अपना शहर चुनें

States

Budget 2021: इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स को फाइनेंस करने के लिए नेशनल बैंक बनाने की तैयारी, बजट में हो सकता है ऐलान

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

Union Budget 2021: बड़े-बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए सरकार इस बार बजट में खास ऐलान कर सकती है. संभव है कि इन प्रोजेक्ट्स को फाइनेंस करने के लिए एक अलग राष्ट्रीय बैंक (National Bank) का ऐलान कर दिया जाए, जिसमें टैक्स फ्री बॉन्ड, इंश्योरेंस और पेंशन फंड के जरिये पूंजी डाली जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 25, 2021, 10:37 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. इस बार के बजट में सरकार बड़े-बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स (Infrastructure Projects) को फाइनेंस करने के लिए अलग से एक बैंक बनाने का ऐलान कर सकती है. इस बैंक का नाम नेशनल बैंक फॉर फाइनेंसिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड डेवलपमेंट हो सकता है. CNBC-आवाज़ को इस बारे में एक्सक्लुसिव जानकारी मिली है. इस जानकारी से पता चलता है कि इन इन्फ्रा प्रोजेक्ट्स को फाइनेंस करने वाले नेशनल बैंक में टैक्स फ्री बॉन्ड, इंश्योरेंस और पेंशन फंड के जरिए पूंजी डाली जाएगी. सूत्रों ने बताया कि बजट में इन्फ्रा प्रोजेक्ट के लिए नेशनल बैंक बनाने का ऐलान किया जा सकता है. बजट में इसके लिए 1 लाख करोड़ रुपये की अधिकृत पूंजी (Authorized Captial) का भी प्रावधान संभव है, जबकि 20 हजार करोड़ रुपये का Initial Paid Up Capital हो सकता है.

सूत्रों के मुताबिक, प्रोविडेंट फंड, पेंशन और इंश्योरेंस फंड का एक तय हिस्सा नेशनल बैंक को देना जरूरी हो सकता है. वहीं, टैक्स फ्री बॉन्ड और विदेशों से मिलने वाले फंड के जरिए पूंजी जुटाने की भी तैयारी है. इस नेशनल बैंक को एक एक्ट के जरिए बनाये जाने का प्रस्ताव है. इस बैंक को ज्यादा अधिकार भी दिए जाएंगे.

आरबीआई से क्रेडिट लाइन की सुविधा संभव
हालांकि, NBFCs के मु​काबले इस बैंक का पर्याप्त पूंजी की आवश्यकता (Capital adequacy requirement) कम हो सकता है. लेकिन सूत्रों का कहना है कि इस बैंक में RBI से डायरेक्ट क्रेडिट लाइन की सुविधा संभव होगी.




यह भी पढ़ें: 2020 में FDI के मामले में फिसड्डी साबित हुए विकसित देश, भारत को हुआ बड़ा फायदा

सूत्रों ने बताया कि नेशनल बैंक lndia lnfrastructure Finance Company Ltd. (llFCL) की जगह लेगा. साथ ही बजट में National Bank for Financing lnfrastructure and Development Bill का भी प्रस्ताव संभव है.

प्रोजेक्ट्स को पूरा करने के लिए मॉनिटरिंग का भी काम करेगा यह बैंक
नेशनल बैंक के जरिए बड़े इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स को लंबी अवधि के लिए फाइनेंस किया जाएगा. इन प्रोजेक्ट्स की रिस्ट्रक्चरिंग और फाइनेंशियल क्लोजर की सुविधा भी यही बैंक मुहैया कराएगा. इसके अलावा, बैंक इन प्रोजेक्ट्स को मोनेटाइज करने और समय पर इन्हें पूरा करने के लिए लगातार मॉनिटरिंग भी करेगा. इस बैंक का प्रमुख उद्देश्य नेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन को फाइनेंस करना है. सरकार ने अगले 5 साल में इसपर 11.1 लाख करोड़ रुपये का निवेश करने की योजना बनाई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज