राहत! MTNL और BSNL को लेकर खत्म हुई बैठक, डूबने से बचाने के लिए सरकार उठाएगी ये कदम

वित्तीय संकट से जूझ रही BSNL और MTNL को बचाने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है. इसको लेकर कुछ देर पहले गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक खत्म हो गई है.

News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 7:21 PM IST
राहत! MTNL और BSNL को लेकर खत्म हुई बैठक, डूबने से बचाने के लिए सरकार उठाएगी ये कदम
राहत! MTNL और BSNL को लेकर खत्म हुई बैठक, डूबने से बचाने के लिए सरकार उठाएगी ये कदम
News18Hindi
Updated: July 16, 2019, 7:21 PM IST
वित्तीय संकट से जूझ रही BSNL और MTNL को बचाने के लिए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाने की तैयारी में है. इसको लेकर कुछ देर पहले गृहमंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स की बैठक खत्म हो गई है. सूत्रों की मानें तो इसमें दोनों कंपनियों की VRS स्कीम पर विचार हुआ है. सरकार इस योजना में दोनों कंपनियों के हजारों कर्मचारियों को वीआरएस लेने को लेकर तैयार करने के लिए शानदार एग्जिट पैकेज की पेसकश करेगी, जिसमें अतिरिक्त 5% कंपेनसेशन (एक्सग्रेशिया) भी शामिल होगा. इसके अलावा, सरकार कंपनियों को 4जी स्पेक्ट्रम और पूंजीगत खर्च के लिए भी पैसे आवंटित करेगी.

बैठक में हुआ रिवाइव प्लान पर विचार- BSNL और MTNL के रिवाइवल प्लान में बीएसएनएल और एमटीएनएल के पास मौजूद परिसंपत्तियों की बिक्री पर चर्चा हुई.इसके अलावा कंपनियों के कर्मचारियों की VRS स्कीम पर बातचीत हुई है. सूत्रों का कहना है कि कंपनियों में कैश क्रंच को देखते हुए वित्तीय सहायता और फंड मुहैया कराने के लिए लैंड मोनेटाइजेशन को भी एक विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है. साथ ही दोनों कंपनियों के मर्जर पर भी विचार किया जा सकता है.

ये भी पढ़ें-BSNL-MTNL के रिवाइवल के लिए सरकार ने तैयार किए ये तीन प्लान!

देश की सबसे ज्यादा घाटे वाली सरकारी कंपनी है BSNL - BSNL देश की सबसे ज्यादा घाटे वाली सरकारी कंपनी है, जबकि MTNL इस लिस्ट में तीसरे स्थान पर है.

Image

लिस्ट में दूसरे स्थान पर एयर इंडिया का नाम है. अगर सरकार इन दोनों टेलीकॉम कंपनी को 74,000 करोड़ रुपए का पैकेज देती है तो यह वित्तीय झटका देने के मामले में एयर इंडिया को पार कर सकती है.

 
Loading...

(असीम मनचंदा, संवाददाता, सीएनबीसी आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 16, 2019, 7:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...