होम /न्यूज /व्यवसाय /देश के इस वित्त मंत्री ने नहीं पेश किया एक भी बजट, जानिए आखिर क्या थी वजह, और कब आया पहला बजट

देश के इस वित्त मंत्री ने नहीं पेश किया एक भी बजट, जानिए आखिर क्या थी वजह, और कब आया पहला बजट

बजट का इतिहास क्या और कैसा रहा

बजट का इतिहास क्या और कैसा रहा

आगामी बजट सत्र पर सभी की नजरें टिकी हुई है. बजट कैसा होगा ये तो सरकार ही जाने, मगर आपके ये बातें जरूर जाननी चाहिएं कि ब ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बजट सरकार द्वारा सालभर का देश की आय और खर्च का लेखा जोखा है.
इसे पेश करने की शुरुआत ब्रिटेन में हुई थी.
भारत में इसे फाइनेंस मेंबर जेम्स विल्सन ने पेश किया.

Union budget 2022: आम से लेकर खास तक सभी लोगों को बजट 2023 का बेसब्री से इंतजार है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 1 फरवरी 2023 को बजट पेश करेंगी. मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतिम पूर्ण बजट होने के चलते लोगों को इससे कई उम्‍मीदें हैं. ऐसे में केंद्र सरकार कई लोकलुभावन घोषणाएं कर सकती है. आगामी बजट सत्र पर सभी की नजरें टिकी हुई है. बजट कैसा होगा ये तो सरकार ही जाने, मगर आपके ये बातें जरूर जाननी चाहिए कि बजट का इतिहास क्या और कैसा रहा है.

भारत के इतिहास में कुछ नाम ऐसे भी हैं जो वित्‍त मंत्री तो बने, लेकिन बजट पेश नहीं कर सके. इसका एक कारण छोटा कार्यकाल था या फिर उनकी जगह तत्‍कालीन प्रधानमंत्री ने बजट पेश कर दिया. बहुत से लोग इन तथ्यों को नहीं जानते होंगे कि पहला बजट कब और कहां पेश हुआ था. आपको ये भी मालूम नहीं होगा कि कौन सा ऐसा वित्त मंत्री था, जिसने एक भी बजट पेश नहीं किया. बजट दोपहर को 12 बजे ही क्यों पेश किया जाता है? तो चलिए, हम आपको बताते हैं.

ये भी पढ़ें: Halwa Ceremony : बजट दस्तावेज को अंतिम रूप देने से पहले वित्त मंत्री ने बांटा ‘हलवा’, कमरे में बंद रहेंगे अधिकारी

कब पेश हुआ था देश का पहला बजट?
बजट सरकार द्वारा सालभर का देश की आय और खर्च का लेखा जोखा होता है. इसे पेश करने की शुरुआत ब्रिटेन में हुई थी. ब्रिटिश काल में पहली बार भारत में 7 अप्रैल 1860 को बजट पेश किया गया था. भारत में इसे फाइनेंस मेंबर जेम्स विल्सन ने पेश किया. आजादी के बाद ब्रिटेन के ही बजट पेश करने के तरीके को ही आगे बढ़ाया गया.

किस वित्त मंत्री ने नहीं पेश किया एक भी बजट?
केसी नियोगी भारत के अकेले ऐसे वित्त मंत्री रहे, जिन्होंने एक भी बजट पेश नहीं किया. वे 35 दिनों तक 1948 में वित्त मंत्री रहे और उनके बाद जॉन मथाई भारत के तीसरे वित्त मंत्री बने.

11 बजे ही क्यों पेश होता है बजट?
अब बजट दोपहर में 11 बजे पेश किया जाता है. इससे पहले ब्रिटिश काल में बजट शाम 5 बजे पेश किया जाता था. ऐसा इसलिए किया जाता था, ताकि रात भर बजट पर काम करने वाले अधिकारियों को थोड़ा आराम मिल सके.

ये भी पढ़ें: लोगों ने IPO को लिया था ‘हल्के’ में, अब शेयर बरसा रहे पैसा, इस तरह मालामाल हुए निवेशक

किस वित्त मंत्री ने ज्यादा बार पेश किया बजट
सबसे अधिक बार भारत का बजट मोरारजी देसाई ने पेश किया है. मोरारजी देसाई ने वित्त मंत्री के रूप में दस बार देश का बजट पेश किया है. इसमें आठ बजट और दो अंतरिम बजट शामिल हैं.

Tags: Budget, Budget session, Business news in hindi, FM Nirmala Sitharaman

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें