलियम को 19,041.67 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था. हालांकि, 2021-22 में कंपनी का राजस्व बढ़कर 4,33,406.48 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. इससे पिछले वित्त वर्ष में राजस्व 3,01,873.16 करोड़ रुपये रहा था.

Tags: Bharat petroleum, Bharat Petroleum Corporation, Business news in hindi, Profit and loss accounts

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर