लाइव टीवी

दो महीने पहले सुस्ती की मार झेल रही थी ब्रिटानिया, अब कमाया ₹402.73 करोड़ का मुनाफा

News18Hindi
Updated: November 13, 2019, 8:10 PM IST
दो महीने पहले सुस्ती की मार झेल रही थी ब्रिटानिया, अब कमाया ₹402.73 करोड़ का मुनाफा
सुस्ती की मार झेलने की बात करने वाले ब्रिटानिया को बड़ा मुनाफा

ब्रिटानिया (Britannia) ने अगस्त में कहा था कि मंदी की वजह से बिस्किट कंपनियां संकट में है और कंपनी अक्टूबर से अपने बिस्किट के दाम बढ़ाने जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2019, 8:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आर्थिक सुस्ती (Economic Slowdown) की मार झेलने की बात करने वाला देश की मशहूर बिस्किट कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज (Britannia Industries) का दूसरी तिमाही में कंसॉलिडेटे नेट प्रॉफिट 32.90 फीसदी बढ़कर 402.73 रुपए रहा. पिछले साल की इसी तिमाही में कंपनी का नेट प्रॉफिट 303.03 करोड़ रुपए था. बता दें कि ब्रिटानिया ने अगस्त में कहा था कि सुस्ती की वजह से बिस्किट कंपनियां संकट में है और कंपनी अक्टूबर से अपने बिस्किट के दाम बढ़ाने जा रही है.

आय भी बढ़ी
इसी अवधि में ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज की आमदनी 2,854.81 करोड़ रुपये से 5.88% की वृद्धि के साथ 3,022.91 करोड़ रुपये और अन्य आमदनी 55% की बढ़ोतरी के साथ 68.2 करोड़ रुपये की रही. साल दर साल आधार पर ही ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज का तिमाही एबिटा 8.3% की बढ़ोतरी के साथ 492.20 करोड़ रुपये और ऑपरेटिंग मार्जिन 15.8% से सुधर कर 16.1% हो गया.

ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज के नतीजों पर कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर वरुण बेरी ने कहा, हमारी तिमाही-दर-तिमाही ग्रोथ 13 फीसदी है जो बाजार के मुकाबले ज्यादा है. सुस्त डिमांड के दौर में भी हमने बेस कारोबार के साथ इनोवेशन और प्रीमियमाइजेशन जारी रहा.

ये भी पढ़ें: गन्ना किसानों को राहत! मोदी सरकार ने चीनी मिलों को दिया बड़ा तोहफा

छंटनी की बात करने वाले पारले का मुनाफा 15.2% बढ़ा
दूसरी ओर छंटनी की बात करने वाली बिस्किट कंपनी पारले का दूसरी तिमाही में मुनाफा 15.2 फीसदी बढ़ा था. कारोबारी मंच टॉफलर के अनुसार, पारले बिस्कुट को वित्त वर्ष 2019 में 410 करोड़ रुपये नेट प्रॉफिट हुआ, जो पिछले वर्ष 355 करोड़ रुपये था. कुल रेवेन्यु 6.4 प्रतिशत बढ़कर 9,030 करोड़ रुपये हो गया है जो उससे पिछले वर्ष लगभग 6 प्रतिशत बढ़कर 8,780 करोड़ रुपये हो गया था.
Loading...

अगस्त 2019 में Parle बुरे दौर से गुजर रही थी. कंपनी के हालात इतने बिगड़ गए थे कि Parle से 10,000 कर्मचारियों की छंटनी की खबर आई थी. कंपनी ने 100 रुपये प्रति किलो या उससे कम कीमत वाले बिस्किट पर GST घटाने की मांग की थी. तब कहा गया था कि अगर सरकार ने मांग नहीं मानी तो फैक्टरियों में काम करने वाले 8,000-10,000 लोगों को निकालना पड़ सकता है, क्योंकि सेल्स घटने से कंपनी को भारी नुकसान हो रहा है. हालांकि, पारले जी बिस्कुट आमतौर पर 5 रुपये या कम के पैक में बिकते हैं.

ये भी पढ़ें: 
प्याज सस्ती करने के लिए फुल एक्शन में सरकार! 31 दिसंबर तक कारोबारियों को दी ये बड़ी छूट
FD को छोड़ अब लोग यहां लगा रहे हैं पैसा, आप भी उठा सकते हैं फायदा!
इनकम टैक्स के इस नियम को बदलने की तैयारी! आम आदमी पर होगा सीधा असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2019, 8:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...