इन दो स्कीम में निवेश पर टैक्स में मिल सकती है छूट, बजट में हो सकता है ऐलान

इन दो स्कीम में निवेश पर टैक्स में मिल सकती है छूट, बजट में हो सकता है ऐलान
50 हजार की कमाई करने का तरीका

सरकार दो एक्सचेंज ट्रेडेड फंड सीपीएसई (CPSE) और भारत-22 ईटीएफ (Bharat-22 ETF) में रिटेल निवेशकों को टैक्स बेनिफिट देने पर विचार कर रही है.

  • Share this:
सरकार दो एक्सचेंज ट्रेडेड फंड सीपीएसई (CPSE) और भारत-22 ईटीएफ (Bharat-22 ETF) में रिटेल निवेशकों को टैक्स बेनिफिट देने पर विचार कर रही है. एक अधिकारी ने बताया कि डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) को पत्र लिखकर यह पूछा है कि क्या इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80C के तहत इक्विटी से जुड़ी बचत योजना (ELSS) का फायदा इन ETF में रिटनेल निवेशकों को दिया जा सकता है.

रिटेल निवेश को मिल सकता टैक्स छूट का विकल्प
DIPAM द्वारा तैयार योजना के अनुसार CPSE और Bharat-22 ETF के रिटेल निवेशकों को ELSS म्यूचुअल फंड के निवेशकों की तरह ही टैक्स छूट का विकल्प दिया जा सकता है. लेकिन उनका निवेश 3 साल के लिए लॉक रहेगा. इन निवेशकों को ELSS कैटगरी को नहीं चुनने का विकल्प भी उपलब्ध होगा और वे अपने यूनिट्स में बिना किसी बाधा के कारोबार कर सकेंगे.

ये भी पढ़ें: बजट में टैक्सपेयर्स को मिल सकती है बड़ी राहत, बढ़ सकती है इनकम टैक्स छूट सीमा
बजट में हो सकती है घोषणा


अधिकारी ने कहा, हमने कर विभाग को पत्र लिखकर पूछा है कि क्या ELSS का फायदा सीपीएसई और भारत-22 ईटीएफ को दिया जा सकता है. यदि डायरेक्ट टैक्स मामलों पर निर्णय लेने वाले शीर्ष निकाय CBDT द्वारा इस पर मंजूरी दी जाती है तो DIPAM इसकी अंतिम योजना तैयार करेगा और इसकी घोषणा 5 जुलाई को पेश होने वाले 2019-20 के बजट में की जा सकती है.

हालांकि, मौजूदा ETF में ELSS का फायदा देने से सरकार की विनिवेश राशि में इजाफा नहीं होगा, लेकिन इससे ETF में निवेश बढ़ेगा और साथ ही परिवारों की बचत में भी इजाफा होगा.

आम बजट 2019 की सही और सटीक खबरों के लिए न्यूज18 हिंदी पर आएं. वीडियो और खबरों  के लिए यहां क्लिक करें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading