सीनियर सिटीजन के लिए बढ़े टैक्स छूट की सीमा, एसोचैम ने सरकार को दिए ये सुझाव

सीनियर सिटीजन के लिए बढ़े टैक्स छूट की सीमा
सीनियर सिटीजन के लिए बढ़े टैक्स छूट की सीमा

उद्योग समूह एसोचैम ने केंद्र सरकार को सीनियर सिटिजन जिनकी उम्र 60 से 80 साल की है. उनके लिए कर छूट की सीमा मौजूदा 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 7.5 लाख रुपये किए जाने के सुझाव दिए.

  • Share this:
सीनियर सिटीजन जिनकी उम्र 60 से 80 साल की है. उनके लिए टैक्स छूट की सीमा मौजूदा 3 लाख रुपये से बढ़ाकर 7.5 लाख रुपये और सुपर सीनियर सिटीजन जिनका उम्र 80 साल से अधिक हो, उनके लिए कर छूट की सीमा 12.5 लाख रुपये किया जाना चाहिए. उद्योग समूह एसोचैम ने केंद्र सरकार को सौंपे अपने प्री बजट मेमोरेंडम में ये सुझाव दिए है.

ब्याज दर में कमी से वित्तीय हालात खास्ता हुई
एसोचैम ने कहा है कि सीनियर सिटीजन के लिए सामाजिक सुरक्षा या पेंशन फंड निवेश की सुविधा दुरूस्त नहीं है. लिहाजा उन्हें फिक्स डिपॉजिट के ब्याज पर निर्भर रहना पड़ता है. वहीं पिछले 1 सालों में ब्याज दरों में लगातार कमी हो रही है. जिससे सीनियर सिटीजन की वित्तीय हालात खास्ता हुई है. आंकड़ों और तथ्यों पर गौर करे तो यह भी देखा गया है कि वास्तविक महंगाई दर हेडलाइन इंफ्लेशन नंबर से कई ज्यादा है. उस पर से मेडिकल खर्च भी बढ़े है. मेडिक्लेम इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम भी ज्यादा हो जाता है खासकर तब जब एक या दो बार क्लेम किया गया हो.

ये भी पढ़ें: बांस लगाकर लाखों कमा सकते हैं किसान, जानें क्या है मोदी सरकार की ये खास स्कीम
ब्याज के भुगतान पर TDS नहीं काटा जाए


एसौचेम ने यह भी सुझाव दिया है कि सीनियर सिटीजन या सुपर सीनियर सिटीजन से ब्याज के भुगतान पर TDS यानी टैक्स डिडक्टेड एट सोर्स नहीं काटना चाहिए. उद्योग समूह ने केंद्र सरकार को दिए सुझाव में यह भी कहा है कि सीनियर सिटीजन के लिए उम्र सीमा 80 से घटाकर 70 साल किया जाना चाहिए. क्योंकि 2011 जनगणना के अनुसार, देश में पुरुषों की लाइफ एक्सपेटेंसी 67.3 साल और महिलाओं की लाइफ एक्सपेटेंसी 69.6 साल हैं.

ये भी पढ़ें: ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, मिलेंगे नौकरी के मौके

(रिपोर्टर- अनिल)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज