लाइव टीवी

वित्त मंत्रालय में शामिल हो सकते हैं BRICS बैंक चेयरमैन के वी कामथ: रिपोर्ट

News18Hindi
Updated: January 18, 2020, 3:48 PM IST
वित्त मंत्रालय में शामिल हो सकते हैं BRICS बैंक चेयरमैन के वी कामथ: रिपोर्ट
के वी कामथ, चेयरमैन, ब्रिक्स बैंक

वरिष्ठ बैंकर के वी कामथ वित्त मंत्रालय ( Finance Ministry) में राज्य मंत्री बनाए जा सकते हैं और समय के साथ उनकी भूमिका बढ़ाई जा सकती है. इससे पहले कामथ ICICI बैंक और इंफोसिस (Inosys Limited) के चेयरमैन रह चुके हैं और भारतीय तंत्र से अच्छी तरह परिचित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 18, 2020, 3:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिक्स बैंक के मौजूदा चेयरमैन के वी कामथ (BRICS Bank Chairman KV Kamath)  को मोदी सरकार में शामिल किया जा सकता हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वरिष्ठ बैंकर के वी कामथ वित्त मंत्रालय ( Finance Ministry ) में राज्य मंत्री बनाए जा सकते हैं और समय के साथ उनकी भूमिका बढ़ाई जा सकती है. इससे पहले के वी कामथ ICICI बैंक और इंफोसिस के चेयरमैन रह चुके हैं. इनकी देश के बेस्ट बैंकर्स में गिनती होती है. केवी कामथ आईसीआईसीआई बैंक के गैर-कार्यकारी चेयरमैन रहे हैं. इसके साथ ही कामथ इंफोसिस लिमिटेड के भी चेयरमैन पद पर भी रहे हैं.

आपको बता दें कि ब्राजील में हुए छठे BRICS समिट के दौरान BRICS देशों के लिए 100 बिलियन डॉलर का विकास बैंक बनाने पर फैसला हुआ था. पांच देश ब्राजील, रूस, भारत, चीन और साउथ अफ्रीका के BRICS सम्मेलन में हुए फैसले के मुताबिक भारत इस बैंक के लिए पहले 6 साल तक अपना चेयरमैन नियुक्त करेगा. इस बैंक का मुख्यालय चीन की आर्थिक राजधानी शंघाई में स्थित है.

अंग्रेजी के बिजनेस न्यूजपेपर इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के मुताबकि, विशेषज्ञों को मंत्रिमंडल में शामिल करने की प्रक्रिया के तहत मोदी ने हरदीप सिंह पुरी, के जे अल्फोंस और एम जे अकबर को मंत्रिपरिषद में शामिल की था.

मोदी सरकार अगर मंत्रिमंडल में विशेषज्ञों को शामिल करने पर जोर देने का निर्णय लिया तो वह नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अमिताभ कांत को भी मंत्रिपरिषद में शामिल कर सकती है. पूर्व में वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय तथा रेल मंत्रालय संभाल चुके सुरेश प्रभु भी मोदी सरकार में वापसी कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें-ID और पासवर्ड भूलने की टेंशन खत्म! ICICI Bank ने लॉन्च किया नया सिस्टम



वित्त मंत्रालय में के वी कामथ का जाना बहुत बड़ा संकेत माना जाएगा क्योंकि मोदी सरकार के अंतर्गत नॉर्थ ब्लॉक में सिर्फ राजनेता ही पहुंचे हैं. गिरती अर्थव्यवस्था और सुधार की कोई उम्मीद नहीं दिखने के बीच सरकार विशेषज्ञों के सहारे इसे बचाना चाहती है.कौन हैं केवी कामथ (Who is KV Kamath)

केवी कामथ आईसीआईसीआई बैंक के गैर-कार्यकारी चेयरमैन रहे हैं. इसके साथ ही कामथ इंफोसिस लिमिटेड के भी चेयरमैन पद पर भी रहे हैं.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिग्री के बाद कामथ ने आईआईएम अहमदाबाद से एमबीए की डिग्री ली. 67 साल के कामथ ने 1971 में अपने करियर की शुरुआत आईसीआईसीआई फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन से की थी और इसी संस्था ने आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना की और 2002 में बैंक और इस संस्था का विलय कर दिया गया था.



1998 में कामथ आईसीआईसीआई बैंक से इस्तीफा देकर एशियन डेवलपमेंट बैंक में शामिल हो गए थे. लंबे समय तक इस संस्था से जुड़े रहने के बाद एक बार फिर 1996 में कामथ आईसीआईसीआई के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ बन कर वापस आ गए.

साल 2009 में केवी कामथ ने इस संस्था के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ पद से रिटायरमेंट लेते हुए आईसीआईसीआई के गैर-कार्यकारी चेयरमैन की भूमिका में आ गए.

ये भी पढ़ें-PPF में पैसा लगाने वाले इस नियम के जरिए पा सकते हैं हर साल ज्यादा मुनाफा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 3:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर