Budget Pathshala: जानिए क्या होता है कैपिटल गेन्स टैक्स, समझें आसान भाषा में

Budget 2019: कैपिटल गेन टैक्स. क्या है कैपिटल गेन टैक्स और ये कितना लगता है और किस चीज पर लगता है? इन सब सवालों का जवाब जानें बजट की पाठशाला में.

News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 1:06 PM IST
News18Hindi
Updated: June 12, 2019, 1:06 PM IST
Budget 2019: कैपिटल गेन टैक्स. क्या है कैपिटल गेन टैक्स और ये कितना लगता है और किस चीज पर लगता है? इन सब सवालों का जवाब जानें बजट की पाठशाला में. कैपिटल गेन टैक्स वो टैक्स है जो सरकार आपसे वसूलती है अगर आपको मुनाफा होता है. कैपिटल गेन टैक्स दो तरह का होता है, शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म. इन पर टैक्स की दर भी अलग-अलग होती है.

शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स


अगर आपने कोई शेयर खरीदा या फिर किसी म्युचुअल फंड में पैसा लगाया और उसे एक साल के भीतर ही उसे बेच दिया तो उससे होने वाली कमाई पर लगेगा 15 फीसदी टैक्स.

लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स

अगर आपने कोई भी शेयर या म्यूचुअल फंड एक साल से ज्यादा होल्ड करके रखते हैं तो आप 1 लाख रुपये तक तो मुनाफा कमा सकते हैं. 1 लाख रुपये के ऊपर जो भी आपका मुनाफा होगा उसपर आपको 10 फीसदी कैपिटल गेन टैक्स देना पड़ता है.

ये भी पढ़ें: 1 जुलाई से बैंक फ्री देंगे पैसों के लेनदेन से जुड़ी ये सेवा

लंबी अवधि में किसी भी चल या अचल संपत्ति पर मिलने वाले प्रॉफिट पर लगने वाले टैक्‍स को लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स कहा जाता है. 2018 से यह पहली बार स्‍टॉक मार्केट पर लगा है. इससे पहले यह प्रॉपर्टी समेत कई चीजों पर लगता रहा है. अलग-अलग सेगमेंट के हिसाब से लॉन्‍ग टर्म का कैलकुलेशन अलग-अलग होता है.
Loading...

2018 के बजट में सरकार ने किया बदलाव
1 फरवरी को बजट में लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन (LTCG) टैक्‍स पर सरकार ने कुछ बदलाव किए हैं. स्‍टॉक मार्केट से 1 साल की अवधि से ज्‍यादा वक्‍त में हुई 1 लाख रुपए से ज्‍यादा की कमाई पर सरकार 10 फीसदी के रेट से लॉन्‍ग टर्म कैपिटल गेन टैक्‍स वसूलेगी. इसके बाद अब शेयर और इक्विटी म्यूचुअल फंड, दोनों से कमाई होने पर आपको 10 फीसदी का टैक्‍स देना होगा.

ये भी पढ़ें: SBI खोलता हैं जीरो बैलेंस बैंक खाता,मिलेंगी ये मुफ्त सर्विस

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...