Budget 2019: हलवा सेरेमनी के साथ शुरू हुई बजट डॉक्यूमेंटस की प्रिंटिंग, कमरे में बंद हुए 100 अधिकारी

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के हलवा बनाने के साथ ही बजट के दस्तावेजों की छपाई का काम शुरू हो गया है. इसी हलवा सेरेमनी के बाद प्रिंटिंग प्रेस के तमाम कर्मचारियों समेत वित्त मंत्रालय के 100 अधिकारियों को बजट पेश होने तक नजरबंद कर दिया जाएगा.

News18Hindi
Updated: June 23, 2019, 9:09 AM IST
News18Hindi
Updated: June 23, 2019, 9:09 AM IST
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के हलवा बनाने के साथ ही बजट के दस्तावेजों की छपाई का काम शुरू हो गया है. इसी हलवा सेरेमनी के बाद प्रिंटिंग प्रेस के तमाम कर्मचारियों समेत वित्त मंत्रालय के 100 अधिकारियों को बजट पेश होने तक नजरबंद कर दिया जाएगा. मिनिस्ट्री ऑफ फाइनेंस ने इसकी जानकारी ट्वीट के जरिए दी है. इस बार केंद्र सरकार 5 जुलाई को अपना पूर्ण बजट पेश करेंगी. आपको बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर समेत वित्त मंत्रालय के अधिकारी भी हलवा सेरामनी में मौजूद है.

क्या है हलवा सेरेमनी-बजट पेश होने से पहले एक अहम हलवा सेरेमनी होती है जिसके बाद आधिकारिक तौर पर बजट छपाई के लिए भेजा जाता है. हर साल बजट पेश होने से पहले हलवा सेरेमनी होती है जिसके पीछे कहा जाता है कि हर शुभ काम की शुरुआत मीठे से करनी चाहिए और भारतीय परंपरा में हलवे को काफी शुभ माना जाता है.

ये भी पढ़ें-नौकरी करने वालों को मिल सकती है बड़ी खुशखबरी, इनकम टैक्स छूट सीमा 3 लाख होने की उम्मीद


हलवा सेरेमनी के तहत मौजूदा वित्त मंत्री खुद बजट से जुड़े कर्मचारियों, बजट की छपाई से जुड़े कर्मचारियों और वित्त अधिकारियों को हलवा बांटते हैं. इस हलवे के बनने और बंटने के बाद ही बजट के दस्तावेजों के छापने की प्रक्रिया शुरू होती है.



ये भी पढ़ें-बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से इस बार सरकारी नौकरी करने वाले चाहते हैं ये छूट

गुप्‍त ऑपरेशंस के तौर पर होती हैं बजट की प्रिटिंग- देश के बजट की प्रिंटिंग सबसे गुप्‍त ऑपरेशंस में से ए‍क है. बजट से जुड़ी जानकारियां काफी महत्‍वपूर्ण होती हैं और इनके लीक होने से सरकार पर भी सवाल खड़े हो सकते हैं. इस दौरान कर्मचारी अपने परिवार या दोस्‍तों से न तो मिल सकते न ही बात कर सकते हैं. प्रिंटिंग प्रेस में एक लैंडलाइन फोन होता है जिसमें सिर्फ इनकमिंग की सुविधा होती है. इसके अलावा, गिने-चुने अधिकारियों के अलावा यहां किसी को आने की अनुमति नहीं होती है.

आम बजट 2019 की सही और सटीक खबरों के लिए न्यूज18 हिंदी पर आएं. वीडियो और खबरों  के लिए यहां क्लिक करें
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...